• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • Raigarh News chhattisgarh news during the kelo mahaarti itself the residents took a pledge to keep the water clean in the five kilometers of the river

केलो महाआरती के दौरान ही शहरवासियों ने नदी के पांच किलोमीटर क्षेत्र में जल को साफ रखने का संकल्प लिया

Raigad News - केलो महाआरती में मकर संक्रांति के अवसर पर मेला और भजन संध्या में शहर के हजारों लोग समलाई मंदिर घाट पर केलो नदी के जल...

Jan 16, 2020, 07:31 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news during the kelo mahaarti itself the residents took a pledge to keep the water clean in the five kilometers of the river
केलो महाआरती में मकर संक्रांति के अवसर पर मेला और भजन संध्या में शहर के हजारों लोग समलाई मंदिर घाट पर केलो नदी के जल का स्वच्छ रखने का संकल्प लिया। बुधवार की दोपहर से ही लोग नदी किनारे अपने परिवार के सदस्यों के साथ पहुंचना शुरू हो गए। केलो उद्धार समिति द्वारा तीसरे साल नदी के तट कार्यक्रम का आयोजन कराया गया।

बुधवार को केलो नदी के तट पर लगातार तीसरे साल महाआरती की गई। शहर के गोपीनाथ मंदिर के वरिष्ठ पुजारी ब्रजेश्वर महाराज शिष्यों के साथ केलो माता की पूजा करने के बाद महाआरती के लिए नदी के तट पर गए। वहां शंकर नंदी को नदी के मंच पर फूलों से सजाकर विराजमान किया गया। तट के चारों तरफ गुब्बारे और झंडे लगे रहे। इस अवसर पर एक सीढ़ियों पर सैकड़ों लोग बैठे रहे, वही एक तरफ 51 पुरुष, दूसरी तरफ 51 औरतों हाथों में दीप लेकर आरती की। डीजे की धुन पर मानों तो मै गंगा मां हूं...ना मानों तो बहता पानी सहित कई संगीत बजते रहे। तट के दूसरे तरफ भी केलो माता की आरती कर पूजा की गई। आयोजक समिति के सदस्यों ने बताया कि केलो को शहर के पांच किलोमीटर तक स्वच्छ रखने के लिए जागरूकता का संदेश देने के साथ लगातार तीसरे साल महाआरती का आयोजन कराया गया। आयोजन समिति ने अलग-अलग 20 समाज की महिलाओं का चुनाव किया था। इसमें छत्तीसगढ़ी, मारवाड़ी, उत्कल, ब्राह्मण व अन्य समाज की महिलाएं शामिल हुईं। शाम तक केलो नदी तट पर हजारों की संख्या में लोग उपस्थित रहे ।

दो क्विंटल खिचड़ी-चना, तिल लड्डू बंटा

आयोजन समिति की तरफ से महाआरती में आए भक्तों के लिए प्रसाद की उचित व्यवस्था की गई। दो क्विंटल से ज्यादा खिचड़ी को लोगों में बांटा गया। वही सुखा चना-गीला चना का प्रसाद मिल रहा। सिंधी समाज के युवाओं ने चाय व बिस्किट का इंतजाम किया। इस अवसर पर प्रसाद के लिए लोगों की काफी भीड़ जमा रही। लोगों ने तिल चने का प्रसाद िलया।

भास्कर संवाददाता | रायगढ़

केलो महाआरती में मकर संक्रांति के अवसर पर मेला और भजन संध्या में शहर के हजारों लोग समलाई मंदिर घाट पर केलो नदी के जल का स्वच्छ रखने का संकल्प लिया। बुधवार की दोपहर से ही लोग नदी किनारे अपने परिवार के सदस्यों के साथ पहुंचना शुरू हो गए। केलो उद्धार समिति द्वारा तीसरे साल नदी के तट कार्यक्रम का आयोजन कराया गया।

बुधवार को केलो नदी के तट पर लगातार तीसरे साल महाआरती की गई। शहर के गोपीनाथ मंदिर के वरिष्ठ पुजारी ब्रजेश्वर महाराज शिष्यों के साथ केलो माता की पूजा करने के बाद महाआरती के लिए नदी के तट पर गए। वहां शंकर नंदी को नदी के मंच पर फूलों से सजाकर विराजमान किया गया। तट के चारों तरफ गुब्बारे और झंडे लगे रहे। इस अवसर पर एक सीढ़ियों पर सैकड़ों लोग बैठे रहे, वही एक तरफ 51 पुरुष, दूसरी तरफ 51 औरतों हाथों में दीप लेकर आरती की। डीजे की धुन पर मानों तो मै गंगा मां हूं...ना मानों तो बहता पानी सहित कई संगीत बजते रहे। तट के दूसरे तरफ भी केलो माता की आरती कर पूजा की गई। आयोजक समिति के सदस्यों ने बताया कि केलो को शहर के पांच किलोमीटर तक स्वच्छ रखने के लिए जागरूकता का संदेश देने के साथ लगातार तीसरे साल महाआरती का आयोजन कराया गया। आयोजन समिति ने अलग-अलग 20 समाज की महिलाओं का चुनाव किया था। इसमें छत्तीसगढ़ी, मारवाड़ी, उत्कल, ब्राह्मण व अन्य समाज की महिलाएं शामिल हुईं। शाम तक केलो नदी तट पर हजारों की संख्या में लोग उपस्थित रहे ।

Raigarh News - chhattisgarh news during the kelo mahaarti itself the residents took a pledge to keep the water clean in the five kilometers of the river
X
Raigarh News - chhattisgarh news during the kelo mahaarti itself the residents took a pledge to keep the water clean in the five kilometers of the river
Raigarh News - chhattisgarh news during the kelo mahaarti itself the residents took a pledge to keep the water clean in the five kilometers of the river
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना