पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रायपुर में स्टडी टूर का पर्चा लगाकर रेड डालने पहुंची इनकम टैक्स की टीम

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इनकम टैक्स की रेड के दौरान आई गाड़ियों पर लगा पोस्टर।
  • रायपुर में इनकम टैक्स की टीम जिस गाड़ी पर आई उस पर स्टडी टूर और पर्यटन का पोस्टर लगा हुआ था
  • पोस्टर पर एक मोबाइल नंबर और व्यक्ति का नाम लिखा हुआ है, कई बार ऐसे नंबराें को गुप्त कोड के रूप में इस्तेमाल करता है विभाग

रायपुर. छत्तीसगढ़ में गुरुवार को इनकम टैक्स की टीम ने रायपुर समेत प्रदेश में 4 जिलों पर 32 जगहों पर छापेमारी की। टीम ने रायपुर में मेयर एजाज ढेबर, पूर्व मुख्य सचिव विवेक ढांड, आईएएस अनिल टूटेजा सहित कई बड़े कारोबारियों के घरों पर रेड मारी। रायपुर में इनकम टैक्स की टीम अपनी कारों में शैक्षणिक भ्रमण का पर्चा लगाकर पहुंची थी। उन पर्चे पर इस शैक्षणिक भ्रमण के "सूत्रधार' आचार्य विक्रम भट्‌ट का नाम और नंबर भी लिखा था। जब भास्कर ने उस नंबर पर कॉल किया तो  उनसे बात की गई तो बोले- धैर्य रखिए, जो होगा जल्द पता चल जाएगा।


इनकम टैक्स टीम की गाड़ियों पर कई राज्यों के अलग-अलग नंबर लिखे हुए थे। वहीं अलग-अलग विभाग के पोस्टर और स्टीकर भी लगे हुए थे। इनमें पर्यटन विभाग और देवस्थान विभाग जैसे नाम शामिल हैं। वहीं कुछ गाड़ियों में स्टडी टूर का पोस्टर भी लगा हुआ है। इसी पोस्टर पर अखिल भारतीय बौद्धिक उत्थान संस्थान फरीदाबाद का नाम दर्ज है। उसके नीचे सूत्रधार आचार्य विक्रम भट्‌ट का नाम लिखा है। 


जब नाम के साथ में लिखे मोबाइल नंबर पर भास्कर ने कॉल किया तो सामने वाले ने अपने नाम की पुष्टि की। उन्होंने अपना नाम विक्रम भट्ट जरूर बताया, लेकिन क्या करते हैं और कहां से बोल रहे हैं, ये बताने से इनकार कर दिया। इसके बाद जब कार्रवाई को लेकर उनसे बात करनी चाही तो पहले तो वह अनभिज्ञ बने रहे, लेकिन फिर कहा कि मैं क्या करता हूं, उसे जाने दीजिए, जो आएगा वो पता चलेगा। थोड़ा धैर्य रखिए। 

केंद्रीय बोर्ड के नेतृत्व में हो रही है कार्रवाई
ट्रू कॉलर पर उनका नाम दिल्ली के साथ सही दर्शा रहा है। इस संबंध में जब आयकर के कुछ अधिकारियों से बात की तो उन्होंने बताया कि अक्सर कोड के रूप में ऐसे नंबरों को इस्तेमाल किया जाता है। हर नाम और नंबर का प्रयोग टीम की गाड़ी जाने के दिशा और पहचान को तय करता है। संभावना है कि इस बार छापे में ऐसा कुछ किया गया हो। हालांकि अगर मोबाइल नंबर सही दिया गया है और बात हो रही है तो इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। 


बताया जा रहा है कि इस पूरी कार्रवाई को केंद्र की टीम लीड कर रही है। जिनके यहां छापे मारे गए हैं, उन पर इंटेलीजेंस के जरिए लंबे समय से नजर रखवाई जा रही थी। आयकर विभाग के अधिकारी बताते हैं कि जब कोई कार्रवाई की जाती है तो इसकी जानकारी लिफाफे में सील बंद होती है। कार्रवाई के दौरान तक पता नहीं होता है। जब निर्देश मिलते हैं तभी लिफाफा खोलते हैं। अगर स्थानीय अधिकारी शामिल नहीं है तो संभवत: कार्रवाई बड़ी है। 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें