--Advertisement--

छत्तीसगढ़ / तीन सालों में 29 नक्सलियों को मार गिराए, 67 इनामी को गिरफ्तार किया; फिर भी जवानों को हक का इंतजार



Do not get reward Soldier  for getting success in Naxal operation
X
Do not get reward Soldier  for getting success in Naxal operation

  • 31 इनामी नक्सलियों ने सरेंडर किया, मगर सवा 3 करोड़ में से एक रुपया भी नहीं मिला इनाम

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 02:10 AM IST

अंबू शर्मा, दंतेवाड़ा . पुलिस ने बीते तीन सालों में एनकाउंटर में 29 नक्सलियों को मार गिराया, 67 इनामी नक्सलियों को गिरफ्तार कर उन्हें जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाया व छत्तीसगढ़ सरकार की इनामी पाॅलिसी से प्रभावित होकर 31 इनामी नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया। 

 

लेकिन विडंबना यह है कि तीन सालों की इस बड़ी उपलब्धि की सवा तीन करोड़ की इनामी राशि अब तक जवानों व सरेंडर नक्सलियों को नहीं मिल पाई है। इनमें गिरफ्तार इनामी नक्सलियों के 105 लाख रुपए, मारे गए नक्सलियों के 106 लाख रुपए व सरेंडर नक्सलियों के 114 लाख रुपए अब तक अटके पड़े हैं।

 

नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे आॅपरेशन पर जाकर सफलता पूर्वक कामयाब होने वाले जवानों को इस राशि का इंतजार है। लेकिन इसके बाद भी जवानों का जज्बा कायम है व जान की बाजी लगाकर नक्सलियों के खिलाफ आॅपरेशन पर निकल पड़ते हैं। एसपी डाॅ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि साल 2015 तक की इनामी राशि मिल चुकी है। इसके बाद की इनाम राशि मिलते ही जवानों को दे दी जाएगी।  

 

बीते तीन सालों में इन बड़े इनामी नक्सलियों ने किया था आत्मसमर्पण

 

नंदू उर्फ कोरसा: मिलिट्री कंपनी नंबर 2 का सेक्शन डिप्टी कमांडर- 8 लाख रुपए


कड़ती मुन्ना उर्फ चैतू उर्फ डेगा: भैरमगढ़ एरिया कमेटी अंतर्गत कमालूर एलओएस कमांडर- 5 लाख रुपए


कोसी माड़वी उर्फ सजंती: कांगेर घाटी एरिया कमेटी सदस्य- 5 लाख रुपए


पोदिया तेलाम उर्फ रामलाल: मैरपुर नुआपाड़ा संयुक्त डिविजनल कमेटी सदस्य- 8 लाख  


कामा उर्फ जोगा सोढ़ी: माचकोट एलओएस कमांडर, कागेर घाटी एरिया कमेटी सचिव- 8 लाख

 
नंदा मंडावी: गणेश उइके का गनमेन- 5 लाख रुपए 


सुक्क मड़काम: बटालियन नंबर 1 के कंपनी नंबर दो प्लाटून नं 2 सदस्य- 8 लाख रुपए 


भीमा: डीव्हीसी टीम नंबर 1 सदस्य- 8 लाख 


श्यामला सोढ़ी उर्फ पोज्जे: महुपदर कमांडर - 5 लाख  


मंजू उर्फ मंजूला: मिलिट्री कंपनी नं 6 सदस्या- 8 लाख 


सुंदर कोर्राम उर्फ विकास उर्फ मोहन: मिलिट्री कंपनी नं 6 सदस्य- 8 लाख रुपए

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..