--Advertisement--

कोर्ट / पांच लाख के चेक बाउंस में कारोबारी पर 10 लाख जुर्माना, एक साल की कैद भी



सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।
X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
  • कारोबारी ने दोस्त से कर्ज लिया था, आठ साल तक पैसों के लिए चक्कर कटवाता रहा
  • दोस्त की मौत होने पर उसकीपत्नी को चेक दे दिया, जबकि उसके खाते में पैसे नहीं थे

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 11:53 PM IST

रायपुर. पांच लाख के चेक बाउंस के मामले में कोर्ट ने एक कारोबारी को 1 साल की सजा देने के साथ ही दस लाख जुर्माना देने का आदेश दिया है। कारोबारी ने दोस्त से करीब साढ़े पांच लाख कर्ज लिया था। आठ साल तक वह पैसों के लिए चक्कर कटवाता रहा। इस बीच दोस्त की मौत हो गई। इसके बाद कारोबारी ने दाेस्त की पत्नी को चेक दे दिया, जबकि उसके खाते में पैसे नहीं थे।

 

चेक बाउंस होने के बाद कारोबारी की पत्नी ने कोर्ट में केस दायर किया। न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी डाॅ. सुमीत सोनी ने सुनवाई के बाद शुक्रवार को फैसला सुनाते हुए एक साल की कैद के साथ दस लाख जुर्माना देने का आदेश दिया। 

 

शंकर नगर के पंकज वर्मा की बूढापारा के नीलेश खांडेकर से गहरी दोस्ती थी। खांडेकर का ऑटो पार्ट्स का कारोबार है। उसने 2010 में पंकज से 4 लाख 85 हजार कारोबार के लिए  उधार लिए। छह महीने बाद उसने फिर अलग-अलग किश्तों में पैसे लिए। दोस्ती होने के कारण पंकज पैसे देता रहा। इस बीच उसका कारोबार सेट हो गया, लेकिन उसने रकम नहीं लौटायी।

 

इस दौरान पंकज ने कई बार उससे अपने पैसे मांगे, कारोबारी उन्हें आजकल कहकर घुमाता रहा। अचानक पंकज की मौत हो गई। कुछ दिनों बाद पंकज की पत्नी अंजुला रकम के लिए कारोबारी खांडेकर के पास गई। आरोपी ने उन्हें भी टालने की कोशिश की, जब अंजुला ने दबाव बनाया तो आरोपी चेक जारी किया। वह बाउंस हो गया।

 

अंजुला ने कहा कि अगर उन्होंने पैसे नहीं लौटाए तो वह कोर्ट जाएंगी। उसके बाद कारोबारी ने उन्हें  फिर चेक दिया। वह भी बाउंस हो गया। दोनों चेक के डिटेल के साथ अंजुला ने कोर्ट में परिवाद दायर किया। इसी मामले पर शुक्रवार को कोर्ट ने फैसला सुनाया।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..