--Advertisement--

नक्सल / 8 लाख की ईनामी महिला नक्सली समेत तीन ने किया आत्मसमर्पण



नक्सली मुचाकी सुनीता और दरिदे जोगा। नक्सली मुचाकी सुनीता और दरिदे जोगा।
X
नक्सली मुचाकी सुनीता और दरिदे जोगा।नक्सली मुचाकी सुनीता और दरिदे जोगा।

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 07:09 PM IST

सुकमा. आचार संहिता लगने के बाद बस्तर के धुर नक्सली इलाके में सघन सर्चिंग के दबाव के चलते 8-8 लाख के दो इनामी नक्सलियों समेत तीन ने शनिवार को आत्मसमर्पण कर दिया। इसमें एक महिला नक्सली है जिसने संगठन में भेदभाव के चलते आत्मसमर्पण किया है। 

 

नक्सलियों के शहरी नेटवर्क की भी मिली जानकारी

  1. तीनों नक्सलियों ने शनिवार को सुकमा एसपी अभिषेक मीणा के समक्ष सरेंडर कर दिया। सरेंडर करने वाले माओवादियों में मुचाकी सुनीता दक्षिण बस्तर बटालियन नंबर 1, कंपनी नंबर दो, प्लाटून नंबर 3, सेक्शन बी की सदस्य थी। ये इंसास हथियार के साथ लैस रहती थी। प्रशासन ने इसपर 8 लाख का इनाम रखा था। ये नक्सली कोंटा क्षेत्र की रहने वाली है।

  2. दूसरा नक्सली दिरदे जोगा प्लाटून नंबर 8 कमांडर, किस्टाराम एरिया कमेटी अन्तर्गत एसएलआर हथियार से लैस रहता था। इसपर प्रशासन ने 8 लाख का इनाम रखा था। ये एर्राबोर क्षेत्र का रहने वाला है। तीसरा नक्सली हेमला गंगा जनमिलिशिया सदस्य चिंतलनार जो कि नक्सली संगठन में मिलिशिया के पद पर कार्यरत था। ये नक्सलियों के लिए राशन सप्लाई का काम करता था।

  3. सरेंडर करने वाले नक्सलियों से माओवादियों के शहरी नेटवर्क और मदगारों के अलावा ऑपरेशन से जुड़ी कई जानकारियों मिली हैं। आत्मासमर्पित नक्सलियों को छत्तीसगढ़ शासन की राहत एवं पुनर्वास योजना के तहत सहायता प्रदान किया जाएगा।

दंतेवाड़ा में पुलिस ने घेराबंदी कर एक माओवादी को पकड़ा

  1. बारसूर थाना क्षेत्र के सातधार में पुलिस ने घेराबंदी कर शनिवार को  बोधघाट एलओएस जनमिलिशिया सदस्य को गिरफ्तार किया। एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि गिरफ्तार नक्सली रोंदाराम बेको बीजापुर के कोहकाबेड़ा का रहने वाला है। तीन साल से नक्सल संगठन से जुड़कर नक्सलियों के लिए सामान पहुंचाना, उनके भोजन, मीटिंग की व्यवस्था, पुलिस की रैकी करने का काम करता रहा है।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..