छत्तीसगढ़ / सरकारी गाड़ी की टक्कर से बच्ची की मौत, ग्रामीणों ने मांगा 1 करोड़ मुआवजा



Girl child dies in government car collision, villagers asked for 1 crore compensation
X
Girl child dies in government car collision, villagers asked for 1 crore compensation

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 04:59 AM IST

सुहेला . यहां से लगभग 10 किलोमीटर दूर ग्राम मोपर में बुधवार दोपहर तीन साढे़ तीन बजे शासकीय सफारी वाहन की ठोकर से 9 वर्षीय बालिका सोना साहू की दर्दनाक मौत हो गई। सफारी सीजी 02 सी 4500 आरटीओ रायपुर सैलाब साहू की बताई जा रही है जिसे चालक शंकर बघेल (28) चला रहा था। घटना के बाद करीब 300 ग्रामीणों पहले शव सड़क पर रखकर रास्ता रोका और चालक की जमकर पिटाई की। बाद में पुलिस के हस्तक्षेप से शव अस्पताल भेजा गया। ग्रामीण 50 लाख से एक करोड़ के मुआवजे पर अड़े हैं, उनका कहना है कि जब तक मुआवजा नहीं मिलता वे शव का पीएम नहीं करने देंगे।

 

इन पंक्तियों के लिखे जाने तक शव का पीएम नहीं हो सका था तथा ग्रामीण अस्पताल घेरकर खड़े थे। गाड़ी व चालक के पुलिस ने अपने संरक्षण में सुहेला थाना में रखा है। मृतक सोना साहू खपरी (खैरा) से अपने पिता योगेश साहू और दादी के साथ दादी के मायके मोपर दशहरा देखने आई थी। मृतका की दादी सहित घर में उपस्थित महिलाओं ने बताया कि घटना के दौरान वह सड़क के उस पार स्थित हैंडपंप पानी लेने गई थी, वहां से लौट रही थी तभी घटना हो गई। दरअसल मोपर में दशहरा एक दिन मनाया जाता है तथा जिसे देखने सैलाब साहू की माताजी उक्त सफारी वाहन से अपने मायके मोपर जा रही थीं। गांव वालों के मुताबिक चालक शंकर बघेल काफी स्पीड से गाड़ी चला रहा था, गांव के करीब पहुंचते ही ब्रेकर पर उसकी गाड़ी नियंत्रित नहीं हो सकी तथा ब्रेकर से उचककर आगे जाकर सोना साहू को सीधे टक्कर मार दी। यह बालिका भी दशहरा उत्सव देखने अपने माता पिता के साथ मामा गांव आई थी।

 

 कि यह हादसा हो गया। घटना के बाद घायल बालिका को मोपर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र  ले जाया गया जहां पर उसकी मौत हो गई। मोपर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ सहायक चिकित्सक केपी दुबे का कहना है कि बालिका की मौत स्पॉट पर ही हो गई थी। 


बालिका की मौत से मोपर के ग्रामीण काफी उत्तेजित हो गए, जिन्होंने 50 लाख से एक करोड़ रुपए मुआवजा की मांग करते हुए शव का पंचनामा व पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया है। ग्रामीण घटनास्थल पर उपस्थित सुहेला थाना प्रभारी रोशन सिंह राजपूत से वाहन चालक, उसके मालिक और उसके मालिक को स्वास्थ्य केंद्र के पास बुलाकर तत्काल मुआवजे की घोषणा करने की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक पीड़ित को मुआवजा देने की घोषणा नहीं की जाएगी, तब तक शव को उठाने नहीं दिया जाएगा। घटनास्थल पर भाटापारा तहसीलदार प्रवीण तिवारी व भाटापारा एसडीओपी केबी द्विवेदी भी पहुंच चुके थे परंतु ग्रामीण वाहन मालिक को बुलाने की मांग पर अड़े थे। ग्रामीणों के बीच उपस्थित मृतका के पिता योगेश साहू के मामा वीरू साहू ने मुआवजे के संबंध में कहा कि हम मामले को गांव के गणमान्य नागरिकों से राय मशविरा कर जो भी निर्णय लेंगे वह हमें मान्य हैं।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना