फैसला / अवैध संबंधों में प्रेमिका और बच्चे के हत्यारे को आजीवन कारावास

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 07:50 PM IST


Dhamtari news Life imprisonment for girlfriend and child killer in illegal relations
X
Dhamtari news Life imprisonment for girlfriend and child killer in illegal relations

  • कुरुद के एडीजे कोर्ट ने सुनाई सजा, अप्रैल 2017 में हत्या कर जला दिया था शव
  • सगाई तय हुई तो पीछा छुड़ाने के लिए दोनों का गला दबाकर नाले में दफनाया 

धमतरी. अवैध संबंध के चलते प्रेमिका और बच्चे के हत्यारे वेदप्राकश दीवान (28) को कुरुद के एडीजे कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। दोनों ही हत्याओं में वेदप्रकाश को उम्रकैद की सजा और 100-100 रुपए का अर्थदंड भी सुनाया गया। अर्थदंड नहीं जमा करने पर 3 माह का सश्रम कारावास अतिरिक्त भुगतना पड़ेगा। 

नौकरी के दौरान हुआ प्रेम प्रसंग फिर रहने लगे लिवइन रिलेशनशिप में

  1. मगरलोड थाना क्षेत्र के ग्राम मड़वापथरा निवासी वेदप्रकाश (28) पिता टीकम सिंह दीवान कामकाज करने गांव से बाहर था। वर्ष 2011 से वर्ष 2015 तक जेके लक्ष्मी सीमेंट अहिवारा दुर्ग में वह सिक्योरिटी गार्ड का काम करता था। इस दौरान सरोजनी महानंद से प्रेम प्रसंग हो गया।

  2. दोनों पति-पत्नी की तरह अहिवारा में रहने लगा। इस दरम्यान पुत्र प्रियांशु का जन्म हुआ। वर्ष 2016 में वह नौकरी छोड़कर रायपुर में गार्ड की नौकरी करने लगा। फरवरी 2017 में वेदप्रकाश दीवान के परिजनों ने सजातीय लड़की के साथ उसकी सगाई कर दी। इसकी जानकारी सरोजनी को हुई, तो दोनों के बीच झगड़ा शुरू हो गया।

  3. सरोजनी उसे धमकी देने लगी कि पत्नी बनाकर रखने की बात गांव में जाकर वेदप्रकाश के परिजनों को बता देगी। उसकी धमकी से वेदप्रकाश परेशान था। पत्नी और पुत्र को अपने रास्ते से हटाने के लिए षड्यंत्र कर मड़वापथरा ले आया।

  4. यहां पर 1 अप्रैल 2017 को अहिवारा दुर्ग से लेकर कन्हारपुरी थाना कुरुद लाकर बाइक से मड़वापथरा ले जाते रात 7 बजे ढोड़गा नाला दर्रा के पास पहुंचे और दोनों की गला घोंटकर हत्या कर दिया। इसके बाद उनके शवों को आग लगाकर नाले के गड्ढे में दबा दिया।

  5. इसके बाद वेदप्रकाश ने कुरुद थाने पहुंचकर गुमशुदगी दर्ज करा दी। 22 जुलाई 2017 की सुबह ढोड़गी नाला के पास रोजगार गारंटी का काम करने वाले गांव के सुकलाल, वेदराम और गोविंदराम साहू ने जली हुए हड्डी के टुकड़े देखे तो पुलिस को सूचना दे दी। 

  6. पुलिस घटना स्थल पहुंची और जांच-पड़ताल शुरू की। जांच में शव की पहचान हो गई। तफ्तीश में पुलिस को पता चला कि वेदप्रकाश की सगाई होने वाली है, जिसके चलते सरोजनी और उसके बेटे प्रियांशु की हत्या की। पुलिस ने वेदप्रकाश को हिरासत में लेकर पूछताछ की, वारदात करना स्वीकार किया।

COMMENT