नागरिकता संशोधन बिल-एनआरसी / वामपंथी पार्टियों को देशव्यापी आंदाेलन 19 को, कई ट्रेनों के परिचालन पर पड़ेगा असर

सीएबी और एनआरसी के विरोध में वामपंथी पार्टियां करेंगी देशव्यापी आंदोलन सीएबी और एनआरसी के विरोध में वामपंथी पार्टियां करेंगी देशव्यापी आंदोलन
X
सीएबी और एनआरसी के विरोध में वामपंथी पार्टियां करेंगी देशव्यापी आंदोलनसीएबी और एनआरसी के विरोध में वामपंथी पार्टियां करेंगी देशव्यापी आंदोलन

  • माकपा, भाकपा और भाकपा (माले) बिल के विरोध में हुईं एकजुट, प्रदेश के भी जिलों में होगा प्रदर्शन
  • वामपंथी नेताओं ने कहा- भाजपा सरकार देश में हिटलर के कानून को लागू करने का कर रही प्रयास

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2019, 05:57 PM IST

रायपुर. नागरिकता संशोधन बिल (कैब) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में वामपंथी पार्टियों ने 19 दिसंबर को देशव्यापी आंदोलन करेंगी। इसको लेकर मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) और भाकपा (माले) एकजुट हो गई हैं। प्रदेश के भी जिलों में तीनों पार्टियां संयुक्त रूप से प्रदर्शन और सभाएं करेंगी। तीनों पार्टी के वामपंथी नेताओं ने कहा कि संघ नियंत्रित भाजपा सरकार देश में हिटलर के कानून को लागू करने का प्रयास कर रही है। 

सरकार का कदम भारतीय संविधान और गणतंत्र की बुनियाद के खिलाफ

  1. माकपा के संजय पराते, भाकपा के आरडीसीपी राव और भाकपा (माले) के बृजेंद्र तिवारी ने शनिवार को रायपुर में संयुक्त रूप से मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी-शाह की भाजपा सरकार का यह कदम भारतीय संविधान और गणतंत्र की उन बुनियादी धर्मनिरपेक्ष-जनतांत्रिक प्रस्थापनाओं के ही खिलाफ है। यह धर्म या क्षेत्र के आधार पर नागरिकता तय करता है, वहीं एक इंसान के रूप में भेदभाव करती है। जिस तरह हिटलर ने नस्लीय घृणा के आधार पर समूचे यहूदी नस्ल का सफाया करने की कोशिश की थी, वैसे ही भाजपा कर रही है। 

  2. वामपंथी नेताओं ने कहा कि 19 दिसंबर को अशफाक उल्ला खान, रामप्रसाद बिस्मिल और रोशन सिंह को अंग्रेजी हुकूमत ने फांसी की सजा दी थी। उन्होंने कहा कि देश की आजादी में और इसके धर्मनिरपेक्ष चरित्र के गठन में 'फांसीवीरों' का योगदान था, न कि द्विराष्ट्र का सिद्धांत देने वाले और मुस्लिमों के खिलाफ जहर उगलने वाले 'माफीवीरों' का। वामपंथी पार्टियां हमारे स्वाधीनता संग्राम की इस गौरवशाली विरासत की रक्षा करने के प्रति कटिबद्ध हैं। छत्तीसगढ़ में भी पुतला दहन, विरोध प्रदर्शन और सभाएं की जाएंगी। 

  3. आंदोलन के चलते कई ट्रेनें रद्द की गईं

    दक्षिण पूर्व रेलवे खड़गपुर रेल मंडल की 19 दिसंबर के आंदोलन को चलते कई ट्रेनों का परिचालन प्रभावित रहेगा। इसे देखते हुए कई ट्रेनों को रद्द किया गया है। 

    • 14 दिसंबर को हावड़ा से चलने वाली 12222 हावड़ा- पुणे दुरंतो एक्सप्रेस रद्द रहेगी
    • 14 दिसंबर को हावड़ा से चलने वाली 12860 हावड़ा-मुंबई गीतांजलि एक्सप्रेस रद्द रहेगी ¡
    • 16 दिसंबर को पुणे चलने वाली 12221 पुणे-हावड़ा दुरंतो एक्सप्रेस रद्द रहेगी
    • 16 दिसंबर को पुणे चलने वाली 12859 मुंबई-हावड़ा गीतांजलि एक्सप्रेस रद्द रहेगी

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना