रायगढ़  / तालाब पर नहाने आई महिला का नग्न अवस्था में मिला शव, पति व साथियों पर हत्या का शक

थाने में जानकारी देते परिजन। इनसेट में गंगोत्री (फाइल फोटो) थाने में जानकारी देते परिजन। इनसेट में गंगोत्री (फाइल फोटो)
X
थाने में जानकारी देते परिजन। इनसेट में गंगोत्री (फाइल फोटो)थाने में जानकारी देते परिजन। इनसेट में गंगोत्री (फाइल फोटो)

  • भूपदेवपुर क्षेत्र के गांव देवरी का मामला, कहीं और हत्या करने के बाद फेंका गया शव
  • मृतका के मायकेवालों का आरोप: संतान नहीं होने से पति करता था उसकी पिटाई 

दैनिक भास्कर

Dec 06, 2019, 11:07 AM IST

रायगढ़. छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में देवरी गांव में बुधवार को तालाब पर नहाने गई महिला रहस्यमय ढंग से लापता हो गई। अगले दिन गुरुवार सुबह तालाब और घर से कुछ दूरी पर उसका नग्न अवस्था में शव मिला। इस संबंध में महिला के परिजनों ने पति पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि संतान नहीं होने के चलते पति अक्सर महिला की पिटाई करता था। पुलिस को भी इस मामले में महिला के पति और उसके साथियों पर संदेह है। फिलहाल  हत्या का मामला दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। 

पति ने कहा मजदूरी करने के लिए गया था बाहर, ग्रामीण बोले-नहीं गया 

देवरी गांव निवासी मनोहर बघेल की पत्नी गंगोत्री (25) का शव घर से कुछ दूर स्थित एक नाली में झाड़ियों के बीच पड़ा मिला। महिला के पति ने पुलिस को बताया कि वह सुबह काम पर चला गया था। मां तिहारिन बाई व भाई सुनील कासा में धान की कटाई करने चले गए थे। उस दौरान गंगोत्री गांव के तालाब में नहाने के लिए गई थी। काफी देर बाद जब वह घर नहीं पहुंची तो उसकी बहन कौशल्या ने ढूंढने का प्रयास किया। जब नहीं मिली तो उसे जानकारी दी थी। देर रात उसने पुलिस को पत्नी के लापता होने की सूचना दी।

वहीं दूसरी ओर महिला का शव मिलने व मायके पक्ष के आरोपों के बाद पुलिस ने पति मनोहर व देवर सुनील और गांव के ही चुगला बंजारा से पूछताछ कर रही है। पुलिस को पति ने बताया था कि वह बुधवार सुबह मजदूरी करने के लिए गया था, लेकिन ग्रामीणों ने पूछताछ में इस बात से इनकार किया है। महिला का बुधवार शाम तक तालाब के आस पास शव न मिलने से जाहिर है कि हत्या कहीं और की गई। इसके बाद हत्यारों ने शव को नाले में फेंका है। पुलिस अफसरों की मानें तो हत्या एक व्यक्ति द्वारा नहीं की गई। 

अमनडुला थाना मालखरौदा निवासी मृतका की मां पदुम बाई लहरे ने पुलिस को बताया कि बेटी की शादी को आठ वर्ष हो गए है। शादी के बाद से अब तक उसे कोई संतान नहीं हुई है। इस बात के ताने देने के साथ ही दामाद मनोहर, सास तिहारिन बाई,ससुर हीरालाल बघेल, देवर सुनील तथा ननद कौशल्या उसे प्रताड़ित करते थे। 2 वर्ष तक गंगोत्री मायके में रही। पुलिस इन बिंदुओं पर जांच कर रही है। 

गंगोत्री के गायब होने की खबर पति मनोहर व उसकी बहन कौशल्या ने उसके मायके अमानडुला निवासी भाई श्रीकांत लहरे को दी थी। इसके बाद मनोहर, उसके चाचा कौशल, फेकन लाल, भरत लाल रात 10 बजे के करीब थाने जाकर गुमशुदगी दर्ज कराई थी लेकिन पुलिस ने रात में खोजबीन शुरू नहीं की। गांव के लोगों का दबी जुबान में कहना है कि यदि पुलिस रात में सक्रिय होती तो शायद महिला की हत्या न हो पाती। सुबह आठ बजे के करीब पुलिस के पहुंचने से पहले महिला का शव नाले में पड़ा मिल गया। 

पोस्टमार्टम के लिए शव भेजा गया है, दुष्कर्म की बात पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कही जा सकती है। पति व उसके साथियों से पूछताछ की जा रही है। हत्या को लेकर कई अहम सुराग हाथ लगे है, जलद ही खुलासा किया जाएगा।
उत्तम साहू, टीआई 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना