दुर्ग लोकसभा सीट / लगातार 5 चुनाव में जीत के बाद 2014 में भाजपा हारी, हाथ को मिला जनता का साथ



lok sabha chunav 2019 analysis Congress had snatched Durg seat from BJP in the Modi wave
X
lok sabha chunav 2019 analysis Congress had snatched Durg seat from BJP in the Modi wave

  • छत्तीसगढ़ की 11 में से सिर्फ दुर्ग लोकसभा सीट ही बचा सकी थी कांग्रेस
  • ताम्रध्वज साहू ने 16 हजार से ज्यादा वोटों से भाजपा से तत्कालीन सांसद सरोज पांडे को हराया था

Apr 22, 2019, 12:00 AM IST

रायपुर. प्रदेश की हॉट लोकसभा सीटों में दुर्ग शुमार है। इस सीट ने कांग्रेस, भारतीय लोकदल, जनता दल और भाजपा को जीत का स्वाद चखाया तो पटखनी भी दी। हालांकि मोदी लहर के बावजूद 2014 में कांग्रेस को वोटरों का साथ मिला और यहां कमल नहीं खिल पाया। पांच लोकसभा चुनावों से लगातार भाजपा के कब्जे में रही इस सीट को कांग्रेस छीन ले गई। यहां से ताम्रध्वज साहू ने 16 हजार से ज्यादा मतों से भाजपा की तत्कालीन सांसद सरोज पांडे को शिकस्त दी थी। दुर्ग लोकसभा सीट पर इस बार कुल 21 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। यहां से भारतीय जनता पार्टी ने विजय बघेल, कांग्रेस पार्टी ने प्रतिमा चंद्रकार, बहुजन समाज पार्टी ने गीताजंलि सिंह को चुनाव मैदान में उतारा है।

अब तक हुए 16 चुनावों में 9 बार कांग्रेस के खाते में गई सीट

  1. यह सीट 1952 में हुए पहले संसदीय चुनाव के समय से अस्तित्व में है। 1952 से अब तक हुए 16 चुनावों में से 9 बार ये सीट कांग्रेस के खाते में गई। यहां से सर्वाधिक पांच बार कांग्रेस के चंदूलाल चंद्राकर के सिर पर ताज रहा। भारतीय लोकदल के मोहन भैय्या व जनता दल से पुरुषोत्तम कौशिक कांग्रेस विरोधी लहर में जीते। भाजपा ने पहली बार 1996 में बीएसपी के अधिकारी डॉ. मनराखन लाल साहू को कांग्रेस के चंदूलाल के खिलाफ उतार कर जातीय समीकरण का कार्ड खेला।

  2. तब इस सीट पर कुर्मी जाति का वर्चस्व था। भाजपा के मनराखन लाल चुनाव हार गए। उसी साल फिर हुए चुनाव में भाजपा का परचम पहली बार ताराचंद साहू ने 1996 में लहराया। तब से यह सीट भाजपा के कब्जे में रही, लेकिन कांग्रेस के ताम्रध्वज साहू ने इसे भाजपा से छीना। 1952 से 1999 के बीच दुर्ग निर्वाचन क्षेत्र मध्य प्रदेश का हिस्सा था। इसके बाद 2004 से 2014 में बतौर छत्तीसगढ़ का हिस्सा दुर्ग में तीन लोकसभा चुनाव हो चुके हैं।

  3. विधानसभा चुनावों में मिली जीत के बाद ताम्रध्वज साहू ने दिया इस्तीफा

    दुर्ग लोकसभा सीट से 2014 में कांग्रेस के ताम्रध्वज साहू ने जीत हासिल की थी। दिसंबर 2018 में ताम्रध्वज साहू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद ये सीट रिक्त हो गई है। उन्होंने पिछले साल दुर्ग ग्रामीण की विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा और जीते। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट पर 68 फीसदी मतदाताओं ने मतदान किया था। पिछले चुनाव में 12 लाख 58 हजार से ज्यादा मतदाताओं ने वोट डाले थे। विजेता उम्मीदवार ताम्रध्वज साहू को 5 लाख 70 हज़ार से ज्यादा वोट मिले थे। उन्होंने 16 हजार 848 वोटों से जीत दर्ज की थी।

  4. पूरी तरह बैकवर्ड सीट, फिर भी सामान्य 

    दुर्ग लोकसभा सीट का क्षेत्र पूरी तरह पिछड़ा बाहुल्य है। बावजूद इसके यह सीट सामान्य वर्ग के लिए है। लोकसभा क्षेत्र में 9 विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं। इसमें दुर्ग शहर, दुर्ग ग्रामीण, भिलाई नगर, वैशाली नगर, पाटन, अहिवारा, नवागढ़, बेमेतरा व साजा है। दो सीट नवागढ़ व अहिवारा आरक्षित श्रेणी में हैं। यहां के मतदाताओं का मिजाज ऐसा है कि पहले भांपना मुश्किल है, लेकिन जातिगत समीकरण ही नतीजे तय करते हैं। 

  5. वर्ष 2014 प्रत्याशी पार्टी कुल वोट मिले मत का प्रतिशत
      ताम्रध्वज साहू कांग्रेस 570687 45.35
      सरोज पांडे भाजपा 553839 44.01
    वर्ष 2009        
      सरोज पांडेय भाजपा 283170 31.27
      प्रदीप चौबे कांग्रेस 273216 30.17

     

    आजादी के बाद हुए लोकसभा चुनाव और प्रत्याशियों की स्थिति

                         

           

    वर्ष जीते हारे
    1952 डब्ल्यूएस किरोलिकर (कांग्रेस) गंगाप्रसाद (सीपीआई)
    1957 मोहनलाल बाकलीवाल (कांग्रेस)  रत्नाकर झा (प्रजा सोशलिस्ट पार्टी)
    1962 मोहनलाल बाकलीवाल (कांग्रेस) विश्वनाथ यादव तामस्कर (प्रजा सोशलिस्ट पार्टी)
    1967 वीवाई तामस्कर (कांग्रेस) मोहनलाल बाकलीवाल (निर्दलीय)
    1971 चंदूलाल चंद्राकर  (कांग्रेस) मोहनलाल बाकलीवाल (आईएनसी (संगठन))
    1977 मोहन भैय्या (भारतीय लोकदल) चंदूलाल चंद्राकर (कांग्रेस)
    1980 चंदूलाल चंद्राकर  (कांग्रेस) मोहन भैया  (जनता पार्टी)
    1984 चंदूलाल चंद्राकर  (कांग्रेस) धरमपाल सिंह गुप्ता (भाजपा)
    1989 पुरुषोत्तम कौशिक (जनतादल) चंदूलाल चंद्राकर  (कांग्रेस)
    1991 चंदूलाल चंद्राकर  (कांग्रेस) मानारखनलाल साहू (भाजपा)
    1996 ताराचंद साहू (भाजपा) प्यारेलाल बेलचंदन (कांग्रेस)
    1998 ताराचंद साहू (भाजपा) जगेश्वर साहू (कांग्रेस)
    1999 ताराचंद साहू (भाजपा) प्रदीप चौबे (कांग्रेस)
    2004 ताराचंद साहू (भाजपा) भूपेश बघेल (कांग्रेस)
    2009 सरोज पांडे (भाजपा) प्रदीप चौबे (कांग्रेस)
    2014 ताम्रध्वज साहू (कांग्रेस) सरोज पांडे (भाजपा)

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना