• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • Raigarh News chhattisgarh news purchased bumper paddy not a place to keep near markfed still 7 lakh quintals jam in paddy committees

बंपर धान खरीदी, मार्कफेड के पास रखने की जगह नहीं, अब भी 7 लाख क्विंटल धान समितियों में जाम

Raigarh News - जिले में रिकार्ड तोड़ 46.54 लाख क्विंटल धान की खरीदी हो गई, लेकिन इतने धान को रखने के लिए मार्कफेड के पास जगह नहीं है। ...

Bhaskar News Network

Feb 13, 2019, 05:25 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news purchased bumper paddy not a place to keep near markfed still 7 lakh quintals jam in paddy committees
जिले में रिकार्ड तोड़ 46.54 लाख क्विंटल धान की खरीदी हो गई, लेकिन इतने धान को रखने के लिए मार्कफेड के पास जगह नहीं है।

हालांकि जिले में चार संग्रहण केंद्र बनाए गए हैं, लेकिन संग्रहण केंद्र भी ठसाठस हो चुका है। इसके चलते प्रशासन के पास गंभीर समस्या आ गई है। उपार्जन केंद्रों से भी धान का उठाव नहीं हो पा रहा है। अब भी उपार्जन केंद्रों में 7.35 लाख क्विंटल धान जाम है। अफसरों के मुताबिक अब केवल लोहरसिंह संग्रहण केंद्र में ही जगह खाली है। शेष धान यहीं डंप किया जाएगा। जिले में इस बार बम्पर धान खरीदी हुई है।

जिले के 123 उपार्जन केंद्रों में 46 लाख 54 हजार 140 क्विंटल धान 77 हजार 756 किसानों से खरीदी हुई। जिसमें से तकरीबन 12 लाख 19 हजार क्विंटल धान को जिले के चार संग्रहण केंद्र में रखा गया है तो 27 लाख क्विंटल धान मिलर्स ने सीधे तौर पर समितियों से उठाया है। बरमकेला, सारंगढ़ हरदी, रायगढ़ लोहरसिंह और खरसिया संग्रहण केंद्र में सबसे ज्यादा एक लाख क्षमता का केंद्र केवल लोहरसिंह है। खरसिया, हरदी और बरमकेला संग्रहण केंद्र की क्षमता 25-25 हजार एमटी का ही है।

मिलिंग के लिए जो लक्ष्य था उसे पूरा कर लिया गया है। बरमकेला संग्रहण केंद्र में 15 हजार 930 एमटी, हरदी में 19 हजार 414 एमटी, खरसिया में 27 हजार 274 एमटी और लोहरसिंह में 49 हजार 673 एमटी डंप हो चुका है। अब केवल नोहरसिंह में ही जगह खाली है। इसके कारण टीओ यही का काटा जा रहा है।

चावल जमा नहीं कर रहे मिलर्स

जिले में धान के उठाव के बाद भी राइस मिलर्स चावल जमा नहीं कर रहे हैं। धान उपार्जन केन्द्रों से उठाव एवं कस्टम मिलिंग के बाद नान एवं एफसीआई में पर्याप्त चावल नहीं आया है और राइस मिलरों से अब तक कुल 16 लाख क्विंटल चावल ही जमा हो सका है। 46 लाख क्विंटल धान खरीदी होने के बाद मार्कफेड ने 27 लाख क्विंटल धान का डिलीवरी आर्डर जारी किया है लेकिन इसमें से रायगढ़ जिले के पंजीकृत राइस मिलरों ने करीब 26 लाख 85 हजार क्विंटल का ही उठाव किया है। मिलिंग रेशियो के अनुसार मिलरों को अब तक करीब 20 लाख क्विंटल चावल जमा कर देना था लेकिन मिलरों ने 70 प्रतिशत चावल ही जमा किया है।

X
Raigarh News - chhattisgarh news purchased bumper paddy not a place to keep near markfed still 7 lakh quintals jam in paddy committees
COMMENT