समाज की महिलाएं आगे सड़क साफ करती गईं, पीछे-पीछे निकली गुरु नानक की शोभायात्रा

Raigarh News - गुरुनानक जयंती की पूर्व संध्या पर सोमवार शाम 5 बजे पंजाबी समाज ने शोभायात्रा नया गंज जंजघर से निकली और पैलेस रोड,...

Nov 12, 2019, 07:50 AM IST
गुरुनानक जयंती की पूर्व संध्या पर सोमवार शाम 5 बजे पंजाबी समाज ने शोभायात्रा नया गंज जंजघर से निकली और पैलेस रोड, गद्दी चौक, हंडी चौक, सत्तीगुड़ी चौक, स्टेशन चौक, सुभाष चौक, गौरी शंकर मंदिर चौक होते हुए वापस जंजघर पहुंची। इस दौरान पंज प्यारे के सामने सड़क साफ करके महिलाएं चलती रही। विभिन्न समाज के लोगों ने शोभायात्रा का चौक चौराहों में स्वागत किया गया। बच्चों और युवाओं ने गटका का प्रदर्शन किया।

शोभायात्रा के सुबह से शाम तक जंजघर में शबत कीर्तन होता रहा और शाम 8 बजे के शोभायात्रा समापन के बाद जंजघर में अटूट लंगर का भी आयोजन हुआ, जिसमें सिख समाज के अलावा विभिन्न समाज के लोगों ने भी हिस्सा लिया। शोभायात्रा में बड़ी संख्या में महिलाओं ने भागीदारी दी और हंडी चौक में समाज के लोगों ने गुरुनानक जी के 550 वे जयंती को फूलों और लाइट से सजाते हुए ननकाना साहिब पाकिस्तान के गुरुद्वारे को दिखाया गया। यहां पर गुरुनानक जी का जन्म हुआ था। समाज के लोगों ने गुरु ग्रन्थ साहिब को फूलों से सजे ट्रक पर प्रतिष्ठापित किया फिर शोभायात्र निकाली गई।। विशेष इंतजाम किए गए थे।

गटका का प्रदर्शन किया- शोभायात्रा में सिख समाज के बच्चों और युवाओं द्वारा गटका प्रदर्शन किया। तलवार, ढाल और रस्सा वाले गटके से प्रदर्शन किया । गुरु सिंह सभा द्वारा निकली शोभायात्रा घड़ी चौक, सत्ती गुड़ी चौक, सुभाष चौक होकर वापस जंजघर पहुंची। सड़क में गुजर रहे लोगों ने बच्चों के द्वारा पेश किए जा रहे करतबों को देखा।

लंगर में हर समाज के लोग ग्रहण करेंगे प्रसाद

मंगलवार को गुरुनानक जयंती पर जंजघर में शबद कीर्तन एवं लंगर का आयोजन होगा। इस अवसर पर सुबह 10.30 बजे तक शबद कीर्तन चलेगा। इसके बाद लंगर का आयोजन होगा जिसमें विभिन्न समाज के लोग प्रसाद ग्रहण करेगे। इसके पश्चात भी विभिन्न धार्मिक आयोजन गुरुद्वारा में होगा। इस दौरान काफी संख्या में सिख समाज के लोग शामिल होगे।

भास्कर संवाददाता | रायगढ़

गुरुनानक जयंती की पूर्व संध्या पर सोमवार शाम 5 बजे पंजाबी समाज ने शोभायात्रा नया गंज जंजघर से निकली और पैलेस रोड, गद्दी चौक, हंडी चौक, सत्तीगुड़ी चौक, स्टेशन चौक, सुभाष चौक, गौरी शंकर मंदिर चौक होते हुए वापस जंजघर पहुंची। इस दौरान पंज प्यारे के सामने सड़क साफ करके महिलाएं चलती रही। विभिन्न समाज के लोगों ने शोभायात्रा का चौक चौराहों में स्वागत किया गया। बच्चों और युवाओं ने गटका का प्रदर्शन किया।

शोभायात्रा के सुबह से शाम तक जंजघर में शबत कीर्तन होता रहा और शाम 8 बजे के शोभायात्रा समापन के बाद जंजघर में अटूट लंगर का भी आयोजन हुआ, जिसमें सिख समाज के अलावा विभिन्न समाज के लोगों ने भी हिस्सा लिया। शोभायात्रा में बड़ी संख्या में महिलाओं ने भागीदारी दी और हंडी चौक में समाज के लोगों ने गुरुनानक जी के 550 वे जयंती को फूलों और लाइट से सजाते हुए ननकाना साहिब पाकिस्तान के गुरुद्वारे को दिखाया गया। यहां पर गुरुनानक जी का जन्म हुआ था। समाज के लोगों ने गुरु ग्रन्थ साहिब को फूलों से सजे ट्रक पर प्रतिष्ठापित किया फिर शोभायात्र निकाली गई।। विशेष इंतजाम किए गए थे।

गटका का प्रदर्शन किया- शोभायात्रा में सिख समाज के बच्चों और युवाओं द्वारा गटका प्रदर्शन किया। तलवार, ढाल और रस्सा वाले गटके से प्रदर्शन किया । गुरु सिंह सभा द्वारा निकली शोभायात्रा घड़ी चौक, सत्ती गुड़ी चौक, सुभाष चौक होकर वापस जंजघर पहुंची। सड़क में गुजर रहे लोगों ने बच्चों के द्वारा पेश किए जा रहे करतबों को देखा।

पंज प्यारे की अगुवाई में निकली शोभायात्रा में शामिल सिख समाज के लोग।

सिख समाज के शोभायात्रा के कार्यक्रम में विभिन्न संगठन के लोगों ने स्वागत किया। सत्ती गुड़ी चौक में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, स्टेशन चौक पर शहर कांग्रेस कमेटी, सुभाष चौक में अग्रसेन सेवा संघ, गौरीशंकर मंदिर चौक में सिंधी समाज ने स्वागत किया । इसी तरह समाज के लोगों के द्वारा भी हंडी चौक, गद्दी चौक जैसे चौराहों में स्वागत किया गया।

विभिन्न संगठनों ने किया स्वागत

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना