जोगी कांग्रेस के विभाष के भाई सहित 6 बेरोजगारों से नौकरी लगाने के नाम पर 50 लाख रुपए ठगे

Raigad News - जोगी कांग्रेस के नेता विभाष सिंह ठाकुर के भाई विकास ठाकुर समेत करीब आधा दर्जन बेरोजगारों से सरकारी नौकरी दिलाने...

Bhaskar News Network

Jul 16, 2019, 07:25 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news jogi converts 5 unemployed people including brother of divisional wing
जोगी कांग्रेस के नेता विभाष सिंह ठाकुर के भाई विकास ठाकुर समेत करीब आधा दर्जन बेरोजगारों से सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर लगभग 50 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। युवकों ने कलेक्टोरेट के राजस्व विभाग में पदस्थ एक सहायक ग्रेड 3 कर्मचारी पर ठगी का आरोप लगाया है। इसकी शिकायत सोमवार को कलेक्टर व एसपी से की गई है। दिलचस्प बात है कि जिसपर ठगी का आरोप लगाया है, उसने खुद ही रायपुर के एक थाने में खुद से नौकरी के नाम पर 8 लाख की ठगी का मामला दर्ज कराया है।

कोतरा रोड निवासी विकास सिंह ठाकुर, धनागर निवासी पदम नारायण पटेल, राजीव नगर निवासी दीपक गिरी गोस्वामी, कोटमी जांजगीर चांपा निवासी सौरभ पटेल, कोटराभाटा रायपुर निवासी पंकज यादव और जगत विहार कालोनी महासमुंद निवासी प्रकाश पटेल सोमवार को कलेक्टोरेट पहुंचकर कलेक्टर को लिखित शिकायत करते हुए बताया कि शहर के मिट्ठुमुड़ा निवासी संदीप कुमार श्रृंगी कलेक्टोरेट के राजस्व शाख में सहायक ग्रेड 3 के पद पर परिवीक्षाधीन अवधि में है। उसके द्वारा वर्ष 2015 में अपना संपर्क रायपुर मंत्रालय तक होने का झांसा देते हुए अलग-अलग पदों में सरकारी नौकरी लगाने का प्रलोभन दिया गया। इसी दौरान सरकारी पदों के लिए विज्ञापन निकला था जिसमें इन बेरोजगारों ने भी परीक्षा दी थी। इसके बाद युवकों को जाल में फंसाया।

शिकायत करने पहुंचे बेरोजगार।

भास्कर न्यूज | रायगढ़

जोगी कांग्रेस के नेता विभाष सिंह ठाकुर के भाई विकास ठाकुर समेत करीब आधा दर्जन बेरोजगारों से सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर लगभग 50 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। युवकों ने कलेक्टोरेट के राजस्व विभाग में पदस्थ एक सहायक ग्रेड 3 कर्मचारी पर ठगी का आरोप लगाया है। इसकी शिकायत सोमवार को कलेक्टर व एसपी से की गई है। दिलचस्प बात है कि जिसपर ठगी का आरोप लगाया है, उसने खुद ही रायपुर के एक थाने में खुद से नौकरी के नाम पर 8 लाख की ठगी का मामला दर्ज कराया है।

कोतरा रोड निवासी विकास सिंह ठाकुर, धनागर निवासी पदम नारायण पटेल, राजीव नगर निवासी दीपक गिरी गोस्वामी, कोटमी जांजगीर चांपा निवासी सौरभ पटेल, कोटराभाटा रायपुर निवासी पंकज यादव और जगत विहार कालोनी महासमुंद निवासी प्रकाश पटेल सोमवार को कलेक्टोरेट पहुंचकर कलेक्टर को लिखित शिकायत करते हुए बताया कि शहर के मिट्ठुमुड़ा निवासी संदीप कुमार श्रृंगी कलेक्टोरेट के राजस्व शाख में सहायक ग्रेड 3 के पद पर परिवीक्षाधीन अवधि में है। उसके द्वारा वर्ष 2015 में अपना संपर्क रायपुर मंत्रालय तक होने का झांसा देते हुए अलग-अलग पदों में सरकारी नौकरी लगाने का प्रलोभन दिया गया। इसी दौरान सरकारी पदों के लिए विज्ञापन निकला था जिसमें इन बेरोजगारों ने भी परीक्षा दी थी। इसके बाद युवकों को जाल में फंसाया।

दबाव बनाया तो 9 लाख रुपए लौटाए

फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद युवकों ने संदीप से अपनी राशि वापस करने के लिए दबाव डाला तो उसने 9 लाख 50 हजार रुपए वापस किए। इसके बाद शेष रकम को लौटाने के लिए टालमटोल करता रहा। जिसके बाद अब बेरोजगारों ने शिकायत कर संबंधित के खिलाफ जांच कर कार्रवाई करने की मांग की गई है।

ज्वाइनिंग लेटर लेकर घर पहुंचा

रेवन्यू इंस्पेक्टर, हास्टल अधीक्षक और आबकारी निरीक्षक के पदों पर नौकरी लगाने के नाम पर 8-8 लाख रुपए मांगे थे। दोनों पक्षों में डील होने के बाद युवक इनके घर ज्वाइनिंग लेटर लेकर आया और उनसे तय हुए रकम लेने लगा। जब लेटर लेकर युवा विभागों में पहुंचे तो पता चला कि उक्त परीक्षा में तो उनका चयन ही नहीं हुआ है।

X
Raigarh News - chhattisgarh news jogi converts 5 unemployed people including brother of divisional wing
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना