कॉम्प्लेक्स में ग्राहकों के चलने के लिए बने चबूतरे पर दुकानों की अनुमति, सड़क तक निकाला सामान

Raigarh News - कॉम्पलेक्स में निगम ने पार्किंग की व्यवस्था तो की नहीं और अब बरामदे को भी किराए पर चढ़ा कर राजस्व वसूल करना चाहती...

Nov 17, 2019, 07:41 AM IST
कॉम्पलेक्स में निगम ने पार्किंग की व्यवस्था तो की नहीं और अब बरामदे को भी किराए पर चढ़ा कर राजस्व वसूल करना चाहती है। इसकी शुरुआत केवड़ाबाड़ी बस स्टैंड से शुरू हो गई है। यहां 6 दुकानदारों को करीब 100 वर्ग फीट का बरामदे की प्रीमियम राशि लेकर दुकान बनाने की अनुमति देने वाली थी, लेकिन विशेष सम्मेलन में पार्षदों के विरोध के बाद निर्णय नहीं हो सका, लेकिन कॉम्पलेक्स की दुकानों में शटर लग कर तैयार हो गए हैं। सामान सड़कों तक निकाले जा रहे हैं।

संजय मार्केट और जेल परिसर का बरामदे पर भी पैदल चलने की जगह नहीं है। यहां व्यवसायी पूरे बरामदे में अपना समान फैलाकर कर व्यवसाय कर रहे हैं। अधिकांश दुकान दारों ने पक्की दीवार बनाकर रास्ता ब्लॉक कर रखा है। संजय मार्केट में तो बरामदे के साथ सड़क तक समान फैलाकर व्यवसाय किया जा रहा है। कपड़ा व्यवसायी सड़क के बीच रस्सी और बांस पर कपड़े लटका रहे तो गल्ला किराना व्यवसायी बरामदे में शटर और दरवाजे लगाकर रात में ताला जड़ रहे हैं। इन सब की वजह से बाजार में आने वाली पूरी भीड़ बरामदे की बजाय सड़क पर डायवर्ट हो गई है।

छत कमजोर बता कर शुरू किया खेल. कॉम्पलेक्स की छत कमजोर बताकर यह खेल शुरू हुआ था। एक साल पहले विशेष सम्मेलन में केवड़ाबाड़ी बस स्टैंड की दुकानों की छत कमजोर होने पर मरम्मत आदि का प्रस्ताव लाया गया था। इसे सदन से स्वीकृति भी मिल गई, छत की मजबूती के लिए बीम डालकर पिलर खड़े किए जाने थे, लेकिन कुछ समय बाद दीवार तक बन कर तैयार हो गई।

केवड़ाबाड़ी बस स्टैंड स्थित कांप्लेक्स

केवड़ाबाड़ी- कॉम्पलेक्स से लगा हुआ बस स्टैंड और ठीक सामने स्कूल है। इसलिए ट्रैफिक का लोड अधिक रहता है। यहां स्कूल की छुट्टी के समय और बसों के प्रवेश व निकलने के दौरान ट्रैफिक जाम लग जाता है।

जिम्मेदारों की अनदेखी से बढ़ रही हम सब की मुश्किलें

संजय कॉम्पलेक्स- यहां बाइक और सायकल के लिए बनाई गई सड़क पर लोग पैदल चल रहे हैं और कॉम्पलेक्स में बरामदे पर दुकानदार व्यवसाय कर रहे हैं। यही वजह है कि बाजार आने वाले सभी को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

जेल परिसर- यहां तिराहे पर दुकानदारों ने कपड़े बैनर पोस्टर टांग रखे हैं। इससे हर समय दुर्घटना की आंशका बनी हुई है। कॉम्पलेक्स आने वालों को यहां बरामदे की बजाय सड़क पर चलना पड़ता है।

सिर्फ एक पार्षद ने विरोध किया

सलीम नियारिया, सभापति, नगर निगम

केवड़ाबाड़ी कॉम्पलेक्स के प्रस्ताव पर निर्णय नहीं हुआ लेकिन शटर लग गए?

उन्हें पहले मरम्मत और दीवार की अनुमति परिषद से दी गई थी।

सिर्फ मरम्मत की अनुमति दी गई थी, वहां तो शटर भी लग गए अब?

कल इस प्रस्ताव पर निर्णय हो गया है, सिर्फ एक ने पार्षद ने ही विरोध किया था।

एक ने नहीं दो पार्षदों ने विरोध किया था, बैठक समाप्त होते तक निर्णय भी नहीं हुआ था?

निर्णय हो चुका है, उसमे क्या लिखा है, मैं अभी आपको नहीं बता पाऊंगा।

पहले तो बरामदे तक सामान रखते थे, अब तो पार्किंग तक सामान होने से जाम लग रहा है?

यदि व्यवसायी ऐसा कर रहे हैं, तो मैं शासन से उनकी मांग निरस्त करने की अनुशंसा करूंगा।

जेल परिसर कांप्लेक्स

सुधारने की बजाय व्यवस्था बिगाड़ रहे


संजय मार्केट

अतिक्रमण की नई परंपरा शुरू हो रही


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना