मीटर रीडर्स ने नहीं उठाया जनवरी का बिल

Raigarh News - आज से रहेंगे अनिश्चित कालीन हड़ताल पर। भास्कर न्यूज | रायगढ़ डिजीटल फोटोग्राफी विथ स्पॉट बिलिंग के विरोध में...

Bhaskar News Network

Feb 13, 2019, 05:25 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news meter readers did not raise bill of january
आज से रहेंगे अनिश्चित कालीन हड़ताल पर।

भास्कर न्यूज | रायगढ़

डिजीटल फोटोग्राफी विथ स्पॉट बिलिंग के विरोध में मीटर रीडरों ने जनवरी माह का बिल उठाने से इनकार कर दिया है।

मंगलवार को जोन-एक, दो समेत सभी डीसी में बिल प्रिंट होकर पहुंच चुके हैं, लेकिन रीडर इसे बांटने से इनकार कर रहे हैं। जिला मीटर रीडर संघ का कहना है कि बिजली कंपनी उनका पक्ष सुनने को तैयार नहीं है। इसलिए उन्होंने मजबूर होकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। सर्कल के सभी वितरण केंद्रों के मीटर रीडरों ने बिल वितरण, रीडिंग समेत सभी तरह के काम छोड़ कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने अपने डीसी प्रभारियों को लिखित सूचना दे दी है। पत्र में उन्होंने मांग पूरी होने तक कलेक्टोरेट परिसर के सामने धरने पर बैठने की बात कही है। मीटर रीडर संघ के पदाधिकारियों ने बताया कि कंपनी के लिए वे बीते कई वर्षों से काम कर रहे हैं।

मीटर रीडिंग के अलावा इस काम से जुड़े लोग कंपनी के लिए बकाया वसूली, लाइन विच्छेदन, सहज योजना, सौभाग्य योजना जैसे विभिन्न काम भी करते हैं। इसके बावजूद कंपनी उन्हें छोड़ दूसरे प्रदेश के ठेकेदार से काम करा रही है। कंपनी के इस निर्णय से मीटर रीडर बेरोजगार हो जाएंगे।

अफसर कह रहे विभाग के कर्मचारी बांटेंगे बिल

विभाग के अफसरों का कहना है कि मीटर रीडरों के अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाने से कंपनी का काम नहीं रूकेगा। विभाग के कर्मचारी इस महीने का बिल वितरण करेंगे। हालांकि अफसरों को भी पता है कि यह काम उनके लिए चुनौती भरा होगा।



लेकिन इसके बावजूद वे कर्मचारियों से बिल वितरण कराने का जोखिम उठा रहे हैं।

ऐसी स्थिति नहीं बनेगी


देर हुई तो उपभोक्ताओं को देना होगा दोहरा सरचार्ज

मीटर रीडरों के हड़ताल पर चले जाने से इस महीने अधिकांश उपभोक्ताओं को बिल नहीं मिलेगा, या फिर बिल मिलने में देरी भी हो सकती है। ऐसे में उपभोक्ताओं को दोहरा सरचार्ज देना होगा। या फिर तय की तिथि खत्म होने पर कुल बिल का 1.5 फीसदी ब्याज देना पड़ सकता है।

X
Raigarh News - chhattisgarh news meter readers did not raise bill of january
COMMENT