कांग्रेसियों पर लाठीचार्ज / मुख्यमंत्री ने बिलासपुर के एडिशनल एसपी नीरज चंद्राकर को हटाया



मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह (फाइल फोटो) मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह (फाइल फोटो)
X
मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह (फाइल फोटो)मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह (फाइल फोटो)

  • सूरजपुर में बाेले सीएम- जांच होने तक रहेंगे पीएचक्यू से अटैच
  • बिलासपुर लाठीचार्ज में पहली कार्रवाई, जारी किए गए आदेश 

Sep 20, 2018, 12:27 PM IST

रायपुर.  बिलासपुर लाठीचार्ज में सियासत गरम होने के बाद एडिशनल एसपी नीरज चंद्राकर को हटा दिया गया है। मुख्यमंत्री ने बुधवार को सूरजपुर में हुई प्रेस कांफ्रेंस में घोषणा की। इसको लेकर गुरुवार को आदेश जारी कर दिए गए। एडिशनल एसपी चंद्राकर मजिस्ट्रेटियल जांच होने तक पुलिस मुख्यालय से अटैच रहेंगे। संभवत : यह पहला मौका है, जब किसी अधिकारी को हटाने की घोषणा सीएम ने प्रेसवार्ता में की है। 

नीरज चंद्राकर के नेतृत्व में चलीं थी लाठियां

  1. मंत्री अमर अग्रवाल के आवास पर 18 सितंबर को कूड़ा फेंकने के बाद सभी कार्यकर्ता कांग्रेस भवन में बैठे हुए थे। इसी दौरान पुलिस अंदर घुसी और कांग्रेसियों पर लाठीचार्ज कर दिया। इसमें कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव समेत कई कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए थे। आरोप है कि पुलिस की ओर से यह सारी कार्रवाई एडिशनल एसपी नीरज चंद्राकर के नेतृत्व में की गई। 

  2. कांग्रेस ने कहा था मोदी की हुकूमत में तानाशाही

    बिलासपुर में लाठीचार्ज मामले का मुद्दा गरमाने के बाद राजनीतिक भूचाल आ गया है। इस घटना की सभी निंदा कर रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसे मोदी की हुकूमत में तानाशाही पेशा करार दिया था। कहा था कि जनता इसे सियासी जुल्म के रूप में जवाब देगी। वहीं प्रियंका गांधी ने भी कहा था कि हिंसक रूप से प्रदर्शन को दबाने का यह प्रयास तानाशाही है। 

  3. भूपेश बघेल ने दी थी सरकार को चेतावनी

    प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज मामले को अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर सरकार को तानाशाह करार दिया था। उन्होंने कहा कि 20 सितंबर यानी 24 घंटे में दोषी अफसरों पर कार्रवाई नहीं की गई तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 22 सितंबर को छत्तीसगढ़ की धरती पर जोरदार स्वागत किया जाएगा। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना