कृष्णा नगर में एक रूम में पांच कक्षाएं चल रही हैं, एक साल से तैयार है नया भवन पर शिफ्ट नहीं करा रहे

Raigarh News - उर्दना के कृष्णा नगर में सरकारी प्राथमिक स्कूल में एक कमरे में ही पांच कक्षाएं चल रही हैं। नया भवन सालभर से बनकर...

Nov 10, 2019, 07:40 AM IST
उर्दना के कृष्णा नगर में सरकारी प्राथमिक स्कूल में एक कमरे में ही पांच कक्षाएं चल रही हैं। नया भवन सालभर से बनकर तैयार है लेकिन स्कूल शिफ्ट नहीं किया जा रहा है। स्कूल भवन के जर्जर हो जाने के बाद इसे एक कमरे में शिफ्ट कर दिया गया। पिछले पांच सालों से स्कूल यहीं चल रहा है। सरकारी भर्राशाही इतनी है कि भवन तैयार है लेकिन उसके भीतर पड़ा मलबा, मिट्‌टी साफ नहीं हो सकी इसलिए शिफ्टिंग ही रुक गई।

नगर निगम और शिक्षा विभाग ध्यान दे तो दो दिनों में के भीतर नए भवन में स्कूल लगने लगे। जिले में करीब 214 स्कूलों की मरम्मत का प्रस्ताव सरकार द्वारा स्वीकृत किया जा चुका है लेकिन शिक्षा विभाग काम नहीं करा रहा है। शहर में करीब आधा दर्जन से अधिक स्कूल जर्जर हो चुके हैं, यहां नए स्कूल भवन बनाए जाने हैं। इंदिरा नगर स्थित प्राथमिक स्कूल, बोईरदादर स्थित माध्यमिक स्कूल, लोइंग स्थित प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल, स्टेशन चौक स्थित इंदिरा गांधी प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल और भगवानपुर स्थित अंबेडकर प्राथमिक स्कूल के भवन जर्जर हो चुके हैं। इसमें कुछ स्कूलों के मरम्मत के लिए स्वीकृति भी मिल गई है।

भास्कर संवाददाता | रायगढ़

उर्दना के कृष्णा नगर में सरकारी प्राथमिक स्कूल में एक कमरे में ही पांच कक्षाएं चल रही हैं। नया भवन सालभर से बनकर तैयार है लेकिन स्कूल शिफ्ट नहीं किया जा रहा है। स्कूल भवन के जर्जर हो जाने के बाद इसे एक कमरे में शिफ्ट कर दिया गया। पिछले पांच सालों से स्कूल यहीं चल रहा है। सरकारी भर्राशाही इतनी है कि भवन तैयार है लेकिन उसके भीतर पड़ा मलबा, मिट्‌टी साफ नहीं हो सकी इसलिए शिफ्टिंग ही रुक गई।

नगर निगम और शिक्षा विभाग ध्यान दे तो दो दिनों में के भीतर नए भवन में स्कूल लगने लगे। जिले में करीब 214 स्कूलों की मरम्मत का प्रस्ताव सरकार द्वारा स्वीकृत किया जा चुका है लेकिन शिक्षा विभाग काम नहीं करा रहा है। शहर में करीब आधा दर्जन से अधिक स्कूल जर्जर हो चुके हैं, यहां नए स्कूल भवन बनाए जाने हैं। इंदिरा नगर स्थित प्राथमिक स्कूल, बोईरदादर स्थित माध्यमिक स्कूल, लोइंग स्थित प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल, स्टेशन चौक स्थित इंदिरा गांधी प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल और भगवानपुर स्थित अंबेडकर प्राथमिक स्कूल के भवन जर्जर हो चुके हैं। इसमें कुछ स्कूलों के मरम्मत के लिए स्वीकृति भी मिल गई है।

स्कूल छोड़ना पड़ा तो आंगनबाड़ी पर कब्जा

स्कूल के शिक्षकों ने बताया कि स्कूल भवन जर्जर होने के बाद शिक्षकों ने सामने आंगनबाड़ी भवन को भी ले लिया है। यहां सुबह आंगनबाड़ी लगती है और सेकंड शिफ्ट में स्कूल के शिक्षक अपना दफ्तर लगा लेते हैं, कुछ बच्चों को यहां पढ़ाते भी हैं। क्षेत्रीय पार्षद रमेश भगत ने बताया कि स्कूल के सामने मुरम और मलबा जमा हुआ था। जिसे दो दिन पहले ही हटाया गया है, अब स्कूल को इस महीने उद्घाटन कराया जाएगा, इस स्कूल को डीएफएम फंड से 11 लाख रुपए नगर निगम ने तैयार किया है।

प्रस्ताव भी हम सरकार को भेज चुके हैं


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना