• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • Raigarh News chhattisgarh news even after the gis survey the number of customers is not with the electricity company the time taken to find the fault

जीआईएस सर्वे के बाद भी ग्राहको के नंबर बिजली कंपनी के पास नहीं, खराबी ढूंढ़ने में लग रहा समय

Raigad News - जिले में ढाई लाख बिजली उपभोक्ता हैं। इनमें से 30 फीसदी उपभोक्ताओं को मोबाइल नंबर विभाग के पास नहीं है। किसी भी तरह...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:30 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news even after the gis survey the number of customers is not with the electricity company the time taken to find the fault
जिले में ढाई लाख बिजली उपभोक्ता हैं। इनमें से 30 फीसदी उपभोक्ताओं को मोबाइल नंबर विभाग के पास नहीं है। किसी भी तरह की भी सूचना मोबाइल में समय पर नहीं मिल पाती।

धरमजयगढ़ ब्लॉक में सप्लाई बंद की सूचना भी समय पर नहीं पाती है। सबसे ज्यादा परेशानी ग्रामीण इलाकों में होती है। दो साल पहले जीआईएस सर्वे कराया गया था। कंपनी ने पोल-टू-पोल सर्वे कर सभी उपभोक्ताओं के मोबाइल अपडेट करने के निर्देश दिए थे, लेकिन इस काम को लेकर विभाग दिलचस्पी नहीं दिखाई। यही वजह है कि दो साल बात भी सिर्फ पौने तीन लाख उपभोक्ताओं में से सिर्फ 70 हजार उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर विभाग के सिस्टम में अपडेट नहीं हुए हैं।

सिर्फ 30 फीसदी ही शेष


भास्कर संवादाता | रायगढ़

जिले में ढाई लाख बिजली उपभोक्ता हैं। इनमें से 30 फीसदी उपभोक्ताओं को मोबाइल नंबर विभाग के पास नहीं है। किसी भी तरह की भी सूचना मोबाइल में समय पर नहीं मिल पाती।

धरमजयगढ़ ब्लॉक में सप्लाई बंद की सूचना भी समय पर नहीं पाती है। सबसे ज्यादा परेशानी ग्रामीण इलाकों में होती है। दो साल पहले जीआईएस सर्वे कराया गया था। कंपनी ने पोल-टू-पोल सर्वे कर सभी उपभोक्ताओं के मोबाइल अपडेट करने के निर्देश दिए थे, लेकिन इस काम को लेकर विभाग दिलचस्पी नहीं दिखाई। यही वजह है कि दो साल बात भी सिर्फ पौने तीन लाख उपभोक्ताओं में से सिर्फ 70 हजार उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर विभाग के सिस्टम में अपडेट नहीं हुए हैं।

इलेवन केवीए खंभों के लिए यह प्रस्ताव

विद्युत मंडल ने इलेवन केवीए खंभों को ऑनलाइन सर्वर से जोड़ने जीपीएस लगाने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए प्रस्ताव बनाकर बिजली कंपनी को भेजा गया है। कंपनी ने इस को स्वीकृति दी तो 11 हजार वोल्ट के सभी खंभे सीधे सर्वर से कनेक्ट हो जाएंगे। खंभों से केबल टूटने या इंसुलेटर जलने की सूचना ऑनलाइन पकड़ में आएगी और त्वरित सुधार कार्य किया जा सकेगा।

X
Raigarh News - chhattisgarh news even after the gis survey the number of customers is not with the electricity company the time taken to find the fault
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना