लोकसभा चुनाव / आपके एक वोट की वजह से सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक संभव हो पाई- मोदी

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 06:08 PM IST



loksabha chunav 2019, cg news PM Modi rally in Korba and Bhatapara today
X
loksabha chunav 2019, cg news PM Modi rally in Korba and Bhatapara today
  • comment

  • छत्तीसगढ़ के कोरबा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- माओवादियों, नक्सलियों को बढ़ावा देने वालों से सावधान रहें
  • मोदी ने ओडिशा में कहा- जिन्हें सिर्फ मलाई खाने की आदत रही, उन्हें आपकी चिंता क्यों होगी

भुवनेश्वर/रायपुर. भाजपा नेताओं पर लोकसभा चुनाव प्रचार में फायदा लेने के लिए भारतीय सेना और जवानों का नाम गलत तरीके से इस्तेमाल करने का आरोप लगता रहा। विपक्षी दलों ने कई बार इसकी शिकायत भी की। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के भाटापारा में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि यह लोगों के एक वोट की ताकत ही है, जो भारत ने पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया। प्रधानमंत्री ने कहा, ''आज पाकिस्तान में घुसकर भारत सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक करता है। किसी ने इसको किया। आज का भारत आतंकवादियों को घर में घुसकर मारता है। ये किसने किया। आज भारत अंतरिक्ष में भी सेटेलाइट दाग सकता है। 3 मिनट में गिरा सकता है। ये किसने किया? यह सब आप लोगों के एक वोट की ताकत के दम पर ही हो सका।''

 

प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को ओडिशा के संबलपुर, छत्तीसगढ़ के कोरबा और भाटापारा में चुनावी रैली को संबोधित किया। मोदी ने भाटापारा में कहा, ''2014 में जो वोट मोदी के खाते में आए, उसी का परिणाम है कि देश आज तेज गति से आगे बढ़ रहा है। अब आपका वोट देश और छत्तीसगढ़ को नई ऊंचाइयों पर ले जाएगा। आज जो भाजपा की लहर है, उससे कांग्रेस बौखला गई है। वो अपमानित कर रहे हैं, कैसी-कैसी बातें कर रहे हैं। ये लोग हर रोज हद पार कर रहे हैं। इनका कहना है कि जिसके भी नाम में मोदी लगा है वो सारे चोर हैं। ये कैसी राजनीति है, ये कैसा राजनीति का स्तर है। इन्होंने सारे समाज को चोर बोल दिया, सिर्फ ताली बजवाने के लिए। आपके इस चौकीदार को नीचा दिखाने के लिए ये ओछी मानसिकता है। आज नामदार ने मोदी को गाली दी। कल आदिवासियों को दे सकते हैं। परसों किसी ओर को। हमारे आदिवासी पहनावे का मजाक बनाते हैं। इनके वंशवाद को जो भी चुनौती देगा, उसको गालियां देते हैं। ये गालियां देते हैं, लेकिन खुद की स्थितियां देखते नहीं है।''

 

मोदी ने कहा, ''2019 के इस चुनाव में फिर से आशीर्वाद मांगने आया हूं। यह चुनाव सिर्फ दल, सासंद, सरकार चुनने के लिए सीमित नहीं है। ये नए भारत को बनाने वाला चुनाव है। बदलती दुनिया में भारत का स्थान, उसकी प्रतिष्ठा कैसी होगी। इसका फैसला आपको कमल के निशान का बटन दबाकर करना है। उन्होंने कहा, ''नामदार के परिवार में ज्यादातर लोग जमानत पर है। अब वो मुख्यमंत्री को भी पसंद करते हैं, वो भी जमानत पर आते हैं। नामदारों पर करोड़ों रुपए की टैक्स चोरी का केस चल रहा है। हेलिकॉप्टर का घोटाला तो अभी कुछ साल पुराना ही है। इसके राजदार को विदेश से पकड़कर लाया मोदी, जो जेल में बंद है। अब ये मामा नए नए राज उगल रहे हैं। एक ओर मामा की जुबान चल रही है, दूसरी ओर भांजे और मैडम जी की धुकधुकी चल रही है।''

 

कोरबा में मोदी ने नक्सली हमले में मारे गए मंडावी को श्रद्धांजलि दी

इससे पहले मोदी ने छत्तीसगढ़ के कोरबा पहुंचकर नक्सली हमले में मारे गए भाजपा विधायक भीमा मंडावी और शहीद हुए चार जवानों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ''दुर्भाग्यपूर्ण हैं कि हमला वहां पर हुआ, जहां नक्सलियों के प्रभाव को बहुत कम किया जा चुका था। सवाल यह है कि आखिर ऐसा क्यों हुआ? विधानसभा चुनाव के दौरान आया था, कांग्रेस के नेताओं की बातों को याद दिलाया था। नक्सलियों को क्रांतिकारी कहने का दौर चल पड़ा था। वो (कांग्रेस) नक्सलियों को क्रांतिकारी कहते हैं। छत्तीसगढ़ में कैसी राजनीति हो रही है। गांव-गांव विकास पहुंचे, हम इसमें लगे हैं। वहीं, दूसरी ओर हिंसा को बढ़ाने की साजिश चल रही है। माओवादियों, नक्सलियों को बढ़ावा देने वालों से सावधान रहने की जरूरत है।''

