दो लोगों में आपसी सुलह कराना ही बेहतरीन इबादत : इमामुद्दीन

Raigarh News - पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब के यौमे पैदाइश के मुबारक मौके पर ईद मिलादुन्नबी पर्व पर शहर में निकलने वाले जुलूस की...

Nov 10, 2019, 07:40 AM IST
पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब के यौमे पैदाइश के मुबारक मौके पर ईद मिलादुन्नबी पर्व पर शहर में निकलने वाले जुलूस की तैयारियां जोरशोर से चल रही है। शहर की मस्जिदें रंग बिरंगी रोशनी से जगमग हो गई है। यौमे पैदाइश के उपलक्ष्य पर मदरसों में तकरीर हो रही है। घरों में बच्चों को दीनी तालीम के साथ धार्मिक आयोजन हो रहे हैं।

मधुबनपारा में 30 अक्टूबर से लगातार धार्मिक कार्यक्रमों साथ तकरीर का आयोजन किया जा रहा है। शनिवार को जामिया चिश्तिया रुदौली शरीफ फैजाबाद उत्तर प्रदेश से आए हजरत मौलाना इमामुद्दीन सईदी ने पैगंबर मोहम्मद साहब के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि अल्लाह अपनी बनाई कायनात से इतनी मोहब्बत करता है कि उसने अल्लाह के फर्ज के साथ माता-पिता, औलाद, रिश्तेदार, पड़ोसी व हर इंसान को मोहब्बत करने का पैगाम दिया है। सरकार दो आलम ने फरमाया कि नमाज, रोजे व दान से बेहतरीन इबादत दो लोगों में सुलह कराना है। आपस में फूट डालना दीन को गंदा करने जैसा है। मुस्लिम धर्मगुरुओं ने मोहम्मद साहब के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके बताए मार्ग पर चलने का आह्वान किया।

तकरीर के दौरान भारी संख्या में लोग मौजूद रहे। अतहर हुसैन ने बताया कि ईद मिलादुन्नबी का पर्व की तैयारियां जोरों पर है। जुलूस निर्धारित मार्ग से निकाला जाएगा। मस्जिद को गुलाब के फूलों की मालाओं से भी सजाया गया है। 11 नवंबर को जश्‍ने साबिर पाक की महफिल होगी, 12 नवंबर को मगरिब की नमाज के बाद आम लंगर का आयोजन किया जाएगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना