अपनाया / जंगल में मिले बच्चे को स्पेनिश दंपती ने गोद लिया



बालक को गोद लेने वाले स्पेनिश दंपती। बालक को गोद लेने वाले स्पेनिश दंपती।
X
बालक को गोद लेने वाले स्पेनिश दंपती।बालक को गोद लेने वाले स्पेनिश दंपती।

  • कारा के माध्यम से स्पेनिश दंपती ने गोद लेने का दिया था आवेदन, बोले- यह हमारे लिए गाॅड गिफ्ट
  • मातृछाया संस्था का यह पहला बच्चा, जो अब विदेश में पलेगा

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 01:45 AM IST

अंबिकापुर. शहर के नवापारा स्थित एक संस्था में रहने वाले ढाई साल के बच्चे को स्पेन के नि:संतान दंपती द्वारा गोद लेने से उसे माता-पिता का नाम मिल गया। स्पेनिश दंपती अंटोनियो 36 वर्ष और मारिया 32 ने कारा के माध्यम से बच्चे को गोद लेने के लिए इच्छा जताई थी और कोर्ट में आवेदन भी लगाया था। प्रक्रिया पूरी होने के बाद एक दिन पहले कोर्ट ने बच्चे को स्पेनिश दंपती को गोद देने के आदेश दिए थे। इससे दंपती की खुशी का ठिकाना नहीं है।

 

शुक्रवार को जब मातृछाया संस्था में बच्चे को लेकर जाने उन्होंने गोद में लिया तो वे खुशी से झूम उठे। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए गॉड का गिफ्ट है और इसे पूरे जहान की खुशियां देंगे, बच्चे को खूब पढ़ाएंगे। इससे पहले संस्था द्वारा बालक को सौंपने से पहले स्पेनिश दंपती की गोद-भराई की रस्म निभाई गई और फिर बच्चे के साथ दंपती को विदाई दी गई। बच्चे को जब स्पेनिश दंपती लेकर निकले तो एक पल के लिए सभी की आंखें भी नम हो गईं। संस्था का यह पहला बालक है, जिसे किसी विदेश दंपती ने गोद लिया है।

 

बच्चे का पासपोर्ट और वीजा बनवाने की प्रक्रिया चल रही है। संस्था के अनुसार बच्चा अपने माता-पिता के साथ एक-दो दिन में स्पेन चला जाएगा। स्पेनिश दंपती ने कहा कि इसे खूब पढ़ाएंगे।  जिस बच्चे को स्पेनिश दंपती ने गोद लेकर अपना नाम दिया है, वह करीब डेढ़ साल पहले जिले के लुंड्रा थाना अंतर्गत रघुनाथपुर के जंगल में मिला था। तब उसकी उम्र करीब 9 माह थी। बाल कल्याण समिति के आदेश पर बच्चे को मातृछाया नामक संस्था में रखा गया था। यहां वह करीब डेढ़ साल रहा।

 

मातृछाया के पदाधिकारियों से चर्चा कर कोर्ट में लगाया था आवेदन

बच्चे को गोद लेने के लिए स्पेन के दंपती ने भारत की कारा (सेंट्रल एडाप्शन रिसोर्सेज एजेंसी) संस्था के माध्यम से इच्छा जताई थी। यह संस्था एडाप्शन के लिए बच्चों की जानकारी वेबसाइट पर देती है। दंपती ने नवंबर 2018 में अंबिकापुर आकर मातृछाया के पदाधिकारियों से चर्चा के बाद कोर्ट में गोद लेने के लिए आवेदन लगाया था।

 

23 मई को देखिए सबसे तेज चुनाव नतीजे भास्कर APP पर 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना