--Advertisement--

12 बड़े नालों पर ढलाई कर बनाई जाए सड़क तो आधे शहर में सुधरेगा ट्रैफिक, मिलेगी जाम से राहत

Raigarh News - बड़े नालों के ऊपर पर जिला प्रशासन और निगम मिलकर सड़क बनाए तो आधे शहर की ट्रैफिक डायवर्ट की जा सकती है। इससे 50 से अधिक...

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 02:56 AM IST
Raigarh News - road to be constructed on 12 big drains road will improve in half city traffic will get relief from jam
बड़े नालों के ऊपर पर जिला प्रशासन और निगम मिलकर सड़क बनाए तो आधे शहर की ट्रैफिक डायवर्ट की जा सकती है। इससे 50 से अधिक छोटे-बड़े मोहल्लों की दूरियां भी कम हो जाएंगी। निगम क्षेत्र में ऐसे कुल बड़े 12 नाले हैं, जिन पर यह संभव है। केलो नदी के दाएं हिस्से में 7 और बाएं हिस्से में 5 नाले है। इन सभी नालों पर बेहतर ड्रेनेज सिस्टम और सड़क की योजना तैयार कर आसानी से ट्रैफिक की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

वर्तमान में निगम क्षेत्र के बीच का हिस्सा सघन और संकरा होने के कारण अधिकांश सड़कों पर पूरे दिन रुक-रुक कर जाम की स्थिति बनती है। इस मुसीबत से निपटने जिला प्रशासन और ट्रैफिक पुलिस के दर्जन भर उपाय फेल हो चुके हैं। निगम के पास भी इसके लिए कोई विशेष प्लानिंग नहीं है। ऐसे में प्रदेश के दूसरे बड़े शहरों को फॉलो कर हम भी रायगढ़ की ट्रैफिक व्यवस्था में बड़ा सुधार ला सकते हैं।

भास्कर लगातार

नालों पर सड़क सीधे इन मोहल्लों से जुड़ेगी

कार्मेल के जाम से छुटकारा

ढिमरापुर रोड पर कार्मेल स्कूल के सामने लगने वाली जाम से राहत पाने जिला प्रशासन, नगर निगम और ट्रैफिक पुलिस अब तक कई उपाय किए, लेकिन इस मुसीबत से लोगों को छुटकारा नहीं मिला। रामभाठा से मैरीन ड्राइव तक नाले की चौड़ाई अधिक है, इसलिए इस पर सड़क निर्माण किया जा सकता है। यदि ऐसा हुआ तो कार्मेल स्कूल को दूसरे रास्ते का विकल्प मिल सकेगा।

भगवानपुर, ईशा नगर , दीनदयाल कॉलोनी, आशीर्वाद कॉलोनी, इंदिरानगर, जोगीडीपा, चांदनी चौक, मेरिन ड्राइव, रियापारा, धोबीपारा, बापू नगर, केवड़ा बाड़ी बस स्टैंड वहीं केलो की दूसरी तरफ मोदी नगर, चिरंजीव दास नगर से लोइंग रोड तक, मोहदापारा से एसईसीएल कार्यालय और तीसरा चिरंजीव दास नगर से मेडिकल कॉलेज तक नई सड़क मिलेगी। इन सड़कों के नर्माण हो जाने से लोगों को समय व ईंधन की बचत होगी।

अतिक्रमण सबसे बड़ी मुसीबत

शहर के नालों पर हुए अतिक्रमण इस काम में बड़ी मुसीबत का कारण बन सकती है। अधिकांश नालों के किनारे बसे लोग अतिक्रमण कर अवैध निर्माण कर रहने लगे हैं। केवड़ा बाड़ी बस स्टैंड में सरस्वती स्कूल भवन, रामभाठा मेें आवासीय घर, रियापारा धोबीपारा में भी लोगों के घर का आधा हिस्सा नालों तक पहुंच चुका है।

रायपुर, बिलासपुर में सफल

रायपुर में केनाल लिंकिंग रोड नहर के ऊपर बनाई गई सड़क का नाम है। यह शहर के बीच एक बड़े हिस्सों को जोड़ती है, जिसमें 30 से अधिक मोहल्ले की दूरी कम कर दी है। दूसरी सड़कों पर वाहनों की संख्या भी कम हो गई है। इसी तरह बिलासपुर में ज्वाली पुल, मिशन हॉस्पिटल, मध्यनगरी चौक, तेलीपारा, जूनीलाइन जैसे आधा दर्जन से अधिक नालों पर से वाहन डायवर्ट हो रहे हैं।





मुख्य मार्गों में वाहनों का दबाव कम हाेने से सड़क हादसों में भी कमी आई है।

शासन से मदद मिले तो करेंगे


इससे बेहतर विकल्प है

यहां नाले व्यवस्थित नहीं है, जगह-जगह अतिक्रमण भी है। इसलिए नालों के ऊपर सड़क बनाना थोड़ा मुश्किल जरूर है। यदि जिला प्रशासन और निगम बेहतर प्लानिंग के साथ यह काम करे तो ट्रैफिक कम करने के लिए इससे बेहतर विकल्प नहीं है, हमारे पास लेकिन नालों की सफाई की व्यवस्था अव्वल दर्जे की होनी चाहिए। मनमोहन सिंह, आर्किटेक्ट रायगढ़

Raigarh News - road to be constructed on 12 big drains road will improve in half city traffic will get relief from jam
X
Raigarh News - road to be constructed on 12 big drains road will improve in half city traffic will get relief from jam
Raigarh News - road to be constructed on 12 big drains road will improve in half city traffic will get relief from jam
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..