राजनैतिक करिअर बचाने के लिए पूर्व विधायक ने की थी महिला वकील और उसकी बेटी की हत्या

Raigarh News - बहुचर्चित मां-बेटी के डबल मर्डर मामले का शुक्रवार को रायगढ़ एसपी ने खुलासा किया। उन्होंने बतायया कि ओडिशा के...

Feb 15, 2020, 07:31 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news to save political career former mla murdered woman lawyer and her daughter

बहुचर्चित मां-बेटी के डबल मर्डर मामले का शुक्रवार को रायगढ़ एसपी ने खुलासा किया। उन्होंने बतायया कि ओडिशा के पूर्व विधायक अनूप कुमार साय ने राजनीतिक करियर बचाने के लिए महिला वकील अनिता दास और उसकी बेटी की बबली की हत्या की थी। अनिता साय के साथ के साथ लिव इन रिलेशन में थी और वह शादी के लिए लगातार दबाव बना रही थी। साय को यह नागवार गुजरा तो रायगढ़ में लाकर उसने अनिता और बबली की हत्या कर दी। और इसे हादसे का रंग देने की कोशिश की। साय ने बताया कि अनिता लगातार शादी और जायजाद में हिस्से की डिमांड कर रही थी, बेटी को नहीं मारना चाहता था लेकिन राजनैतिक करिअर को बचाने के लिए दोनों की हत्या की। हत्या वाले दिन पूर्व विधायक अनीता दास और बबली को अर्दना स्थित साईं मंदिर में शादी करने की बात कहकर लाया था। सूनी रोड में पहले लोहे की राड़ से दोनों के सिर पर प्रहार कर मार दिया, बाद में शिनाख्त न हो सके इसलिए दोनों के सिरों को कुचल दिया था। आरोपी विधायक ने हत्या में चालक बर्मन टेप्पो के भी शामिल होने के बात स्वीकार की हैं। हत्या में प्रयुक्त आला कत्ल और जिस गाड़ी से यह मर्डर किया गया था, अभी तक पुलिस उसका पता नहीं लगा सकी है। बताते चले कि सात मई 2016 को चक्रधर नगर थाना क्षेत्र के हमीरपुर स्थित जंगली रास्ते में मां शाकंभरी प्लांट सड़क में
एक महिला और एक नाबालिग का कुचला हुआ शव मिला था।

अनिता की आइब्रो से
हुई शिनाख्त


सुनील श्रीवास्तव ने बताया कि रायगढ़ क्राइम ब्रांच की पुलिस ने शिनाख्त के बुलाया। बेटी बबली का शरीर इतना फूल गया था कि मैं पहचान नहीं पाया, जबकि अनीता की पहचान आइब्रो से की थी। दोनों के सिरों को बहुत बेरहमी से कुचला था। 22 मई 2017 को पुलिस ने डीएनए टेस्ट कराया तो बबली की शिनाख्त हो गई। बेटी की मौत से दुखी सुनील ने बताया कि मैने दूसरी शादी भी नहीं की, बेटी की शादी के लिए पैसे भी जमा कर रखे थे। अब सब बेकार साबित हो रहे हैं।

सामने से गाडिय़ां आती देख हड़बड़ी में भागे थे आरोपी

पुलिस कस्टडी में विधायक ने बताया कि शवों को कुचलते समय अचानक से सामने से गाड़ियां आने की आवाज सुनकर हम वहां से निकल गए थे। पुलिस ने बताया कि विधायक ने यह हत्या छत्तीसगढ़ में इसलिए की थी, क्यों कि उनका मानना था कि पुलिस अन्तरराज्यीय मामलों में फंसकर मामले को बंद कर देगी।

चक्रधरनगर थाने पहुंचे पूर्व पति ने फांसी की उठाई मांग


पुलिस के बुलावे पर चक्रधर नगर थाने पहुंचे महिला के पूर्व पति सुनील कुमार श्रीवास्तव ने मीडिया से बातकर, बेटी की हत्या पर दुख व्यक्त करते हुए आरोपी विधायक को फांसी की सजा होने की मांग की। पूर्व पति ने बताया कि नवंबर 2000 में अनीता दास के साथ लव मैरिज की थी। शादी के चार साल बाद ही पारिवारिक झगड़े के चलते तलाक ले लिया था। बेटी के लिए मैं उससे मिलने की कोशिश करता था, लेकिन वह मुझसे बात नहीं करता थी। 2006 में अनीता और विधायक के बीच संबंध की जानकारी िमली। सुनने में आया कि विधायक अनीता को सुंदरपदा में एक फ्लैट में रह रहे है। एक बार बेटी से मिलने की कोशिश की तो विधायक ने मिलने नहीं दिया, जिसके बाद अनीता की सहेलियों के माध्यम से जानकारी लेता
रहता था।

पहले बना पालक बाद में कर दी हत्या

पूर्व विधायक अनूप साय ने बबली का पालक बनकर स्कूल में दाखिला कराया था लेकिन अपने फायदे के लिए पालक ही मासूम का ही कत्ल कर दिया। आरोपी विधायक के पास से दोनों मोबाइल बरामद किए हैं, जिससे हत्या के एक दिन पहले 6 मई 2016 की बातचीत मौजूद हैं। एसपी ने बताया कि पूर्व विधायक के दिल्ली, गोवा सहित अन्य जगह घूमने जाने के भी फोटो बरामद किए हैं। इसके अलावा बाजार में साथ घूमने की तस्वीरें हैं।

X
Raigarh News - chhattisgarh news to save political career former mla murdered woman lawyer and her daughter

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना