छत्तीसगढ़ / उद्योग मंन्त्री कवासी लखमा लखमा ने बिना देखे सदन में दिया बजट भाषण

X

  • लखमा ने कहा- दारू का नहीं बल्कि 339 करोड़ का उद्योग का बजट है ये 
  • लखमा ने कहा कि अक्टूबर महीने के आखिरी में नई उद्योग नीति बनेगी 
  • अनपढ़ होने के चलते कवासी पढ़ नहीं सकते फिर भी सदन में दिया जोरदार भाषण 
     

Feb 22, 2019, 05:52 PM IST

रायपुर.उद्योग और आबकारी मंत्री कवासी ने लखमा ने शुक्रवार को बिना पढ़े बजट भाषण दिया। कवासी ने कहा कि वे अक्टूबर महीने के आखिरी में नई उद्योग नीति लेकर आएंगे। वे ऐसा प्लान कर रहे हैं जो सबके हित में होगा। 200 से ज्यादा उद्योग लगाएंगे।

 

टाटा को जमीन देने के बाद सरकार ने मदद नहीं की 
लखमा ने कहा कि टाटा के आने से सभी को लगा कि विकास होगा, पर जमीन देने के बाद सरकार ने मदद नहीं की। इसलिए टाटा भाग गया। ऐसे में हमारी सरकार ने किसानों को जमीन वापस कर दी। 


नगरनार स्टील प्लांट को भारत सरकार बेचना चाहती है 
कवासी लखमा ने कहा कि हम बड़े उद्योग के विरोधी नही है। पंडित नेहरू ने राज्य में सबसे पहले भिलाई स्टील प्लांट खोला। सीमेंट के दाम भारत मे सबसे कम छत्तीसगढ़ में है। यदि उद्योग को जमीन दिया है तो रेट तो रहेगा ही। नगरनार का स्टील प्लांट कांग्रेस की देन है। भारत सरकार उसे बेचने की कोशिश में लगी है, लेकिन हम इसके विरोध में है। अभी भी डर है कि भारत सरकार उसे निजी हाथों में सौपने की तैयारी कर रही है, लेकिन हैम ऐसा नहीं होने देंगे। 


भाजपा सरकार ने आदिवासियों की जमीन चुपके से लिया 
कवासी लखमा ने कहा कि बैलाडीला का एक हिस्सा अडानी को दिया गया है। वहां के लोग नाराज हैं। लोग विरोध कर रहे हैं । वहां बड़ा आंदोलन करने की तैयारी में हैं। आदिवासियों की जमीन रमन सरकार ने पिछले दरवाजे से लिया। इसी धोखे का परिणाम है कि 15 साल में 15 सीट में आकर सिमट गए। 


शराबबंदी होगी पर नोटबंदी जैसी नहीं 
लखमा ने कहा कि राज्य सरकार शराब बंदी करेगी पर नोटबंदी जैसा काम नही होगा। हाई पावर कमेटी के निर्णय के बाद शराबबंदी होगी। 50 दुकान 1 तारीख से बंद करेंगे। 2 प्रकार के अध्ययन दल बनाएंगे। मंदिर और स्कूल के पास की दुकाने बंद करने को लेकर पहल करेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना