ओएचई लाइन में करंट आने से रेलवे एनआई कार्य कर रहे चार मजदूर झुलसे

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रायगढ़ रेलवे स्टेशन - Dainik Bhaskar
रायगढ़ रेलवे स्टेशन
  • ब्रजराजनगर में तीसरी को यार्ड को जोड़ने के दौरान लिया गया था पावर ब्लॉक
  • घायल मजदूरों को संबलपुर बुरला अस्पताल में कराया गया भर्ती, कई गंभीर

रायगढ़. छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में रेलवे की लापरवाही के चलते 4 मजदूर झुलस गए। ओएचई काम कर रहे मजदूर ठेका श्रमिक हैं। पावर ब्लॉक लेकर एनआई काम किया जा रहा था। इसी दौरान डेड लाइन में अचानक करंट आ गया। इसकी चपेट में मजदूर आ गए और झटके के साथ जलते हुए नीचे जा गिरे। हादसे के बाद काम रोककर मजदूरों को संबलपुर बुरला मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यहां पर कुछ मजदूरों की हालत गंभीर बनी हुई है। बताया जा रहा है कि हादसा सोमवार सुबह हुआ है। 

1) दूसरी दिशा से अंदर घुसे इंजन के कारण करंट आने से हादसे की आशंका

जानकारी के अनुसार, ब्रजराजनगर में तीसरी को यार्ड से जोड़ने का काम किया जा रहा है। इसके लिए पावर ब्लॉक लेकर ओएचई का काम किया जा रहा था। हैदराबाद की कंपनी टावर एंड ट्रैक्शन के मजदूर प्रधान खांडे, सोना राम घाघरी, सुंदर घाघरी एवं सोना चितंबर काम कर रहे थे। सुबह लगभग 9.45 बजे काम के दौरान अचानक मजदूरों को ओएचई वायर से झटका लगा और वे जलकर नीचे गिर गए। मजदूरों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। स्थिति बिगड़ने पर देर शाम संबलपुर बुरला अस्पताल रेफर किया गया।

मजदूरों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। अनुमान है कि काम करने के दौरान दूसरी दिशा से घुसे ट्रेन के इंजन के कारण डेड लाइन में पावर आ गया होगा। इसके चलते हादसा हुआ है। ब्रजराजनगर में हुई दुर्घटना के कारण सभी ट्रेनें विलंब से रायगढ़ पहुंची। 2.30 बजे आने वाली साउथ बिहार एक्सप्रेस शाम 7 बजे रायगढ़ पहुंची। हावड़ा अहमदाबाद एक्सप्रेस भी एक घंटे देरी से रायगढ़ में आई। इसी तरह अप लाइन की दूसरी ट्रेनें भी विलंब से रायगढ़ पहुंची। यार्ड में काम के चलते पहले से ही कई ट्रेनों को निरस्त किया गया है। 

रेलवे की लापरवाही से हुई दुर्घटना को अफसर पूरे दिन छिपाने में लगे रहे। दरअसल ओएचई का काम पावर ब्लॉक करके किया जाता है। इससे ओएचई में पावर नहीं आ सकता। मगर या तो किसी दूसरे लाइन का पावर ब्लॉक नहीं किया गया या फिर किसी दूसरी गाड़ी के इंजन को इस ओर आने दिया गया। घटना के बाद रेलवे के अफसर पूरे दिन मामले के बारे में जानकारी देने से बचते रहे। 

खबरें और भी हैं...