विज्ञापन

अपराध / मर चुकी महिला से करते रहे दुष्कर्म फिर बेहोश समझ गला भी दबाया

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 12:37 PM IST


तीनों आरोपी पुलिस हिरासत में । तीनों आरोपी पुलिस हिरासत में ।
X
तीनों आरोपी पुलिस हिरासत में ।तीनों आरोपी पुलिस हिरासत में ।
  • comment

  • पांच माह से अनसुलझे मर्डर की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली
  • हत्या और दुष्कर्म शव मिलने के तीन दिन पहले हुआ था 
     

बालोद. करीब 5 महीने पहले 16 सितंबर को ग्राम तरौद में बंद कमरे में 46 वर्षीय विधवा बिंदा बाई साहू की सड़ी-गली लाश मिली थी। उस समय लाश इतनी सड़ चुकी थी कि पीएम रिपोर्ट में भी सुराग नहीं मिल पाया। जिससे अंधे कत्ल को पुलिस सुलझा नहीं पाई। 5 दिन पहले नए एसपी एमएल कोटवानी ने पूर्व क्राइम ब्रांच प्रभारी निरीक्षक कुमार गौरव साहू को जांच सौंप दी। टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एक युवक को हिरासत में लिया। इसने मामले का खुलासा कर दिया और घटना में शामिल लोगों के नाम भी बता दिए।

हत्या के तीन दिन बाद मिली सड़ी-गली लाश

  1. पुलिस ने संदेह के आधार पर गांव के ही 19 वर्षीय ओम प्रकाश साहू को हिरासत में लिया गया। जिसने कबूल लिया कि दो अन्य साथी नीरज पटेल (18) व गुलशन ठाकुर (23) के साथ तीनों ने महिला के साथ संबंध बनाए और फिर उसे गला दबाकर मार दिया। हत्या और दुष्कर्म ठीक 5 महीने पहले 13 सितंबर यानी लाश मिलने के 3 दिन पहले हुई थी।

  2. महिला के शव के साथ करते रहे दुष्कर्म

    दुष्कर्म के बाद ओमप्रकाश ने दुबारा महिला का गला दबाया। फिर घर के बाहर दरवाजे में सांकल व लकड़ी के गेट पर ताला लगा दिए। चाभी को वही एक बाड़ी में फेंक दिए। वह चाभी भी पांच महीने तक पड़ी थी।

  3. गर्दन पर चोट से महिला की हुई मौत

    मामले का खुलासा करते हुए बुधवार को एसपी एमएल कोटवानी ने कहा कि जब तीनों आरोपी महिला के घर दाखिल हुए तो उसे धक्का देकर गिरा दिए थे। जिससे खाट में महिला के गर्दन के पास चोट आई थी। मुख्य आरोपी ओमप्रकाश उसी समय महिला का गला दबाया हुआ था। जिससे वह उसी समय मर गई थी। तीनों आरोपियों ने बेहोश समझकर दुष्कर्म किया।

  4. आरोपियों तक पहुंचने की उम्मीद छोड़ दी थी

    लगभग 2 महीने तक पुलिस छानबीन कर रही थी, लेकिन सुराग ही नहीं मिल पा रहा था। इससे पुलिस भी उम्मीद छोड़ चुकी थी। घर के बाहर से दरवाजा लगे होने से मामला संदिग्ध था। बाहर ताला लगा देख लोगों को यह लगता था कि वह कहीं गई होगी। तीन दिन बाद दुर्गंध से लाश का पता चला। उस समय लाश के ऊपर सिर्फ एक साड़ी ढकी हुई थी। नीचे कपड़ा नहीं था। इससे रेप की शंका हुई।

  5. घर आता था एक व्यक्ति इसी का उठाया फायदा

    एसपी ने बताया महिला अकेली रहती थी। उनके पति का निधन कई साल पहले हो चुका है। महिला के घर एक व्यक्ति का आना जाना था। उस रात को भी वह व्यक्ति आया था। घटना के बाद गांव में भी यह अफवाह उड़ गई कि जो व्यक्ति महिला के घर आता जाता था, उसी ने यह सब किया होगा। पुलिस भी पहले उसी दिशा में जांच कर रही थी, लेकिन वह व्यक्ति आरोपी नहीं निकला।

  6. बुरी आदतों के चलते पकड़ में आया आरोपी

    जांच टीम प्रभारी कुमार गौरव साहू व अन्य चार साथी गांव गए और आरोपी तक पहुंचने की कोशिश की। लोगों से पूछा गया कि यहां लड़कियों से छेड़खानी करने वाले संलिप्त रहने वाला कोई विशेष युवक है क्या? इसमें ओमप्रकाश का पता चला। कुछ महीने पहले वह एक महिला के घर भी रात में बुरी नीयत से घुस गया था। परिवार में भी एक महिला से छेड़खानी किया था। पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन