हिंसा, झगड़ा या विवाद से तौबा, ऐसे गांव जहां हत्या, बलवा तो छोड़िए नहीं हुई मारपीट भी

Raigad News - जिले में कुछ गांव ऐसे हैं जहां लंबे अरसे से अपराध दर्ज नहीं हुआ है। पुलिसवालों के लिए ये गांव आदर्श-गांव की गिनती...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:21 AM IST
Raigarh News - chhattisgarh news violence quarrel or dispute such villages where killing rebellion and violence
जिले में कुछ गांव ऐसे हैं जहां लंबे अरसे से अपराध दर्ज नहीं हुआ है। पुलिसवालों के लिए ये गांव आदर्श-गांव की गिनती में आते हैं। इन गांव में अपराध का ग्राफ दूसरे जगहों की तुलना में बेहद कम है।

कई गांव ऐसे हैं जहां जनसंख्या ज्यादा होने के बावजूद अपराध बेहद कम हैं।

आबादी लगभग दो हजार मगर 2003 से शून्य अपराध-कोतरा रोड थाना क्षेत्र में स्थित 2 हजार आबादी का गांव है छोटे रामपुर। रामपुर बस्ती में लगभग 250 से ज्यादा परिवार रहते हैं। पुलिस रिकार्ड के अनुसार इस गांव में वर्ष 2003 में एक मारपीट का मामला आया था। इसके बाद से इस गांव में कोई घटना नहीं हुई है। इसके आसपास के गांवों में आए दिन कोई ना कोई हिंसात्मक घटनाएं होती रही हैं। लंबे समय से अपराध मुक्त गांव होने के पीछे बड़ा कारण यहां के लोगों की मानसिकता है। जो छोटे-मोटे झगड़ों को खुद ही आपस में निपटा लेती है। किसी बड़े विवाद या झगड़े की नौबत ही नहीं आने देते।

गांव में घटनाएं नहीं होने के पीछे कारण

ग्रामीणों और थाना प्रभारियों से बात करने पर पता चला कि हर गांव में वाद-विवाद चोरी जैसी घटनाएं आम होती है। मगर इन गांव के लोग इन्हीं छोटी-छोटी बातों को लेकर बेहद गंभीरता से लेते हैं। छोटे-मोटे विवाद होने पर घर में ही उसे सुलझा लेते हैं। खासकर एक परिवार के मामले घर में ही सुलझा लिए जाते हैं। इस चीज पर भी नजर रखी जाती है कि घर में ही कोई प्रताड़ना का शिकार न हो।

खुद अपनी समस्या सुलझा लेते हैं


ये गांव पुलिस की लिस्ट में आदर्श






X
Raigarh News - chhattisgarh news violence quarrel or dispute such villages where killing rebellion and violence
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना