विज्ञापन

उत्कल के एसी कोच में चूहों का आतंक, तीन यात्रियों के बैग कुतरे, एसएम को शिकायत

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 05:26 AM IST

Raigarh News - हरिद्वार-पुरी कलिंगा उत्कल एक्सप्रेस के एसी कोच ए-1 में यात्रा कर रहे रहे तीन यात्रियों के बैग चूहों ने कुतर दिए। इस...

Raigarh News - chhattisgarh news tension of rats in utkal39s ac coach three passengers bag sniffing complaint to sm
  • comment
हरिद्वार-पुरी कलिंगा उत्कल एक्सप्रेस के एसी कोच ए-1 में यात्रा कर रहे रहे तीन यात्रियों के बैग चूहों ने कुतर दिए। इस बात से नाराज यात्रियों ने इसकी लिखित शिकायत बिलासपुर स्टेशन मास्टर से की है। साथ ही अब नुकसान की भरपाई व मानसिक क्षतिपूर्ति के लिए उपभोक्ता फोरम जाने की तैयारी कर रहे हैं।

जेएसपीएल के वाइस प्रेसीडेंट पद से रिटायर्ड एमएल गुप्ता वर्तमान में चैतन्य नगर में रहते हैं। वह 31 जनवरी को अपनी प|ी के साथ हरिद्वार पुरी कलिंगा उत्कल एक्सप्रेस पर निजामुद्दीन से रायगढ़ वापसी के लिए बैठे। उन्होंने अपनी टिकट एसी कोच ए-1 में बुक कराई थी। उन्हें 15 और 23 नंबर बर्थ पर अलॉट हुआ था। यात्रा के दौरान पूरी रात कोच में चूहों के आवाज से उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। नुकसान के डर से रात में उठ कर कई बार चूहों को भगाने का भी प्रयास किया, लेकिन जब सुबह अनूपपुर स्टेशन उनकी नजर बैग पर पड़ी तो बैग कई जगह से फटे हुए मिले। चूहों ने कई जगह बूरी तरह बैग को कुतर दिया था। उनके नजदीक दूसरे बर्थ पर यात्रा कर रहे बिलासपुर के व्यवसायी नरेश अग्रवाल व एक अन्य महिला का बैग भी चूहों ने कुतर दिया था। इस बात से नाराज तीनों यात्रियों ने बिलासपुर स्टेशन मास्टर से शिकायत पुस्तिका में अपनी-अपनी शिकायत दर्ज भी कराई। अब वे नुकसान की भरपाई के लिए अपने अधिवक्ता के माध्यम से फोरम में परिवाद दाखिल करने की तैयारी कर रहे हैं।

चूहों को भगाने में रेलवे नाकाम

चूहों के आतंक से यात्रियों को राहत पहुंचाने रेलवे हर साल करोड़ों रुपए की दवा खरीदने का दवा करती है। उनके अनुसार सफाई ठेकेदार प्रत्येक स्टेशनों में दवा का छिड़काव भी करते हैं, लेकिन इसके बावजूद चूहों से यात्रियों को राहत नहीं मिल रही है। रायगढ़ स्टेशन में चूहों ने प्लेटफार्म के निचले हिस्से को खोखला कर दिया है। जिससे प्लेटफार्म की टाइल्स धसने का खतरा बड़ गया है।

डीजे के बैग पर देना पड़ा था, 15 हजार रुपए हर्जाना

सत्र न्यायाधीश अनिल कुमार शुक्ला 11 सितंबर 2014 को पारिवारिक काम से नीमच जा रहे थे। तब चूहों ने उनका सफारी का बैग कुतर दिया था। मामले पर उपभोक्ता आयोग ने इसके लिए रेल मंडल प्रबंधक रतलाम, स्टेशन अधीक्षक नीमच और स्टेशन अधीक्षक रायगढ़ को सेवा में कमी के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए बतौर मानसिक क्षतिपूर्ति 15 हजार रुपए हर्जाना सत्र न्यायाधीश को देने का फैसला सुनाया था।

X
Raigarh News - chhattisgarh news tension of rats in utkal39s ac coach three passengers bag sniffing complaint to sm
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें