सियासत / कांग्रेस विधायक वृहस्पति का प्रेमसाय के खिलाफ मोर्चा, बोले-मंत्री से शिक्षा विभाग छीनें सीएम बघेल



वृस्पति सिंह। प्रेमसाय सिंह। वृस्पति सिंह। प्रेमसाय सिंह।
X
वृस्पति सिंह। प्रेमसाय सिंह।वृस्पति सिंह। प्रेमसाय सिंह।

  • कहा- मंत्री और उनके पूरे विभाग को भाजपा ने हाईजेक कर लिया है
  • उनके इस बयान के बाद पार्टी के भीतर अदरुनी राजनीति तेज हो गई है

Dainik Bhaskar

Sep 14, 2019, 07:05 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम के खिलाफ उनकी ही पार्टी के विधायक बृहस्पत सिंह ने मोर्चा खोल दिया है। रामानुजगंज से दोबारा चुने गए सिंह ने न सिर्फ मंत्री से विभाग छीनने की मांग की है बल्कि यहां तक कह दिया है कि मंत्री और उनके पूरे विभाग को भाजपा ने हाईजेक कर लिया है। उनके इस बयान के बाद पार्टी के भीतर अदरुनी राजनीति तेज हो गई है।

 

 

बृहस्पत सिंह ने बलरामपुर में ली गई पत्रकारवार्ता की गूंज राजधानी तक रही। सिंह ने इसमें मंत्री पर कई आरोप लगाए। कुछ दिन पहले भी उन्होंने राजधानी रायपुर में मंत्री बंगले में आकर जमकर हंगामा मचाया था। सीएम हाउस जाकर बघेल से भी टेकाम की शिकायत कर चुके हैं। दरअसल वे अपने द्वारा अनुशंसित लोगों के तबादले नहीं होने को लेकर काफी आक्रोशित हैं। उन्होंने मंत्री और उनके स्टाफ पर सीधे आरोप लगाए कि बिना पैसों के कोई काम नहीं हो रहा है।तबादलों के लिए खुलेआम पैसों की मांग की जा रही है। उनके निजी स्टाफ की शिकायत के बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। बृहस्पत सिंह ने कहा कि स्कूल शिक्षा विभाग आैर विभागीय मंत्री को भाजपा ने हाईजैक कर लिया है। शेष|पेज 10


स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव ने अप्रसन्नता ज़ाहिर करते हुए कहा कि ऐसे शब्द ऐसे बयान  सही कतई नहीं। अनुशासन का ख्याल रखना जरुरी।यह आपत्तिजनक बात कही गई है। हर बात को कहने का और कहाँ पर कहा जाए, इसका तरीक़ा और जगह होती है। वहीं  शिक्षा और अजाक मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह ने कहा कि  किसी से व्यक्तिगत नाराज़गी है तो उसे भुनाने के लिए नियमों को शिथिल या प्रभावित नही किया जा सकता,सभी के काम नियमानुसार होते हैं। अब उन्होने किस प्रमाण के आधार पर हाईजैक की बात कह दी, वे तो वही जानेंगे..अनुशासन का मसला होगा तो संगठन देखेगा।

 

भाजपा वाले बना रहे सूची 
बृहस्पत सिंह ने कहा कि भाजपा नेता अपने बंगले में बैठकर ट्रांसफर लिस्ट तैयार कर रहे हैं। इसके लिए बाकायदा बोली लगाई जाती है। भाजपा के नेताओं के मुताबिक ही ट्रांसफर का आदेश जारी हो रहे हैं।

 

सीएम से की कार्रवाई की मांग 
विधायक ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से इसकी शिकायत की है। साथ ही एआईसीसी के तमाम बड़े नेताओं को भी इससे अवगत करा दिया है। विधायक ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व को आग्रह किया है कि उनके मंत्री को इस हाईजैक से मुक्त कर दिया जाए।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना