• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Korba
  • Korba News chhattisgarh news filling up the gate to the city buses keeps the risk of an accident the officers are ignoring

सिटी बसों में गेट तक सवारियां भरने से रहता है हादसे का खतरा, अफसर कर रहे हैं अनदेखी

Korba News - सड़क हादसों पर नियंत्रण के लिए एक ओर पुलिस व परिवहन विभाग की टीम सड़क पर कार्रवाई कर रही है। वहीं दूसरी ओर आमजन की...

Feb 15, 2020, 07:20 AM IST
Korba News - chhattisgarh news filling up the gate to the city buses keeps the risk of an accident the officers are ignoring

सड़क हादसों पर नियंत्रण के लिए एक ओर पुलिस व परिवहन विभाग की टीम सड़क पर कार्रवाई कर रही है। वहीं दूसरी ओर आमजन की सुविधा के लिए शासन द्वारा संचालित सिटी बस में यातायात नियमों की अनदेखी हो रही है। उपनगरीय क्षेत्र बालको व दर्री से रोजाना सुबह सिटी बसों में क्षमता से इतने अधिक यात्री सवार होते हैं कि दरवाजे तक लटकते नजर आते हैं। दरअसल उपनगरीय क्षेत्र से सुबह बड़ी संख्या में कामकाजी व मजदूर शहर में काम करने के लिए आते हैं। जो सुबह ज्यादा साधन नहीं होने के साथ ही सुलभ व सस्ता किराया होने से सिटी बस में सफर को प्राथमिकता देते हैं। कमाई के चक्कर में सिटी बस के चालक-परिचालक भी क्षमता से अधिक यात्री सवार कर लेते हैं। बावजूद इसके सिटी बसों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है।

रात में स्टेशन से चलने वाली बसों में ज्यादा यात्री: एक ओर जहां सुबह के समय सिटी बस पूरी तरह यात्रियों से खचाखच भरकर चलती हैं। तो दूसरी ओर रात में लोकल ट्रेन से कनेक्टिविटी वाली सिटी बसें भी स्टेशन से लौटते समय यात्रियों से भरकर चलती हैं। क्योंकि रात में ऑटो का सफर महंगा हो जाता है। ऐसे में यात्री सिटी बस में यात्रा बेहतर मानते हैं। इसलिए बालको, दर्री व रजगामार के लिए सुबह व रात में चलने वाली सिटी बसों में ज्यादा यात्री होते हैं। हालांकि दिन में कई बसों में गिनती के यात्री भी होते हैं।

सिटी बसों के खिलाफ की जाती है कार्रवाई: परिवहन विभाग के प्रवर्तन अधिकारी एसके झा ने बताया कि समय-समय पर यात्री व स्कूल बसों की जांच की जाती है। पूर्व में सिटी बसों समेत सामान्य बसों की चेकिंग करते हुए कार्रवाई की गई थी। आगे भी कार्रवाई की जाएगी।

सिटी बस संचालन में मनमानी, 23 से हड़ताल करेगा यातायात महासंघ

शहर में सिटी बस संचालन में मनमानी के खिलाफ करीब 2 साल पहले घंटाघर में जिला ऑटो संघ ने अनिश्चितकालीन हड़ताल की थी। जिसमें 17 मांगों में 9 मांग को जायज बताते हुए प्रशासन ने नियम से सिटी बस संचालन का आश्वासन दिया था। महासंघ के जिला अध्यक्ष बृजेश कुमार त्रिपाठी का कहना है कि सिटी बस संचालन में सुधार नहीं आया। एक बार फिर ऑटो संघ व बस संघ 23 फरवरी से हड़ताल में जाएगा।

सिटी बस में किराया है आधा, इसलिए ज्यादातर सवारियां इनमें ही सफर करतीं

बालको नगर के बेलगरी बस्ती निवासी मजदूर रमेश कुमार ने बताया कि ऑटो व दूसरी बसों में जितने किराए में वह एक ओर आते हैं उतने में सिटी बस में आना-जाना हो जाता है। परसाभाठा के लखन दास के मुताबिक सिटी बस में किराया आधा लगता है। इसलिए उसके साथ परसाभाठा व बेलगरी बस्ती से बड़ी संख्या में मजदूर सिटी बस में ही आवाजाही करते हैं।

गुरुवार की सुबह दर्री से कोरबा आ रही सिटी बस में इस तरह सवार थे यात्री।

X
Korba News - chhattisgarh news filling up the gate to the city buses keeps the risk of an accident the officers are ignoring
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना