मरीन ड्राइव पर गहरे गड्‌ढे, बारिश में होगी खतरनाक, नहीं करा रहे मरम्मत

Raigarh News - शहर की बढ़ती आबादी के बीच बढ़ रहे यातायात के दबाव को कम करने के साथ-साथ शहर की सौंदर्यीकरण बनाने के लिए केलो नदी के...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:20 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news deep pits on the marine drive will be dangerous in the rain not repairing
शहर की बढ़ती आबादी के बीच बढ़ रहे यातायात के दबाव को कम करने के साथ-साथ शहर की सौंदर्यीकरण बनाने के लिए केलो नदी के किनारे सीएसआर मद से मरीन ड्राइव का निर्माण कराया गया था, लेकिन प्रशासन की देखरेख के अभाव के साथ-साथ पुलिस की लापरवाही से यह मरीन ड्राइव अपना अस्तित्व खो चुकी है।

शहर के भीतर से बेखौफ होकर मरीन ड्राइव के रास्ते उद्योगों तक जाने वाले भारी भरकम वाहनों की आवाजाही होने से मरीन ड्राइव पूरी तरह खराब हो चुका है। जरा सा बारिश होने पर मरीन ड्राइव तालाब सा हो जाता है। बावजूद इसके जिला प्रशासन और नगर निगम के पास इसकी मरम्मत के लिए कोई प्लान नहीं है। जर्जर मरीन ड्राइव बड़ी दुर्घटना को आमंत्रित कर रही है। इसके बाद भी जिम्मेदार अफसर व जनप्रतिनिधियों को इसकी परवाह नहीं है। मरीन ड्राइव की जर्जर सड़क की वजह से आए दिन इसमें आवाजाही करने वाले लोग छोटी बड़ी दुर्घटनाओं के शिकार होते है। वर्तमान में कलेक्टर यशवंत कुमार अवकाश पर है, प्रभारी कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ चंदन त्रिपाठी ने बताया कि उन्हें मरीन ड्राइव की मरम्मत की कोई जानकारी नहीं है। निगम कमिश्नर रमेश जायसवाल के पास भी कोई योजना नहीं है।

बड़े-बड़े बन गए हैं गड्‌ढ़े-

मरीन ड्राइव पर डेढ़ फीट तक के गड्‌ढे हैं। हर तीन से पांच मीटर की दूरी पर एक गड्ढे है। मरीन ड्राइव अस्त-व्यस्त है जिसके कारण इस मार्ग पर जहां बारिश में पानी भर जाता है तो बाकी के दिनों में धूल और प्रदूषण के साथ-साथ लोग परेशान है।

पूर्व में एक बार मरम्मत के नाम पर खानापूर्ति की गई थी, लेकिन दोबारा इसकी जीर्णोद्धार के लिए कोई ध्यान ही नहीं दे रहा है।

मरीन ड्राइव की जर्जर सड़क।

आधे शहर को जोड़ने का काम करती है मरीन ड्राइव

लापरवाही, अनदेखी और देखरेख के अभाव में यह उपयोगी मरीन ड्राइव भी पूरी तरह से मिट चुकी है, जबकि यह मार्ग बोइरदादर, चक्रधर नगर, कलेक्टोरेट सहित आधे शहर को सर्किट हाउस उर्दना रोड से जोड़ती है, सिर्फ यही नहीं कभी-कभी तो यह रास्ता वैकल्पिक वीआईपी मार्ग के रूप में भी उपयोग होता आया है मगर रात के समय तथा तड़के सुबह चोरी छिपे भारी वाहनों की आवाजाही के कारण यह रास्ता अब पूरी तरह जर्जर हो चुका है।

X
Raigarh News - chhattisgarh news deep pits on the marine drive will be dangerous in the rain not repairing
COMMENT