जशपुर  / भट्टीपारा पहुंचा 11 हाथियों का दल, धान के साथ ज्वार की फसल भी रौंदी



भट्‌टीपारा इलाके में पहुंचा हाथियों का दल भट्‌टीपारा इलाके में पहुंचा हाथियों का दल
X
भट्‌टीपारा इलाके में पहुंचा हाथियों का दलभट्‌टीपारा इलाके में पहुंचा हाथियों का दल

  • शहर से लगे पांच गांवों में दहशत का माहौल, लोग मशाल जलाकर कर रहे खेतों की रखवाली
  • वन विभाग ने जारी किया अलर्ट, तेजी से कट रहे जंगल बन रहे वन्य जीव-मानव संघर्ष का कारण 

Dainik Bhaskar

Sep 20, 2019, 12:11 PM IST

पत्थलगांव. शहर के आसपास कस्बे में इन दिनों 11 हाथियों का दल विचरण कर रहा है। दल में 9 हाथी, एक हथिनी और दो बच्चे हैं। हाथियों के आने से कोडासिया, मुडागांव, राजपुर, कुकरगांव, भट्टीपारा के लोगों में दहशत है। भट्टीपारा में हाथियों ने किसानों ने धान, मक्का व ज्वार की फसलों को नुकसान पहुंचाया है। हाथियों के समूह की गांवों के पास आमद को देखते हुए वन विभाग की ओर से अलर्ट जारी कर दिया गया है। 

बीडीसी बोले- हाथियों को रोकने के लिए वन विभाग के पास संसाधनों की कमी

  1. गाला के बीडीसी अजय राजपूत ने बताया कि हाथियों दल द्वारा अपनी भूख मिटाने के लिए जंगलों से निकलकर गांवों की ओर आते हैं। वन विभाग के पास हाथियों को रोकने के लिए संसाधनों की कमी है। हाथियों से बचने लोग रात में खेतों मे मशाल जलाकर रखवाली कर रहे हैं। इस दौरान इन्हें अपनी जान-मान की चिंता बनी रहती है। हाथियों का दल कोडासिया के जंगलों से बाहर निकलकर कुकरगांव के कटहलपारा में देखा गया। 

  2. वन परिक्षेत्राधिकारी कृपासिंधु पैंकरा ने बताया कि हाथी एवं मनुष्य की लडाई का प्रमुख कारण जंगलों का बर्बाद होना है। वन क्षेत्रों के कम होने से हाथी खाने के लिए गांवों की ओर आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि जंगल सिर्फ पेड़ों की चोरी छिपे काटने से बर्बाद नही हो रहे हैं, जंगलों की बर्बादी का एक मुख्य कारण अल्प वर्षा एवं पौधों का वृक्ष ना बनना भी है। पहले हाथी एक जंगल से दूसरे तक ही विचरण करते थे, लेकिन अब इन्हे जंगलों में प्रर्याप्त भोजन नहीं मिलने के कारण वे गांवों में आकर फसल एवं घर मे रखे अनाज को खाकर अपनी भूख मिटाते हैं। 

  3. मुंडाडीह भगोरा क्षेत्र में भी हाथियों का आतंक 

    अंकिरा क्षेत्र में लंबे समय से हाथियों की मौजूदगी से लोगों में आतंक का माहौल है। 25-30 हाथियों का दल रोज किसी न किसी किसान की फसल बर्बाद कर रहे हैं। बुधवार रात 25-30 हाथियों का दल ने कोरंगामाल के आश्रित ग्राम लीमडीह, अमातपारा, कालोपारा के सैकडों किसानों के फसल को चट कर रौंद डाला। मुंडाडीह एवं भगोरा में भी हाथियों ने कई किसानों की फसल को नुकसान पहुंचाया है। कोंरगामाल के ग्रामीणों की सूचना में वन विभाग की टीम मौके पर पंहुची, लेकिन वाहन में ही बैठकर हार्न बजाकर भगाने को प्रयास किया। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना