हादसा / बस्ती में घुसे हाथी ने महिला व उसकी दो बेटियों को सूंढ़ से उठाकर पटका, इलाज के दौरान किशोरी की मौत



प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • दरवाजा तोड़ककर हाथी खा रहा था उबालकर रखा धान
  • परिवार वालों ने शोर मचाया तो भड़के हाथी ने किया हमला
     

Dainik Bhaskar

Jun 01, 2019, 12:33 PM IST

जशपुरनगर. एक हाथी ने एक ही परिवार के 3 सदस्यों पर शुक्रवार की रात में हमला कर दिया। स्थानीय लोगों की मदद से हमले में घायल एक महिला और उसकी दो बेटियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। उपचार के दौरान 17 साल की किशोरी की मौत हो गई। जबकि महिला और उसकी 7 साल की दूसरी बेटी घायल है। 


बादलखोल अभयारण्य से लगे रामसमा सिकटा टोली गांव में शुक्रवार की रात अचानक एक जंगली हाथी आ गया। बस्ती में पहले उसने कटहल के पेड़ पर लदे पके कटहल खाए। उसके बाद सुखदेव के मकान के दरवाजे को हाथी ने तोड़ दिया। हाथी कमरे में फैला कर रखे उबले धान को खा रहा था। उसना चावल बनाने के लिए इस परिवार ने धान उबालकर एक कमरे में सुखाया था। बताया जाता है कि हाथी इसकी गंध पाकर ही इस मकान तक पहुंचा था। 


घर में थी महिला और उसकी दो बेटियां 
रात में सुखदेव अपनी दुकान में सोने चला गया था। घर पर उसकी पत्नी मुन्नी बाई, 17 साल की बेटी ललिता और 7 साल की बेटी वर्षा थी। तीन सो रहे थे। हाथी के आने की आवाज सुन वर्षा की नींद खुली और उसने शोर मचाना शुरू कर दिया। मुन्नी व उसकी बड़ी बेटी भी जग गईं। 


तीनों को सूंढ़ से उठाकर पटक दिया
महिला दोनों बेटियों के साथ घर के पिछले दरवाजे से भागी। तभी हाथी पीछे की ओर आ गया। उसने महिला को सूढ़ से उठाकर एक बार पटक दिया। अपनी मां को बचाने के लिए दोनों बेटियां रूकी तो हाथी आगे बढ़ा और दोनों बहनों को सूंढ़ में लपेट लिया। हाथी ने इस बार सूंढ़ ज्यादा उठाए बिना ही इन्हें जमीन पर पटका। इस बीच 7 वर्षीय वर्षा वहां से उठकर भाग निकली। भागने के दौरान वह एक गड्‌ढ़े में गिर गई। हाथी ने 17 वर्षीय ललिता को दोबार सूंढ़ से उठाकर पटका। 


ग्रामीणों ने हाथी को बस्ती से बाहर खदेड़ा 
इस दौरान चीख-पुकार सुनकर ग्रामीण इकट्‌ठा हो गए और टाॅर्च की रौशनी मारकर हाथी को बस्ती से बाहर खदेड़ा। घायल महिला व उसकी दोनों बेटियों को अस्पतला पहुंचाने संजीवनी एंबुलेंस बुलाया गया।सूचना के दो घंटे बाद रात करीब 1 बजे एंबुलेंस पहुंुची। तीनों को बगीचा अस्पताल पहुंचाया गया। ललिता की इलाज के दौरान मौत हो गई। दो दिन पहले तपकरा वन परिक्षेत्र में शादी समारोह से वापस लौट रहे बीएसएफ के रिटायर्ड जवान को हाथी ने कुचलकर मारा था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना