--Advertisement--

तैयारी / चुनाव में हाथियों का खतरा, मोबाइल बैरिकेडिंग से बूथों की होगी घेराबंदी



सिंबोलिक इमेज सिंबोलिक इमेज
X
सिंबोलिक इमेजसिंबोलिक इमेज

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2018, 12:48 AM IST

अंबिकापुर. सरगुजा सहित संभाग के पड़ोसी जिलों में आतंक मचा रहे उत्पाती हाथी भी इस बार प्रभावित इलाकों में विधानसभा चुनाव में बड़ी समस्या खड़ी कर सकते हैं। इसलिए पोलिंग बूथों पर निगरानी के लिए टीम तैयार की जा रही है। शांतिपूर्ण चुनाव के लिए इन क्षेत्रों में हाथियों के मूवमेंट पर नजर रखने के साथ बूथों की सुरक्षा के लिए इंतजाम करने को कहा गया है।

 

प्रभावित इलाकों में सौ से अधिक गांव केवल सरगुजा में हैं। जबकि पड़ोसी जिलों सूरजपुर, बलरामपुर के अलावा जशपुर और कोरिया के भी कई गांव हाथी प्रभावित हैं। सौ से अधिक हाथी इन इलाकों में डटे हैं। वन विभाग हाथियों से निपटने के लिए टीम तैयार कर रहा है।

 

इसमें हाथी मित्र दल के एक्सपर्ट भी शामिल किए जा रहे हैं। टीम को प्रभावित क्षेत्रों में तैनात किया जाएगा। जहां हाथियों की उपस्थिति का पता करने के बाद सुरक्षा के इंतजाम किए जाएंगे। जिन क्षेत्रों में हाथी रहेंगे वहां के बूथों को बैरिकेडिंग कर सुरक्षित किया जाएगा। मोबाइल टीम बैरिकेड्स लेकर साथ चलेगी।

 

जहां बैरिकेड नहीं लगे हैं। वहां विशेष जोर  दिया जा रहा है :  प्रभावित इलाकों में पेड़ों में मास्टर बैरिकेड लगाए जा रहे हैं, ताकि गांवों में हाथी घुस न सकें। अंबिकापुर डीएफओ प्रियंका पांडेय ने बताया कि प्रभावित इलाकों में निगरानी के लिए टीम बनाई जा रही है। अभी चुनाव में एक महीने का समय है और तब तक  तैयारी पूरी कर ली जाएगी। अभी दो हाथियों के रेडियो कॉलर लगे हैं।
 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..