 

मोदी ने कहा, ''कांग्रेस का घोषणा पत्र नहीं, ढकोसला पत्र है। उसमें से इसकी बू आ रही है। कांग्रेस का कहना है कि दिल्ली में उनकी सरकार बनी तो राष्ट्रद्रोह का कानून खत्म कर देगी।  इसका मतलब जो अपनी राजनीति के लिए यहां के बच्चों, युवाओं को भड़काते हैं। उस पर राजनीति करते हैं। इसके चलते उन्हें खुली छूट मिल जाएगी। फिर वैसी कार्रवाई नहीं हो पाएगी जैसी होनी चाहिए। क्या राष्ट्रद्रोह का कानून हटना चाहिए? कांग्रेस का हाथ विकास नहीं विनाश के साथ है। छत्तीसगढ़ को लैंडमाइन चाहिए या फिर पानी की लाइन चाहिए।  सिर्फ नक्सलियों के साथ ही नहीं, देश के टुकड़े -टुकड़े करने वालों के साथ भी कांग्रेस का हाथ है।''

 

'एक परिवार की गुलामी और बात मानने की आदत पड़ गई'
प्रधानमंत्री ने कहा, ''जम्मू-कश्मीर में जवान शहादत दे रहे हैं, कांग्रेस का पंजा उन्हें भी कमजोर करना चाहता है। कांग्रेस कहती है कि जो उनको सुरक्षा कवच मिला है, उसे भी हटा लिया जाएगा। क्या ये सही है। हमारे देश की रक्षा करने वाले जवानों को जो अधिकार मिला है, कांग्रेस उसे छीनना चाहती है। कांग्रेस जमीन से इतना कट चुकी है कि वो देश के लोगों की भावनाएं, जरूरतें समझ नहीं पा रही है। एक परिवार की गुलामी, एक परिवार की बात मानने की आदत पड़ गई है।''

 

  • ''छत्तीसगढ़ में सबकुछ दिल्ली से तय हो रहा है। गरीबों को दी जाने वाली आयुष्मान योजना बंद कर दी गई। ऐसा पाप करने वालों को सजा दोगे या नहीं। प्रदेश को हिंसा में धकेलने की साजिश चल रही है। किसानों की सेवा के लिए योजना चलाई, लेकिन उसे भी कांग्रेस नहीं देना चाहती है। उसने अभी तक किसानों की सूची ही नहीं भेजी। यह लोगों के साथ किसानों के साथ विश्वासघात है। कांग्रेस को धोखा देने में पीएचडी कर ली है।  उसकी न तो नीयत साफ है न नीति। एक बार दिल्ली में सरकार बन गई तो ये माला माल हो जाएंगे। कोयला खदानों की बंदरबांट शुरू हो जाएगी। पीएम किसान योजना का ठीक से क्रियान्चयन नहीं किया।''
  • ''2022 तक सभी परिवार, जिनके पास अपना पक्का घर नहीं है। उन सभी परिवारों को पक्का घर मिले। ये मोदी है, जो वादा करता है, पूरा करता है। दिनरात मेहनत करता है, जी जान से जुड़ जाता है। सिर्फ मकान नहीं, बिजली, एलईडी बल्ब, शौचालय होगा। 23 मई को चुनाव का नतीजा आएगा, तब एक बार फिर मोदी सरकार आने वाली है।''
  • ''सारे मोदी चोर क्यों है। अब यहां के साहू समाज गुजरात में होता तो उन्हें भी मोदी कहा जाता। क्या वो चोर है? क्या ऐसी भाषा बोली जाती है। कांग्रेस कहती है सबको चौकीदार के नारे लगवाए। माई जन, भाई जन, महतारी जन, सब चौकीदार। भारत माता की जय। हम सब जन चौकीदार। का नारा लगवाया।''

 

मोदी ने ओडिशा में कहा- उनकी प्राथमिकता सिर्फ मलाई खाने की रही
इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने ओडिशा में संबलपुर की चुनावी सभा में कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा था- जिनकी प्राथमिकता सिर्फ मलाई खाने की रही हो, उनको आपकी चिंता कैसे होगी? चिटफंड और खनन माफिया को ही अगर सरकारें संरक्षण देती रहेंगी, तो सामान्य मानवी की चिंता कैसे संभव है। कोल ब्लॉक घोटाले में किस तरफ उंगलियां उठी हैं, ये भी ओडिशा के लोग भली-भांति जानते हैं।

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन