--Advertisement--

रायपुर / सहकारी बैंक के खाते में हैकर की सेंध, 26 खातों में ट्रांसफर किए 2.47 करोड़ रुपए; 90% रकम वापस



Hacker transferred money from co-operative bank account
X
Hacker transferred money from co-operative bank account

  • क्लीयरिंग के समय बैंक कर्मचारियों को पता चली हैकिंग की जानकारी

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 03:34 AM IST

रायपुर. पंडरी कपड़ा मार्केट के व्यावसायिक सहकारी बैंक का खाते से हैकर्स ने  2.47 करोड़ रुपए निकाल लिए। पैसे 6 राज्यों के 26 अलग-अलग बैंक खातों में ट्रांसफर किए गए। हैकिंग की जानकारी मिलते ही पुलिस ने उन सभी बैंकों को खुलवाया जिनमें पैसे ट्रांसफर किए गए थे। इसके पहले कि हैकर खातों से पैसे निकालते, ट्रांजेक्शन रोककर 2.28 करोड़ रुपए वापस लाए गए। हालांकि, हैकर अब भी बेसुराग हैं।

 

छत्तीसगढ़ में किसी बैंक के खाते को हैक कर रकम निकालने का ये पहला केस है। अब साइबर सेल के एक्सपर्ट जांच कर रहे हैं कि हैकरों ने बैंक खाते को हैक कर अलग-अलग खातों में रकम ट्रांसफर कैसे की। अफसरों का मानना है कि देश में पहली बार बैंक खाते को हैक कर इतनी बड़ी रकम निकाली गई। 

 

क्लीयरिंग के समय पता चला : गुरुवार को कारोबारियों के चेक क्लियर होने थे, इसलिए कुछ कर्मचारी बैंक आए। क्लियरिंग के बाद मिलान हुआ। पर 2.5 करोड़ रुपए का हिसाब नहीं मिल रहा था। कई बार गिनने के बाद भी मिलान नहीं हुआ। मामला वरिष्ठ अफसरों तक पहुंचा, सुनते ही अफसर बैंक पहुंचे और जांच की। पता चला सहकारी बैंक के येस बैंक के दो खातों में पैसे जमा करता है। उन्हें हैक कर लिया गया है। हैकर ने पैसे को कई बैंकों, ई-वॉलेट और दूसरे खातों में ट्रांसफर किया।

 

इससे पहले बांग्लादेश और गुजरात में हुई ऐसी हैकिंग, पर राशि कम थी : हैकिंग की पुष्टि के बाद पुलिस ने देश में इस पैटर्न पर होने वाले अपराध की जांच की। पता चला कि बांग्लादेश में इसी पैटर्न पर बैंक खाता हैक कर 1.25 करोड़ रुपए से ज्यादा निकाले गए थे, वहां अब तक हैकर बेसुराग हैं। इसी तरह गुजरात में खाते हैक कर करीब 80 लाख रुपए निकाले गए थे।। वहां भी रिकवरी पूरी नहीं हुई।

 

क्राइम ब्रांच और साइबर एक्सपर्ट्स को सौंपा केस : ^गुरुवार को सहकारी बैंक के अधिकारी महेश राठी ने देवेंद्र नगर थाने में शिकायत की कि उनके खाते को हैक करके 2.5 करोड़ रुपए निकाले गए हैं। केस क्राइम ब्रांच और साइबर एक्सपर्ट को सौंप दिया गया।’-अमरेश मिश्रा, एसएसपी

 

 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..