पीडीएस चावल सप्लाई में गड़बड़ी का मामला, नान अधिकारियों से सहायक कलेक्टर ने की पूछताछ

Raigarh News - गरीबों को बांटा जाने वाला सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) का चावल बाहर भेजा जा रहा है या नहीं। यह सवाल फिलहाल जांच...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 03:06 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news pds rice supply case complaint from assistant collector of nan officials
गरीबों को बांटा जाने वाला सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) का चावल बाहर भेजा जा रहा है या नहीं। यह सवाल फिलहाल जांच के दायरे में है।

खाद्य विभाग ने शहर के बेलादुला में 54 क्विंटल चावल जब्त किया था। इस चावल के बिल और दस्तावेज फर्जी बताए जा रहे हैं। इसकी जांच तेज हो गई है। बुधवार की दोपहर सहायक कलेक्टर मयंक चतुर्वेदी ने फूड अफसर के बंद कमरे में दो घंटे तक डीएम नान, डिपो प्रभारी, ड्राइवर और एक पीडीएस दुकानदार से बारी-बारी से पूछताछ की।

अफसर पीडीएस चावल सप्लाई की गड़बड़ी की जांच में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते। सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। गुरुवार तक जांच पूरी होने के बाद रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपने के बाद ही आगे की कार्रवाई करने की बात कही जा रही है।

इसमें एक बड़ा घोटाला सामने आने की भी संभावना है। जिसमें डीएम नान, डिपो प्रभारी और ट्रांसपोर्टरों की मिलीभगत उजागर होगी। फिलहाल मामला जांच के दायरे में होने की वजह से अफसर खुल कर कुछ भी नहीं बता रहे।

कलेक्टोरेट में राइस मिलरों का लगा जमावड़ा

बुधवार की दोपहर फूड विभाग में राइस मिलरों का जमावड़ा लगा हुआ था। कलेक्टोरेट परिसर से लेकर खाद्य अधिकारी के चेंबर में मिलर्स खड़े थे। इससे आवाजाही करने में परेशानी हो रही थी। इसे देख सहायक कलेक्टर मयंक चतुर्वेदी भड़क गए। जब उन्हें बताया गया कि मिलर्स हैं और मिलिंग संबंधित काम से आए हैं तो उन्हें कुछ देर बाहर रहने के निर्देश दिए। इसके बाद कमरे को बंद कर पीडीएस चावल सप्लाई गड़बड़ी से संबंधित लोगों से पूछताछ की गई।

शॉर्ट सप्लाई से मैनेज करने की तैयारी

31 दिसंबर को नान के औरदा गोदाम से ट्रक क्रमांक सीजी 04- 2538 में 7 दुकानों का चावल लोड होकर निकला लेकिन नान के अनुसार इसमें से बेलादुला राशन दुकान का 54 क्विंटल चावल सोनमुड़ा दुकान पर डंप कर देने की बात कही जा रही है। गलती को ढंकने के लिए नान के अफसरों ने भी कमाल कर दिया और सोनुमुड़ा राशन दुकान से अतिरिक्त आबंटन वापस लेने के लिए उसके कोटे का फरवरी महीने का चावल डिस्पैच किया तो इसमें से वही 54 क्विंटल चावल बेलादुला भेज दिया। जिसे खाद्य विभाग ने जब्त कर लिया। अब सवाल यह है कि 54 क्विंटल चावल कहां से मैनेज होगा? सूत्रों की मानें तो नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा दुकानों में शार्ट सप्लाई कर इसे रफा दफा करने की तैयारी में थे।

X
Raigarh News - chhattisgarh news pds rice supply case complaint from assistant collector of nan officials
COMMENT