क्राइम / ओडिशा से भतीजे के घर घूमने आया, रास्ते में सराफा दुकान देखा और बनाया चोरी का प्लान

X

  • रायपुर में 2007 से करता रहा है चोरियां, पुलिस की नजर में आने के बाद भाग गया है ओडिशा
     

Feb 12, 2019, 01:34 AM IST

रायपुर . टिकरापारा सराफा दुकान में 76 लाख की चोरी करने वाला मास्टर माइंड रायपुर का पुराना भगोड़ा चोर है। यहां पुलिस की नजर में आने के बाद ओडिशा भाग गया था। भाठागांव में भतीजे से मिलने आया था। रास्ते में सिद्धार्थ चौक की ज्वेलरी दुकान दिखी।

 

कांप्लेक्स में घुसकर चोरी के लिए घुसने की जगह देखी। पीछे का चैनल गेट देखकर उसी समय चोरी का प्लान बना लिया और ओडिशा चला गया। चार दिन बाद अपने एक साथी के साथ ओडिशा से आया और भतीजे के साथ मिलकर सराफा दुकान में सेंध लगा दी। चोरी करने के कुछ घंटों के भीतर ही पूरे जेवर लेकर ओडिशा चला गया। अगले ही दिन वहां एक सराफा कारोबारी को चोरी के जेवर बेच दिए। 


पुलिस ने गिरोह के मास्टर माइंड लक्ष्मण छुरा उर्फ कालिया के साथ ओडिशा के ही सुनील सोना उर्फ बिलवा व उसके नाबालिग भतीजे को गिरफ्तार कर लिया है। 10 दिन के भीतर चोरी की इतनी बड़ी वारदात का खुलासा करने और पूरे जेवर की रिकवरी की वजह से डीजीपी डीएम अवस्थी ने पुलिस टीम को 50 हजार ईनाम देने की घोषणा की है। उनके बाद आईजी आनंद छाबड़ा और एसपी नीतू कमल ने 15 व 5 हजार ईनाम देने फैसला किया। पुलिस के अनुसार गिरोह का लीडर यहां का निगरानी चोर है। 


प्रभारी आईजी छाबड़ा ने बताया कि लक्ष्मण व सुनील कई बार पकड़े जा चुके हैं। आखिरी बार 2013 में जेल गए थे। उसके बाद दोनों छत्तीसगढ़ छोड़कर ओडिशा अपने गांव चले गए। आरोपी चोरी करने के लिए ही रायपुर आते थे। 25 जनवरी को कालिया अपने भतीजा (नाबालिग आरोपी) से मिलने के लिए रायपुर आया। उसका भतीजा भाठागांव बीएसयूपी कॉलोनी में रहता है। वहीं रहकर उसने चोरी की प्लानिंग की। वह ओडिशा चला गया। उसके बाद अपने साथी सुनील के साथ 31 जनवरी को वापस अाया। अपने नाबालिग भतीजे के घर गया। वहां बाइक में कालिया, सुनील और नाबालिग टिकरापारा आए। नंदी चौक के पास बाइक खड़ी की और कांप्लेक्स के पीछे वाले चैनल गेट का ताला तोड़कर भीतर गए। पुलिस के अनुसार उन्होंने 20 मिनट में दुकान के सारे जेवर अपने बैग में भर लिए। 


तीनों रेलवे स्टेशन गए और वहां ट्रेन आने का इंतजार किया। रात 3.30 बजे ओडिशा जाने वाली ट्रेन आ गई। सुनील और लक्ष्मण उसमें बैठकर ओडिशा चले गए। उनका नाबालिग भतीजा एक घंटा स्टेशन में रूकने के बाद अपने घर आ गया और पुलिस के मूवमेंट में नजर रखा रहा। ओडिशा पहुंचकर आरोपियों ने सराफा कारोबारी मुच्ची मेहर को आधा जेवर बेच दिया। पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया है। आराेपियों का साथ देने के लिए आरडीए कॉलोनी के सागर नायक को गिरफ्तार किया गया है। 
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना