आरपीएफ के ऑपरेशन थंडर में पकड़े गए टिकट दलाल, 2 लाख की टिकट जब्त

Raigad News - रेलवे सुरक्षा बल ने बिलासपुर मंडल में टिकट दलालों पर नकेल कसने के लिए थंडर आपरेशन चलाया। सीबीआई के साथ आरपीएफ ने...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:20 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news ticket brokers caught in rpf39s operation thunder seized 2 lakh tickets
रेलवे सुरक्षा बल ने बिलासपुर मंडल में टिकट दलालों पर नकेल कसने के लिए थंडर आपरेशन चलाया। सीबीआई के साथ आरपीएफ ने मंडल में एक साथ कई टिकटिंग की दुकानों को खंगाला। इसमें रायगढ़ में भी कार्रवाई हुई, जिसमें गांजा चौक और पैलेस रोड की दुकानों में छापेमारी कार्रवाई कर 1 लाख 98 हजार रुपए के टिकट जब्त किए गए हैं।

जानकारी के अनुसार पूरे देश भर में एक साथ रेलवे ने ऑपरेशन थंडर के तहत पूरे देश भर में आरपीएफ का टिकट दलालों पर कार्रवाई के लिए अभियान चलाया गया। अभियान में रायगढ़ में पैलेस रोड में पूनम कुमार अग्रवाल की शुभ यात्रा नाम से संचालित ट्रैवल्स फर्म से 34 टिकट कीमत 92 हजार 300 और गांजा चौक स्थित अंकित वर्मा की पप्पी सेलकॉम से 98 हजार रुपए के 40 टिकट जब्त किए गए। टिकट दलाली के लिए उपयोग करने वाले लैपटॉप और प्रिंटर को भी जब्त किया गया। आरोपियों के विरुद्ध 143 रेल एक्ट के तहत कार्रवाई कर जेल भेजा गया है।

आईआरसीटीसी की एंटी फ्रॉड टीम से मिली मदद

कार्रवाई में आईआरसीटीसी की एंटी फ्रॉड टीम ने टिकट बुक करने वाले दलालों के एक्टिविटी की जानकारी दी। पर्सनल आईडी को किस तरह से कमर्शियल उपयोग के लिए यूज किया जा रहा था। यह देखा गया। इसके बाद उनकी लोकेशन ट्रेस कर आरपीएफ को शेयर की गई। इसके बाद आरोपियों के यहां छापेमार कार्रवाई हुई।

लाइसेंस होंगे निरस्त-पर्सनल आईडी लेकर उसे कमर्शियल के रूप में उपयोग करने वालों के लाइसेंस निरस्त करने का निर्णय रेलवे ने लिया है। पर्सनल आईडी से एक तय संख्या तक ही टिकट की बुकिंग की जा सकती है। बावजूद कई लोग इसका बेजा इस्तेमाल कर रहे हैं।

ऐसे लोगों को वेरिफाई करके उनका लाइसेंस आईआरसीटीसी निरस्त करने वाली है।

आरपीएफ की टीम के साथ टिकट दलाल।

इसलिए आरपीएफ नहीं कर पाती कार्रवाई

आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर पर्सनल आईडी बनाकर कोई भी टिकट बुक कर सकता है। एक ही व्यक्ति अलग-अलग मेल और मोबाइल नंबर के जरिए कई आईडी बना सकता है। या फिर अपने परिवार के ही फैमिली मेंबर के नाम से आईडी बनाकर उसका कमर्शियल यूज करता है। ऐसे में टिकट दलाल को पकड़ना मुश्किल हो जाता है। आरोपी जब तक एक ही आईपी एड्रेस से लगातार टिकट न बनाए तो उसे ट्रेस करने में भी दिक्कत होती है। इसी कारण ऐसे टिकट दलालों के विरुद्ध आरपीएफ कार्रवाई कम कर पाती है।

X
Raigarh News - chhattisgarh news ticket brokers caught in rpf39s operation thunder seized 2 lakh tickets
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना