घरों में दीप जलाकर श्रद्धालु माता से कर रहे जनकल्याण की कामना

Raigarh News - महामारी के कारण देवी मंदिरों में नहीं है भीड़ चैत्र नवरात्र के छठे दिन सोमवार को देवी दुर्गा के छठवें स्वरूप...

Mar 31, 2020, 07:25 AM IST
{महामारी के कारण देवी मंदिरों में नहीं है भीड़

चैत्र नवरात्र के छठे दिन सोमवार को देवी दुर्गा के छठवें स्वरूप माता कात्यायनी की आराधना की गई। कोरोना संक्रमण के कारण चैत्र नवरात्र में मंदिरों में भक्तों के लिए ना तो कोई आयोजन किया जा रहा, ना ही अनुष्ठान। भक्त घरों में शक्ति की उपासना कर रहे हैं। मंदिरों के पट बंद कर पुजारी दुर्गा पाठ कर विपदा को दूर करने के लिए विशेष प्रार्थना कर रहे हैं।

{कोरोना संकट के कारण घरों में हो रही पूजा

आज होगी मां कालरात्रि की पूजा

मां कालरात्रि को यंत्र, मंत्र और तंत्र की देवी कहा जाता है। अगर किसी की कुंडली में सभी ग्रह खराब हो या फिर अशुभ फल दे रहे हों तो नवरात्रि के सातवें दिन उस व्यक्ति को मां कालरात्रि की पूजा अवश्य ही करनी चाहिए, क्योंकि सभी नौ ग्रह मां कालरात्रि के अधीन हैं। मां कालरात्रि को काली मिर्च, कृष्णा तुलसी या काले चने का भोग लगाया जाता है। वैसे नकारात्मक शक्तियों से बचने के लिए आप गुड़ का भोग लगा सकते हैं। इसके अलावा नींबू काटकर भी मां को अर्पित कर सकते हैं।

यदा यदा हि धर्मस्य ग्लानिर्भवति भारत। अभ्युत्थानमधर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम्।। पंडित ब्रजेश्वर मिश्रा कहते हैं इस श्लोक का तात्पर्य है कि जब जब धर्म की हानि होती है, मैं (भगवान) आता हूं, जब जब अधर्म बढ़ता तब तब मैं आता हूं। आज संसार में जिस तरह से अधर्म का वातावरण बन गया वह पूरी तरह से शांत हो गया। कोई किसी को मारने वाला नहीं, किसी का सामान चोरी करने वाला नहीं दिख रहा। हर कोई अपनी जान बचाने के लिए घरों में रहने को विवश है। खासतौर से विश्व के अन्य देशों के लोग। भारत एक आध्यात्मिक देश है, यहां नवरात्र में मंदिरों व घरों में भक्त मां की पूजा कर प्रार्थना कर रहे।

मां भक्तों की सुनती है पुकार: आचार्य राकेश


काेष्टापारा स्थित शीतला मंदिर में विराजमान मां कात्यायनी

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना