विज्ञापन

मनमानी / छात्राओं ने केला चोटी नहीं बनाई, कार्मेल स्कूल प्रबंधन ने परीक्षा से बाहर निकाला

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2019, 11:19 AM IST


raigarh news school expelled girl students on her dressing and hair style
X
raigarh news school expelled girl students on her dressing and hair style
  • comment

  • परिजनों ने की जिला शिक्षाधिकारी से शिकायत,  डीईओ ने कहा- मनमानी नहीं चलेगी 
  • कलेक्टर के निर्देश पर तीन सदस्यीय जांच टीम गठित, आज स्कूल पहुंचकर जांच करेगी 

रायगढ़. कार्मेल प्रबंधन द्वारा तय चोटी का डिजाइन (केला चोटी) नहीं बनाने पर  कुछ छात्राओं को परीक्षा हॉल से बाहर निकाल दिया गया था। इस मामले में प्रबंधन की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मामले की जांच के लिए कलेक्टर यशवंत कुमार के निर्देश पर डीईओ ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी बना दी है। कमेटी को जांच कर तीन दिनों के भीतर रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है।

तीसरी कक्षा की 15 छात्राओं को क्लास से बाहर आधे घंटे खड़ा रखा 

  1. कार्मेल स्कूल में होम एक्जाम शुक्रवार को शुरू हुए। सुबह 8 बजे परीक्षार्थी स्कूल पहुंचे और अपने-अपने क्लासरूम में बैठ गए। क्वैश्चयन पेपर बंट चुका था। बताया जाता है कि तीसरी कक्षा की लगभग 15 छात्राओं ने सामान्य चोटियां बनाई थी जबकि दूसरी छात्राओं ने प्रबंधन के अनुसार केला चोटी बनाई थी।

  2. क्वैश्चन पेपर बंटने के बाद छात्राएं उत्तर लिखने में व्यस्त थीं इसी बीच टीचर्स ने परीक्षण किया। जिन छात्राओं ने केला चोटी नहीं बनाई थी उनसे क्वैश्चन पेपर छीनकर उन्हें परीक्षा हॉल से बाहर कर दिया गया। बाहर छात्राओं को करीब आधे घंटे तक खड़ा भी कराया गया।

  3. इस मामले में पालकों ने जिला शिक्षाधिकारी से शिकायत कर दी। कलेक्टर तक भी मामला पहुंच गया। कलेक्टर के निर्देश पर शिक्षा विभाग ने जांच कमेटी का गठन किया है। डीईओ आरपी आदित्य ने कहा स्कूल प्रबंधन की मनमानी नहीं चलने देंगे। जांच रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी। कार्मेल के खिलाफ इस तरह शिकायतें पहले भी आती रही हैं। 

  4. अतिरिक्त समय नहीं दिया 

    स्कूली छात्राओं को आधे घंटे तक बाहर खड़ा कराया गया था। इसके बाद स्कूल की टीचर्स दूसरे क्लासों में जाकर बारी-बारी से छात्राओं की चोटी की चेकिंग कर रहे थे। कुछ शिक्षिकाओं ने बच्चों पर तरस खाकर उन्हें बुला लिया। छात्राएं जब अंदर पहुंची तो उन्हें क्वेश्चन पेपर हल करने के लिए अतिरिक्त समय भी नहीं दिया गया। 

  5. बयान लिए जाएंगे 

    अभिभावकों की शिकायत पर तीन सदस्यीय जांच टीम का गठन किया गया है। जांच दल में सिर्फ महिलाएं शामिल हैं। मंगलवार को स्कूल में जांच की जाएगी। छात्राओं से बयान लिए जाएंगे। शिकायत सही मिलने पर सख्त कार्रवाई करेंगे। स्कूल प्रबंधन की ऐसी मनमानी नहीं चलने देंगे।

    आरपी आदित्य, डीईओ 

     

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन