विज्ञापन

धोखाधड़ी  / होम डिलीवरी किए बिना ही उपभोक्ताओं से एक सिलेंडर पर 21.12 रुपए ले रही हैं गैस एजेंसियां

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 10:48 AM IST


Raigarh news Gas agencies are charging Rs.12.12 on a cylinder without the home delivery
X
Raigarh news Gas agencies are charging Rs.12.12 on a cylinder without the home delivery
  • comment

  • ग्रामीण अंचलों में ज्यादा शिकायत, कुकिंग गैस एजेंसियों के संचालक मनमानी राशि वसूल रहे 
  • घर तक गैस सिलेंडर पहुंचाने पर 795 रुपए, जबकि सिलेंडर लेने आने वाले उपभोक्ताओं पर कोई चार्ज नहीं

रायगढ़. जिले की एलपीजी गैस एजेंसियां मनमाना शुल्क वसूल रही हैं। शहर व ग्रामीण इलाकों में एजेंसी होम डिलेवरी किए बगैर ही उसका शुल्क वसूलती है। रायगढ़ के अलावा खरसिया, पुसौर ग्रामीण क्षेत्र के गैस वितरकों से ग्राहकों को सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है। कुकिंग गैस कंपनियों के पदाधिकारियों के अनुसार, गैस वितरकों को ग्राहकों से एक सिलेंडर रिफिल घर तक पहुंचाने के लिए 795 रुपए लेने हैं। एजेंसी से ग्राहक के घर की दूरी 15 किलोमीटर तक गैस सिलेंडर पहुंचाने के लिए कैरिज चार्ज के नाम पर 21.12 रुपए जुड़े हुए हैं। एजेंसी तक आकर सिलेंडर लेने वाले उपभोक्ताओं से कैरिज चार्ज नहीं लेना है। 

गैस सिलेंडर लेने से पहले उपभोक्ता इन बातों का रखें ध्यान

  1. गैस सिलेंडर लेने से पूर्व गैस उपभोक्ताओं को इन बातों का ध्यान रखना होगा। गैस की होम डिलिवरी के समय रसीद में अंकित राशि के अतिरिक्त किसी प्रकार का पैसा वितरक को न दें। गैस सिलेंडर लेने से पूर्व सिलेंडर (15+14.2=29.2 केजी) का वजन कराएं। क्योंकि गैस होम डिलिवरी के दौरान गैस पहुंचाने वाले व्यक्ति के पास वेट मशीन होना जरूरी है। सुरक्षा की दृष्टि से गैस सिलेंडर लीक होने की जांच कराएं। वहीं अगर उपभोक्ता खुद जाकर एजेंसी से गैस की सिलेंडर लाते हैं, तो रसीद में अंकित राशि से कैरिज चार्ज का वापस लें। 

  2. ग्रामीण इलाकों में ज्यादा परेशानी 

    जिले के खरसिया, पुसौर क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्र के गैस वितरकों से ग्राहकों को सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है। गैस होम डिलेवरी के नाम पर वितरक ग्राहकों से मनमाना पैसा वसूल रहे हैं। इसका खुलासा तब हुआ, जब खरसिया क्षेत्र के अंजोरीपाली, मौहापाली, मदनपुर, महका, तेलीकोट, तुर्रीभाटा और पुसौर के गढ़उमरिया, केसला, डुमरमुड़ा के कई उपभोक्ताओं ने गैस एजेंसियों के संचालक पर मनमानी राशि वसूलने का आरोप लगाया।

  3. ग्रामीणों ने कहा कि गैस एजेंसियों द्वारा मात्र दस किलोमीटर की दूरी पर गैस सिलेंडर पहुंचाने के नाम पर ग्राहकों से रसीद में अंकित राशि के अलावा 20-30 रुपए अधिक वसूली जाती है। जब ग्राहक इसका विरोध करते हुए खुद सिलेंडर लाने एजेंसी पहुंच जाते हैं, तो उन्हें गैस नहीं होने का बहाना बनाकर चार-पांच दिनों तक दौड़ाया जाता है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के हितग्राहियों को भी एजेंसी के संचालक द्वारा मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जाता है। इससे योजना प्रभावित हो रही है। 

  4. जिले में 32 एलपीजी गैस एजेंसी 

    पीएम उज्ज्वला योजना शुरू होने के बाद जिला प्रशासन द्वारा शहर समेत कस्बों में 32 गैस एजेंसियों के माध्यम से गैस सिलेंडर उपलब्ध करा रही है। पहले 26 एजेंसी थीं जो अब बढ़ चुकी हैं। इंडेन और एलपीजी दो कंपनियों की एजेंसी चल रही हैं। ये एजेंसी संचालक गांव गांव में अपना एजेंसी संचालित कर रहे हैं। दोनों कंपनी के कथित कर्मचारियों द्वारा गांव-गांव जाकर गरीबों से फार्म देकर कागजी कार्रवाई पूर्ण करने के लिए रुपए वसूले जा रहे। वहीं घर पहुंचा कर सिलेंडर देने की बात पर वसूली का खेल जारी है। 

  5. एजेंसी संचालक अगर ऐसी मनमानी कर रहे हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे। होम डिलीवरी दिए बगैर कोई संचालक पैसा नहीं ले सकता। इस मामले की जांच कराई जाएगी।

    जीपी राठिया, खाद्य अधिकारी 

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन