• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • Raigarh News chhattisgarh news manju was to come to raigad after 24 hours but news of the killing of both daughters came father said my hard work was wasted

24 घंटे बाद रायगढ़ आने वाली थी मंजू लेकिन आई दोनों बेटियों की हत्या की खबर,पिता बोले-मेरी मेहनत बर्बाद

Raigad News - रायपुर के टिकरापारा थाना क्षेत्र के गोदावरी नगर में किराए के मकान में रह रही विनोबा नगर की दो सगी बहनों की दिन...

Dec 11, 2019, 08:41 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news manju was to come to raigad after 24 hours but news of the killing of both daughters came father said my hard work was wasted
रायपुर के टिकरापारा थाना क्षेत्र के गोदावरी नगर में किराए के मकान में रह रही विनोबा नगर की दो सगी बहनों की दिन दहाड़े हुई हत्या की खबर आते ही रायगढ़ में उनके घर से चीखपुकार मचने लगी। घर में मौजूद मां सुभद्रा सिदार दहाड़े मार मार कर रोती बिलखती नजर आई तो पिता जालंधर सिदार के बेसुध गमगीन बैठे सिसकियां भरते रहे। मायुस पिता बोले- 24 घंटे बाद दोनों बेंटियां घर आने वाली थी ंपर उनकी हत्या की खबर आई। मेरी जिंदगीभर की मेहनत बर्बाद हो गई। बड़े लाड़ प्यार से बेटियों को पढ़ाया और उन्हें कुछ बनता नहीं देख सका। अब किस काम की मेरी मेहनत अब मै क्या करूं...। पड़ोसियों ने उन्हें होनहार बेटियों की मिसाल देकर ढांढस बंधाने का प्रयास किया पर वे असफल रहे। शाम चार बजे के करीब परिजन एक किराए की गाड़ी से रायपुर के लिए रवाना हुए।

जालंधर सिदार गोपालपुर तारापाली गांव में पटवारी के पद पर पदस्थ है। दोनों होनहार बेटियों की मौत की खबर आने के बाद बेसुध परिवार और सगे संबंधी रोते बिलखते यहीं कह रहे थे कि यदि मनीषा हास्टल में रहती तो शायद घटना न होती। परिजनों ने बताया कि मनीषा ने कुछ दिन पहले ही घरवालों को बताया था कि हास्टल में खाना सही नहीं मिलता है और अलग से बना नहीं सकती। इस लिए परिवार के लोगों ने जानने वाली प्रीति से उसे किराए पर मकान दिलवाया था और मनीषा अकेले किराए के मकान में रह रही थी।

रायपुर के गोदावरी नगर में किराए के मकान में दो सगी बहनों की दिन दहाड़े हत्या

लाल सूट में मंजू व नीले सूट में मनीषा जिसकी हत्या हुई। बीच में बड़ी बहन ममता। फोटो दीक्षांत समारोह का है जब ममता को डिग्री मिली थी।

सोमवार को आखिरी बार मनीषा से 8 बजे हुई बात

मनीषा ने पिता के फोन पर सोमवार शाम 8 बजे के करीब फोन किया उसने मां और भाइयों का हाल जानने के बाद बताया था कि सब ठीक चल रहा है। इस पर पिता ने पूछा था कि पेपर कैसे चल रहे थे उसने बताया कि मंगलवार को आखिरी पेपर है। अब तक के सभी पेपर ठीक हुए है। इस दौरान करीब 20 मिनट तक बात हुई थी।

मनीषा की मदद के लिए गई थी मंजू

मंजू ने श्री रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट से जीएनएम का कोर्स किया है और इसी वर्ष पास आउट हुई थी। मनीषा के नर्सिंग के पेपर चल रहे थे। मनीषा को पढ़ाई के साथ ही खाना बनाने में परेशानी हो रही थी। इस पर पिता जालंधर ने मंजू को मनीषा की मदद के लिए 3 दिसंबर को रायपुर उसके पास भेजा था।

रायगढ़ और रायपुर पुलिस सैफ नामक युवक का पता लगा रही

मनीषा और मंजू की हत्या में रायगढ़ के सैफ का नाम पुलिस के सामने आ रहा है। पुलिस युवतियों के सैफ से संबंध और उसके रायपुर पहुंचने का कारण जानने में जुटी है। रायपुर पुलिस ने सैफ की तस्दीक के लिए रायगढ़ पुलिस से संपर्क किया है। दोनों ही जिलों की पुलिस पता लगा रही है कि आखिर सैफ कौन है और वह युवतियों को कैसे और कब से जानता था।

मौत की खबर सुनकर बिलख पड़ी मां सुभद्रा।

बुधवार को साउथ बिहार से आने वाली थी मंजू, आई मौत की खबर

मनीषा के पेपर मंगलवार से खत्म हो रहे थे। इस पर मंजू ने घर पर फोन कर बताया था कि वे बुधवार को साउथ बिहार ट्रेन से घर आ जाएगी। वहीं मनीषा ने बताया था कि पेपर खत्म होने के बाद कोर्स की तैयारियां कर वह 21 दिसंबर को घर आएगी। मनीषा के एक माह से घर न आने पर मां और भाई बहन के आने का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। लेकिन दोनों की मौत की खबर ने पूरे परिवार को झकझोर कर रख दिया।

पांच संतानों में मंजू और मनीषा थी होनहार

सिस्कियां भरते हुए पिता जालंधर सिदार ने बताया कि पांच संतानों में ममता सबसे बड़ी बेटी थी, जिसकी बीएससी नर्सिंग करने के बाद बिलासपुर में शादी कर दी। दूसरे नंबर की मंजू ने इसी वर्ष जीएनएम का कोर्स पूरा किया था, जबकि मनीषा रायपुर के रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट आफ नर्सिंग में बीएससी नर्सिंग कर रही थी। बेटा दीपक भूपदेवपुर के नवोदय विद्यालय में 11वीं का छात्र है। जबकि छोटा बेटा पुष्पेंद्र केंद्रीय विद्यालय रायगढ़ में 9वीं का छात्र है। इन सब में मंजू और मनीषा पढ़ाई में होनहार थीं। अक्सर पढ़ाई में उन्होंने टाप किया है। बेटियां भी पढ़ाई कर आगे बढ़ना चाहती थीं।

देवरी हत्या कांड: मुआवजा बना महिला की हत्या का कारण, सात बार चौखट पर पटक कर मारा

हक के लिए लड़ रही थी गंगोत्री, ससुराल वालों ने की थी हत्या

भास्कर संवाददाता | रायगढ़

भूपदेवपुर थाना क्षेत्र के देवरी गांव में महिला की हत्या के मामले में पुलिस ने खुलासा करते हुए पति, सास, ससुर और ननद, देवर को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में अपना जुर्म कबूल किया है। हत्या का कारण वीजा पावर से मिले मुआवजे की रकम का बंटवारा होना बताया जा रहा है। पुलिस ने पांचों आरोपियों को न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है।

देवरी गांव निवासी मनोहर की प|ी गंगोत्री(26) का शव घर से कुछ दूरी पर नालियों में नग्न अवस्था में मिला था। मृतका के मायके पक्ष के लोगों ने ससुरालियों पर ही हत्या का आरोप लगाया था। इधर बार बार बदल रहे बयानों से पुलिस को ससुरालियों पर ही शक गहरा रहा था। डाग स्क्वायड से मिले सुराग और पति से कड़ाई से हुई पूछताछ में पर्दाफाश हो गया। पुलिस ने पति मनोहर, सास तिहारीन, ननद कौशल्या, देवर सुनील व ससुर हीरालाल को गिरफ्तार किया है। एसडीओपी पीतांबर पटेल ने बताया कि पकड़े गए लोगों को रिमांड पर लेकर जेल भेजा गया है।



दरवाजे की चौखट पर पटक पटक कर मार डाला

तालाब से नहाकर लौटी गंगोत्री खाना खा रही थी। तभी ननद कौशल्या से शुरू हुए विवाद में सास तिहारीन ने गंगोत्री को दरवाजे की चौखट पर सिर पटक दिया। पुलिस को ननद और सास ने बताया कि दोनों ने मिल कर सात बार चौखट पर सिर पटका और उसकी मौत हो गई। मौत होने के बाद रात में घटना वाली रात में शव को पास की नाली में फेंका था।

पति हत्या में शामिल नहीं था

प|ी की हत्या घर पर मां और बहन तथा भाई ने मिल कर की। इस बात की जानकारी मनोहर को नहीं थी, लेकिन जब वह काम से लौटा तो प|ी का शव पड़ा था। परिवार के मोह की वजह से वह खुल कर विरोध नहीं कर सका और पुलिस को लगातार गुमराह कर बयान बदल रहा था। कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गया और पूरी घटना बयां कर दी। जबकि ससुर विकलांग है। ससुर और पति को पुलिस ने साक्ष्य छिपाने के मामले में आरोपी बनाया है।

वीजा पावर से मिले मुआवजे को लेकर हुआ था विवाद

ननद कौशल्या और सास तिहारीन से घटना वाले दिन 4 दिसंबर की सुबह 9 बजे के करीब नहाने के लिए तालाब पर जाने से पहले गंगोत्री का वीजा पावर से मिले मुआवजे के बंटवारे को लेकर विवाद हुआ था। इसके बाद सुबह 10 बजे वह तालाब पर चली गई। तभी ननद से विवाद हो गया।

गंगोत्री के हत्या के आरोपी।

दुष्कर्म का सीन क्रिएट किया

गंगोत्री की हत्या के वक्त पति काम पर गया था, वापस लौटा तोे देखा मां और बहन ने प|ी की हत्या कर दी थी। ससुरालियों ने दुष्कर्म का सीन क्रिएट करने के लिए गंगोत्री के कपड़े उतारे और उसे नग्न अवस्था में फेंका और सास तिहारीन अपने मायके कांसा चली गई। ननद ने गंगोत्री के मायके फोन कर भाभी नहाने के घर नहीं लौटने की कहानी बताई।

Raigarh News - chhattisgarh news manju was to come to raigad after 24 hours but news of the killing of both daughters came father said my hard work was wasted
Raigarh News - chhattisgarh news manju was to come to raigad after 24 hours but news of the killing of both daughters came father said my hard work was wasted
X
Raigarh News - chhattisgarh news manju was to come to raigad after 24 hours but news of the killing of both daughters came father said my hard work was wasted
Raigarh News - chhattisgarh news manju was to come to raigad after 24 hours but news of the killing of both daughters came father said my hard work was wasted
Raigarh News - chhattisgarh news manju was to come to raigad after 24 hours but news of the killing of both daughters came father said my hard work was wasted
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना