नागरिकता बिल / मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा- जो पार्टी का वही हमारा स्टैंड; पासपोर्ट पर कमल का निशान भाजपा का गिरता स्तर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल
X
मुख्यमंत्री भूपेश बघेलमुख्यमंत्री भूपेश बघेल

  • कांग्रेस की ओर से बुलाए गए भारत बचाओ रैली में शामिल होने के लिए जाने से पहले मुख्यमंत्री ने की मीडिया से बात
  • रेप इन इंडिया के बयान पर बोले- जो हो रहा है राहुल गांधी ने वही कहा, प्रदेश में जो घटनाएं हुईं मुस्तैदी से निपटे

दैनिक भास्कर

Dec 13, 2019, 03:54 PM IST

रायपुर. नागरिकता संशोधन बिल (सीएबी) के लागू होने के बाद कई राज्यों के मुख्यमंत्री ने इसको लेकर विरोध जताया है। वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि सीएबी को लेकर जो कांग्रेस ने स्टैंड लिया है, हम भी उसी के साथ खड़े हैं। वहीं पासपोर्ट पर कमल का निशान छापे जाने का लेकर मुख्यमंत्री ने इसे भाजपा का गिरता हुआ स्तर बताया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शुक्रवार को दिल्ली रवाना होने से पहले रायपुर एयरपोर्ट पर मीडिया से बात कर रहे थे। 

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने ट्वीट कर कहा था- राज्य में लागू नहीं होने देंगे सीएबी

दरअसल, प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने नागरिकता बिल पास होने पर गुरुवार को ट्वीट कर कहा था कि संवैधानिक मूल्यों पर हमले की इस बिल को हम अपने राज्य में लागू नहीं होने देंगे। इसको लेकर पूछे गए सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जवाब दे रहे थे। वहीं पासपोर्ट पर कमल का निशान छापे जाने पर उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। कहा कि भाजपा का स्तर इतना नीचे गिर गया है कि पार्टी सिंबल को पासपोर्ट पर छपवा रही है। इससे और कितना नीचे गिरेगी। 

दरअसल, केरल के कोझिकोड में कमल के निशान वाले वाले पासपोर्ट बांटे गए थे। जिसके बाद कांग्रेस सांसद ने लोकसभा में मुद्दा उठाया था और साथ ही भाजपा पर भगवाकरण का लगाया था। इसके बाद विदेश मंत्रालय ने सफाई दी थी कि पासपोर्ट के सिक्योरिटी फीचर्स को मजबूत करने के लिए कमल का निशान लगाया गया है। यह राष्ट्रीय चिन्ह है और देश में फर्जी पासपोर्ट रोकने के लिए समय-समय पर अन्य राष्ट्रीय चिन्हों को इस तरह के फीचर के रूप में इस्तेमाल किया जाएगा। इसको लेकर स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने भी भाजपा पर सुबह ही ट्वीट कर निशाना साधा था। 

सीएम बघेल अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से दिल्ली के रामलीला मैदान में 14 दिसंबर को बुलाई गई भारत बचाओ अांदोलन में शामिल हाेने के लिए गए हैं। उन्होंने कहा कि देश की प्रमुख समस्या मंदी, बेरोज़गारी, या फिर हमारे छत्तीसगढ़ से चावल नहीं खरीदने का मामला हो और जो वर्तमान परिदृश्य है, इसे लेकर दिल्ली में बड़ी रैली होगी। वहीं राहुल गांधी के रेप इन इंडिया के बयान को लेकर कहा कि जो देश में हो रहा है, वही कह रहे हैं। कहा कि छत्तीसगढ़ में जो घटनाएं हुईं उनसे जवान मुस्तैदी से निपटे हैं। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना