मरीज हलाकान: इलाज नहीं होने से सरकारी अस्पतालों के ज्यादातर बेड हो गए हैं खाली

Korba News - प्रदेश में सरकारी अस्पतालों में शाम की ओपीडी सेवा शुरू होने के विरोध में सीडा के आह्वन पर गुरुवार से हड़ताल पर गए...

Jan 19, 2020, 07:21 AM IST
Korba News - chhattisgarh news patient halakan most beds of government hospitals are empty due to lack of treatment
प्रदेश में सरकारी अस्पतालों में शाम की ओपीडी सेवा शुरू होने के विरोध में सीडा के आह्वन पर गुरुवार से हड़ताल पर गए डॉक्टर तीसरे दिन शनिवार को भी काम पर नहीं लौटे। इस कारण जिला अस्पताल समेत सभी सीएचसी तो खुले हैं लेकिन ज्यादातर मरीजों का इलाज नहीं हो रहा है। ऐसे में भर्ती मरीजों के निजी अस्पताल जाने और नए भर्ती नहीं करने के कारण जिला समेत सभी सरकारी अस्पतालों के वार्डों में ज्यादातर बिस्तर खाली हो गए हैं। सरकारी में बेहतर इलाज नहीं मिलने के कारण मरीज निजी में जाने को मजबूर हैं। शनिवार को कुछ जिलों में डॉक्टरों के मरीजों के हित में हड़ताल समाप्त करने से उम्मीद थी। ऐसे में उम्मीद थी कि कोरबा में भी डॉक्टर काम पर लौटेंगे लेकिन देर शाम तक नहीं लौटे। जिला अस्पताल के डॉ. रविकांत राठौर के मुताबिक अब तक सार्थक चर्चा शासन की ओर से नहीं हुई है। इसलिए आगे हड़ताल जारी रखना मजबूरी है। सीएमएचओ डॉ. बीबी बोडे के अनुसार सरकारी अस्पतालों में पहुंचने वाले व वार्डों में दाखिल मरीजों की इलाज के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करते हुए संविदा डॉक्टरों, आरएमए व आयुर्वेदिक चिकित्सकों की मदद ली जा रही है। हड़ताल का कोई खास असर नहीं है।

हड़ताल का तीसरा दिन
जिला अस्पताल बिस्तर मरीजों से भरे रहते थे, अब अधिकांश खाली हैं।

कटघोरा सीएचसी
कटघोरा सीएचसी में सहायक चिकित्सकों व आयुर्वेदिक चिकित्सकों के साथ ही संविदा चिकित्सकों की इमरजेंसी में ड्यूटी ली जा रही है। लेकिन हड़ताल में गए 10 डॉक्टरों में दो महिला डॉक्टर के शामिल होने से प्रसव व महिलाओं से जुड़ी बीमारी का इलाज बंद हो गया है। ऐसे केस आने पर उन्हें वापस भेजना पड़ रहा है। कटघोरा बीएमओ डॉ. रुद्रपाल सिंह कंवर के मुताबिक डॉक्टरों के हड़ताल में जाने का असर पड़ रहा है, लेकिन सीएचसी में पहुंचने वाले ज्यादातर मरीजों को चिकित्सा सुविधा दी जा रही है।

पोस्टमार्टम-एमएलसी, में पुलिस का छूट रहा पसीना


डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से पुलिस भी परेशान हो रही है। मौत के मामले में शव का पोस्टमार्टम करने व मारपीट समेत दुष्कर्म के मामले में एमएलसी (डॉक्टरी जांच) के लिए डॉक्टर नहीं मिल रहे हैं। ऐसे में या तो कई घंटे इंतजार करना पड़ रहा है या फिर दूसरे सरकारी अस्पतालों की दौड़ लगानी पड़ रही है। शनिवार को शव का पीएम कराने सुबह से शाम तक चक्कर काटना पड़ा। शाम को पीएचसी कोरबा के मरच्यूरी में डॉ. एमएल भारिया ने पीएम किया।

दीपका सीएचसी मंे इलाज का दावा, हकीकत- मरीज को लौटाया

दादी का इलाज नहीं होने पर जिला अस्पताल से निराश लौट रहा श्रवण।

पोड़ी-उपरोड़ा सीएचसी
पोड़ी-उपरोड़ा सीएचसी में 7 डॉक्टरों में 4 हड़ताल पर हैं। ऐसे में बीएमओ समेत अन्य 2 डॉक्टर चिकित्सा व्यवस्था संभालते हुए ओपीडी और आईपीडी सेवा चला रहे हैं। दावा गंभीर केस को ही जिला अस्पताल रेफर करने का है, लेकिन शनिवार सुबह वहां 3-4 दिनों से वार्ड में इलाज के लिए भर्ती जटगा के दमऊमुड़ा निवासी पीली बाई को डॉक्टर की कमी बताकर जबरन छुट्टी दे दी गई। पीली के मुताबिक उसे ठीक नहीं लग रहा है। उसने बताया लेकिन किसी ने नहीं सुना। बीएमओ डॉ. दीपक सिंह के मुताबिक व्यवस्था ठीक है।


पाली सीएचसी
पाली सीएचसी में पदस्थ 2 डॉक्टर हड़ताल पर चले गए है। ऐसे में वहां ओपीडी समेत इमरजेंसी सेवा बाधित न हो इसके लिए डीएमएफ के संविदा डॉक्टर, आरएमए और पीएचसी के डॉक्टरों की अतिरिक्त ड्यूटी लगाकर व्यवस्था संभाल रहे हैं। ओपीडी में पहले की तरह मरीज पहुंच रहे हैं, जिनका इलाज हो रहा है। आईपीडी में भी सेवा दी जा रही है। वार्डों में मरीज भर्ती है जिनका डॉक्टर इलाज कर रहे हैं। बीएमओ डॉ. सीएल रात्रे के मुताबिक हड़ताल का ज्यादा असर सीएचसी में नहीं है। पूर्व की तरह अब भी मरीजों के पहुंचने पर इलाज की सुविधा मिल रही है।

दीपका सीएचसी में पदस्थ दोनों एमबीबीएस डॉक्टर हड़ताल में शामिल हैं। इसलिए यहां इमरजेंसी सेवा के लिए दो डॉक्टरों की 12-12 घंटे ड्यूटी लगाई गई है। जिसमें एक आयुष डॉक्टर है तो दूसरे आरएमए। शनिवार की दोपहर सीएचसी में सेवा दे रही आयुष विंग की डॉ. राधा कोंडे ने वहां ओपीडी समेत इमरजेंसी सेवा चलने और स्वयं के द्वारा मरीजों के इलाज का दावा किया गया। जबकि बीमार दादी का इलाज कराने पहुंचे दीपका निवासी श्रवण को डॉक्टर नहीं है कहकर लौटा दिया गया।

Korba News - chhattisgarh news patient halakan most beds of government hospitals are empty due to lack of treatment
X
Korba News - chhattisgarh news patient halakan most beds of government hospitals are empty due to lack of treatment
Korba News - chhattisgarh news patient halakan most beds of government hospitals are empty due to lack of treatment

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना