• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • Raigarh News chhattisgarh news unemployment in preparation every year in the merit students make the place this time will not go wrong

तैयारी में लापरवाही, हर साल मेरिट में जगह बनाते हैं छात्र, इस बार चूक न जाए जिला

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 03:06 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news unemployment in preparation every year in the merit students make the place this time will not go wrong

परीक्षा परिणाम सुधारने के लिए शुरू कराई थी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग क्लास

हायर सेकंडरी स्कूल लोईंग में पढ़ाई करते छात्र।

ऐसा था पिछले साल का परीक्षा परिणाम

पिछले शैक्षणिक सत्र याने 2017-18 की बोर्ड परीक्षा में जिले से 10वीं कक्षा में कुल 15027 बच्चों ने परीक्षा दी थी जिसमें 3404 फेल हुए। इसी तरह बारहवीं बोर्ड में 20617 परीक्षार्थी बैठे जिसमें 6808 बच्चे फेल हो गए। कुल मिलाकर दसवीं का रिजल्ट 67.3 और बारहवीं बोर्ड परीक्षा में 77.43 फीसदी बच्चे पास हुए। हालांकि पिछले पांच सालों के मुकाबले दोनों कक्षाओं का रिजल्ट बेहतर रहा। 2016-17 में जिले में दसवीं कक्षा में 56 और बारहवीं में 74 फीसदी बच्चे पास हुए थे। इस साल विधानसभा चुनाव होने के कारण स्कूलों में पढ़ाई पूरी नहीं हो पाई है।

एजुसेट के जरिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पढ़ाई

ये किया था: तत्कालीन कलेक्टर मुकेश बंसल की पहल पर जिले के हायर सेकेंडरी स्कूलों को सीधे कलेक्टोरेट से जोड़कर यहां से ऑनलाइन पढ़ाने की पहल शुरू की गई। 2015-16 में पहले साल 9 स्कूलों को एजुसेट के जरिए वीडियो कांफ्रेंस से जोड़कर विशेषज्ञों के माध्यम से पढ़ाया गया। सप्ताह में दो दिन पढ़ाई के साथ बच्चे विशेषज्ञों से सवाल करते।

असर: गांव व शहर के बच्चों में उत्साह। वे पूरे सप्ताह तैयारी करते। वीडियो कॉन्फ्रेंस की क्लास सवाल पूछते।

परिणाम: तीन साल से जिले के 6, बाद में 12-12 बच्चे प्रदेश की टॉप टेन की मेरिट में आए।

अब क्या: इस बार एक बार भी वीडियो कॉन्फ्रेंस वाली कक्षा नहीं लग सकी। इस कारण परिणाम को लेकर संशय होने लगा है।

X
Raigarh News - chhattisgarh news unemployment in preparation every year in the merit students make the place this time will not go wrong
COMMENT