विज्ञापन

पानी का छिड़काव नहीं, अधूरी सड़क पर उठ रहा धूल का गुबार, लोग हाे रहे बीमार

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:21 AM IST

Raigarh News - उर्दना-सर्किट हाउस रोड पर सड़क निर्माण की डेडलाइन को 15 दिन बचे हैं लेकिन सड़क बिल्कुल नहीं बनी है। यहां स्टोन डस्ट...

Raigarh News - chhattisgarh news no spraying of water dirt clogged up on incomplete road people are sick
  • comment
उर्दना-सर्किट हाउस रोड पर सड़क निर्माण की डेडलाइन को 15 दिन बचे हैं लेकिन सड़क बिल्कुल नहीं बनी है। यहां स्टोन डस्ट और मिट्टी की धूल उड़ने से लोग बीमार हो रहे हैं। मार्ग पर भारी वाहन गुजरते हैं जिससे इलाके के निवासी और यहां से गुजरने वाले लोग बीमार हो रहे हैं। घर के भीतर और छतों पर दिनभर में धूल की परत जम जाती है। मेकाहारा के डॉक्टर कहते हैं शहर में धूल से प्रदूषण का आलम यह है कि फेफड़ों की बीमार तेजी से बढ़ रही है।

सर्किट हाउस मार्ग पर 7 कॉलोनी और बस्ती है जहां 15 हजार से ज्यादा लोग रहते हैं। इसके साथ ही हजारों लोग यहां से आना-जाना करते हैं। लोग सुबह के समय अपने घरों से बिना मास्क डाले निकल नहीं पाते हैं। दरअसल 10 करोड़ की लागत से बन रही सड़क की डेडलाइन 15 दिन बाद खत्म हो जाएगी। अफसर सड़क निर्माण में देर होने पर ठेकेदार से पेनाल्टी लेने की बात कह रहे हैं लेकिन धूल से हजारों लोगों का स्वास्थ्य बिगड़ रहा है, इसकी परवाह किसी को नहीं है। सड़क अधूरी होने के बाद ठेकेदार पानी का छिड़काव भी नहीं कर रहा है। एक्सट्रा खर्च बचाने के चक्कर में लोगों को परेशानी में डाला जा रहा है। शहर की सड़कों पर डस्ट कम करने को लेकर भास्कर द्वारा चलाए गए अभियान के बाद कुछ समय के लिए सड़कों पर पानी डाला गया। इसके बाद पानी की स्प्रिंक्लिंग बंद हो गई।

उर्दना-सर्किट हाउस रोड पर सड़क निर्माण की डेडलाइन पूरा होने में मात्र 15 दिन शेष

उर्दना-सर्किट हाउस रोड पर ट्रक के गुजरते ही उठता है धूल का गुबार।

ये मोहल्ले हो रहे प्रभावित

उर्दना से सर्किट हाउस के बीच 3.20 लंबी सडक पर उर्दना कोसा सेंटर, दीनदयाल कॉलोनी, आशीर्वाद पुरम कॉलोनी, दीनदयाल अपार्टमेंट, रामपुर, तूरी पारा, चांदमारी और अन्य छोटी बड़ी कॉलोनी और बस्ती पड़ती है। यहां रहने वाले लोग इससे सीधे प्रभावित हो रहे है। धूल के कारण लोगों की दिनचर्या बदल गई है। वे सुबह शाम में उठकर कॉलोनी में घूम भी नहीं पा रहे है। खास बात यह है कि इसी मार्ग के नजदीक केंद्रीय विद्यालय है और स्कूल के बच्चे यहां से आना-जाना करते हैं।

धूल उड़ते-उड़ते घरों में घुस जा रहे हैं, इससे बीमारी की आशंका।

घटिया निर्माण से कई बार रुका काम

सड़क बनने के पहले ही कई बार इस सड़क पर विवाद हो चुका है। सड़क के घटिया निर्माण के कारण आसपास के लोग काम भी रुकवा चुके हैं। फारेस्ट एरिया से सटाकर नाली निर्माण करा दी गई बाद में तोड़ना पड़ा। इससे काम में देर हुई। स्थानीय जनप्रतिनिधि ने तो सड़क को एसडीओ और इंजीनियर के सामने खुदवाकर भी काम रुकवाया था।

एनजीटी के निर्देशों की परवाह नहीं

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के नियमों के अनुसार हर निर्माणाधीन सड़कों पर पानी डालते रहना है ताकि आसपास के लोगों को सड़क से उड़ने वाली धूल से राहत मिले। मगर यहां ठेकेदार दिखावे के लिए ही दिन में एकाध बार पानी डाल देता है। बाकी समय पूरे समय धूल के कण उड़ते रहते है।

सेहत पर बुरा प्रभाव

डॉ. गणेश पटेल बताते हैं कि श्वास नली से शरीर में घुसने वाले धूल के कणों से दमा, सिलिकोसिस, फेफड़ों में कैंसर, इंडस्ट्रियल लंग डिजीज जैसी खतरनाक बीमारियां हो रही है। धूल धूम्रपान नहीं करने वाले को भी कैंसर का शिकार बना देती है। फेफड़े लगातार कमजोर होने का कारण ही है कि जिले में हर साल लगभग 30-40 नए लंग्स कैंसर से पीड़ित मरीज सामने आ रहे हैं।

Raigarh News - chhattisgarh news no spraying of water dirt clogged up on incomplete road people are sick
  • comment
X
Raigarh News - chhattisgarh news no spraying of water dirt clogged up on incomplete road people are sick
Raigarh News - chhattisgarh news no spraying of water dirt clogged up on incomplete road people are sick
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन