--Advertisement--

छत्तीसगढ़  / राहुल गांधी के साथ बैठक खत्म, मुख्यमंत्री के नाम पर सस्पेंस बरकरार

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2018, 06:40 PM IST


Chhattisgarh : Screwed over the face of Chief Minister, Baghel, Sinhdev, Mahant, Sahu Delhi Calls
X
Chhattisgarh : Screwed over the face of Chief Minister, Baghel, Sinhdev, Mahant, Sahu Delhi Calls

  • कल  होगी विधायक दल की बैठक, आब्जर्बर मल्लिकार्जुन खड़गे भी होंगे शामिल

  • चारों नेता बोले-कोई विवाद नहीं, जो जिम्मेदारी मिलेगी, उसी का करेंगे पालन

रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के नाम को लेकर तीन दिन बाद भी सस्पेंस बरकरार है। दिल्ली में राहुल गांधी के साथ चल रही छत्तीसगढ़ के नेताओं की बैठक खत्म हो गई है। माना जा रहा है कि राहुल गांधी कुछ घंटों  बाद मुख्यमंत्री के नाम का एेलान कर सकते हैं। वहीं संभावना इस बात की भी है कि शनिवार को रायपुर में विधायक दल की बैठक होने के बाद नाम का ऐलान हो।

राहुल गांधी कर सकते हैं मुख्यमंत्री के नाम का एेलान

  1. दरअसल, छत्तीसगढ़ में बड़ी जीत के बावजूद सीएम के चेहरे को लेकर पेंच फंसा हुआ है। इसे देखते हुए भूपेश बघेल, टीएस सिंहदेव, चरण दास महंत और ताम्रध्वज साहू को दिल्ली तलब किया गया था। प्रदेश के चारों बड़े नेताओं की राहुल गांधी के साथ करीब एक घंटे से भी ज्यादा देर बैठक चली। बैठक में प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया और ऑब्जर्बर मल्लिकार्जुन खड़गे भी मौजूद रहे।

  2. बैठक खत्म होने के बाद राहुल गांधी के बंगले से शाम करीब 5.45 बजे बाहर निकले ऑब्जर्बर बनाए गए मल्लिकाजुर्न खड़गे ने कहा कि चर्चा होने के बाद अंतिम फैसला राहुल गांधी के ऊपर छोड़ दिया गया है। वह जिसका नाम तय करेंगे वही मुख्यमंत्री बनेगा। वहीं प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया का कहना है कि सीएम का नाम शनिवार को तय होगा। 

  3. बैठक के बाद बाहर निकले ताम्रध्वज साहू अलग-अलग से दिखाई दिए। जबकि भूपेश बघेल, टीएस सिंहदेव और चरण दास महंत साथ में बाहर आए और एक साथ ही गाड़ी से छत्तीसगढ़ भवन के लिए निकल गए। यह नेता रात को दिल्ली में ही रुकेंगे और सुबह रायपुर आएंगे। 

  4. चारों नेताओं ने एक सुर में कहा है कि उनको पार्टी की ओर से जो जिम्मेदारी दी जाएगी, उसे निभाएंगे। इससे पहले भूपेश बघेल ने कहा था कि आलाकमान ने उन्हें संगठन को खड़ा करने की जिम्मेदारी दी थी और उन्होंने इसे पूरा किया। वहीं प्रभारी पुनिया ने भी कहा कि मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर कोई विवाद नहीं है। 

  5. देरी के चलते स्थगित हुआ बैठक का तय समय 

    दरअसल, छत्तीसगढ़ के नेताओं की राहुल गांधी के साथ शुक्रवार सुबह 10.30 बजे से बैठक के लिए समय तय किया गया था। इसके चलते टीएस सिंहदेव, भूपेश बघेल और चरणदास महंत शुक्रवार सुबह रायपुर एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए रवाना होने निकले। जबकि ताम्रध्वज साहू पहले से ही दिल्ली में मौजूद हैं। हालांकि राजधानी में घने कोहरे के चलते फ्लाइट 4 घंटे देरी से रवाना हुई। 

  6. नेता बोले-जो आलाकमान तय करेगा वही सीएम

    दिल्ली रवाना होने से पहले तीनों नेताओं ने एक साथ कहा कि आलाकमान जो फैसला करेंगे वो सभी को स्वीकार्य होगा। वहीं चरणदास महंत ने ओबीसी कार्ड चलने की संभावना जताई है। सभी नेता दिल्ली में राहुल गांधी से मुलाकाम करेंगे। मुलाकात के बाद ही मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर लगाई जाएगी। हालांकि माना जा रहा है कि सीएम की दौड़ में भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव के नाम ही आगे चल रहे हैं।

  7. उधर, टीएस सिंहदेव और भूपेश बघेल के समर्थक उत्साह में हैं। इसी के चलते दोनों के बीच गुरुवार को गहमागहमी भी हो गई। हालात यहां तक आ गए कि दोनों ओर के समर्थक भिड़ते-भिड़ते बचे। बघेल के बंगले पर कार्यकर्ताओं में हाथापाई हो गई। प्रत्यदर्शियों के अनुसार एक कार्यकर्ता ने जातीय टिप्पणी की, उसके पीछे बैठे उसी जाति के कार्यकर्ता ने आपत्ति जताई। दोनों में मुंहवाद हुआ और भिड़ गए। 

  8. राहुल गांधी ने 3 लाख कार्यकर्ताओं से पूछी उनकी पसंद

    वहीं शक्ति ऐप से जुडे़ 3 लाख कांग्रेस कार्यकर्ताओं से राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री पद के लिए उनकी पसंद पूछी है। ऐसा पहली बार हो रहा है, जब कांग्रेस विधायक दल के अलावा आम कार्यकर्ताओं से मुख्यमंत्री चयन को लेकर राय ली जा रही है।

  9. इसके पहले भी विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी चयन के समय कांग्रेस अध्यक्ष ने 90 विधानसभा क्षेत्रों के कार्यकर्ताओं से प्रत्याशियों के नाम पूछे थे। कांग्रेस ने उम्मीदवारों के आवेदन भी ब्लॉक में मंगवाए थे और बूथ स्तर के पदाधिकारियों से अनुशंसा मंगवाई थी। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को इसका बेहतर परिणाम मिला। 

Astrology
Click to listen..