एफसीआई गोदाम में आग, जल गईं 60 बाेरियां इंचार्ज ने कहा-चावल की नमी और गर्मी से लगी

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:20 AM IST

Raigarh News - एफसीआई गोदाम में शुक्रवार की सुबह अचानक चावल के लाट में आग लगने से लगभग 60 बोरियां जल गईं। अफसर आग लगने की...

Raigarh News - chhattisgarh news fci warehouse fire burnt 60 infantry in charge said rice moisture and heat started
एफसीआई गोदाम में शुक्रवार की सुबह अचानक चावल के लाट में आग लगने से लगभग 60 बोरियां जल गईं। अफसर आग लगने की हास्यास्पद वजह बता रहे हैं। अफसरों के मुताबिक उसना चावल में नमी होने के कारण उमस पैदा होती है, गर्मी बढ़ी तो आग लग गई। भास्कर ने शहर के भीतर और आसपास के वेयर हाउस गोदामों की पड़ताल की। दरअसल एफसीआई ने आग रोकने के लिए गोदामों में कोई इंतजाम ही नहीं किए हैं।

शुक्रवार की सुबह लगभग 5 बजे फायर ब्रिगेड को सूचना मिली कि गढ़उमरिया रोड पर स्थित एफसीआई के चावल गोदाम सीडब्ल्यूसी 2 में आग लगी हुई है। सूचना पर फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। यहां कक्ष क्रमांक 6 बी में आग लगी थी। फायर ब्रिगेड ने घंटों की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आग और भयानक होती इससे पहले कंट्रोल कर लिया गया था। दुर्घटना में लगभग 60 बोरे ही चावल के जले थे। इनमें से भी कुछ बच गए थे। मगर चावल पूरा खराब हो गया। इस घटना के बाद मौके पर एफसीआई के अधिकारी पहुंचे थे और नुकसान का जायजा लिया। गोदाम के इंचार्ज दीनदयाल पटेल ने बताया कि रात के वक्त तीन गार्ड मौके पर मौजूद थे। अचानक उन्होंनें धुआं उठता देखा तो अफसरों को इसकी सूचना दी।

32 हजार टन के सीडब्ल्यूसी गोदाम और 13 हजार टन के एसडब्ल्यूसी गोदाम की पड़ताल

फायर एक्सटिंग्युशर सिर्फ दिखावे के लिए

सालों से फायर एक्सटिंग्युशर बाहर में टंगे हुए हैं। ये सारे सिलेंडर एक्सपायर हो चुके हैं। सालों से किसी भी फायर एक्सटिंग्युशर की रिफिलिंग नहीं हुई। अफसरों से पूछने पर उनके द्वारा भोपाल से टीम आने की बात कही जाती है। जो फायर एक्सटिंग्युशर रखें हुए है वह भी वाटर टाइप ए कैटेगरी के हैं जो सामान्य तौर पर कागज, कोयला, कपड़ा में लगने वाली आग के लिए होता है। एफसीआई के गोदाम में बिजली के तारों से आग लगने की आशंका ज्यादा है और इस कैटेगरी के एक्सटिंग्युशर इलेक्ट्रिक उपकरणों में लगी आग को बुझाने के लिए पर्याप्त नहीं हैं। विधानसभा चुनाव के दौरान सुरक्षा को लेकर सीडब्ल्यूसी गोदाम के अंदर रखे 12 फायर एक्सटिंग्युशर को बदला गया था। गिनती पूरी होने के बाद फायर डिपार्टमेंट उसे वापस ले गया। इसके बाद फिर से एक्सपायर फायर एक्सटिंग्युशर लगा दिए गए।

आग लगने के बाद आनन-फानन में हटाई गई चावल की बोरियां।

गोदामों में आग रोकने के उपाय नहीं

32 हजार टन की कैपेसिटी वाले सीडब्ल्यूसी गोदाम गढ़उमरिया और कोड़ातराई लोहरसिंग में 13 हजार टन के एसडब्ल्यूसी गोदाम आग से सुरक्षा के उपाय देखने भास्कर की टीम पहुंची। दोनों ही जगह यदि आग लगी तो भारी नुकसान हो सकता है। आग बुझाने को लेकर यहां पर कोई भी व्यवस्था नहीं है। दोनों ही गोदाम पूरी तरह से फायर ब्रिगेड पर निर्भर है। निगम से गढ़उमरिया गोदाम की दूरी लगभग 7 किलोमीटर है और लोहरसिंग गोदाम की दूरी लगभग 15 किलोमीटर।

उमस से आग लग सकती है


घटना को छिपाने की भरपूर कोशिश

भारतीय खाद्य निगम के गोदाम में लगी आग की घटना को छिपाने की भरपूर कोशिश की गई। मीडिया को इस घटना से दूर रहने का प्रयास किया गया। एफसीआई गोदाम में सुरक्षा के तौर पर कोई एहतियात नहीं बरती जा रही है। यही कारण रहा कि इसे छिपाने के लिए भरसक प्रयास किया गया। सीडब्ल्यूसी गोदाम में जब भास्कर की टीम पहुंची तो उन्हें भी मौजूदा ठेकेदार और अधिकारियों ने रोकने की कोशिश की। इसके अलावा अपने रुतबे का दम भी दिखाया।

Raigarh News - chhattisgarh news fci warehouse fire burnt 60 infantry in charge said rice moisture and heat started
X
Raigarh News - chhattisgarh news fci warehouse fire burnt 60 infantry in charge said rice moisture and heat started
Raigarh News - chhattisgarh news fci warehouse fire burnt 60 infantry in charge said rice moisture and heat started
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543