--Advertisement--

छत्तीसगढ़ / भाजपा और कांग्रेस की लूट का ज्वाइंट वेंचर बनकर रह गया है छत्तीसगढ़- मनीष सिसोदिया



पत्रकारों से रूबरू होते मनीष सिसोदिया। पत्रकारों से रूबरू होते मनीष सिसोदिया।
X
पत्रकारों से रूबरू होते मनीष सिसोदिया।पत्रकारों से रूबरू होते मनीष सिसोदिया।
  • दिल्ली के डिप्टी सीएम ने कहा कि सरकार चाहे किसी की हो लूट में हिस्सेदारी दोनों पार्टियों की

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 06:29 PM IST

रायपुर.  छत्तीसगढ़ राज्य अपनी स्थापना से लेकर अब तक के 18 सालों में भाजपा कांग्रेस की लूट का ज्वाइंट वेंचर बनकर रह गया है। सरकार चाहे जिसकी रहे लूट में हिस्सेदारी दोनों की बराबर की होती है। कांग्रेस राज में चिट फंड घोटाला प्रारम्भ हुआ और भाजपा राज में फला-फूला। 

 

रायपुर स्थित प्रदेश कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि घोटाले में भाजपा के मुख्यमंत्री, कैबिनेट मंत्री,

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष समेत कई नेता और आईएएस अधिकरी आरोपी बने हैं। हाईकोर्ट ने नोटिस जारी किया और  मामला आज भी लंबित है। जमीन घोटालो की सूची लंबी है। जलकी जमीन बृजमोहन अग्रवाल, भदौरा जमीन अमर अग्रवाल,  साडा भिलाई भूपेश बघेल, साडा दुर्ग मोतीलाल वोरा समेत कई नाम हैं। भाजपा कांग्रेस के नेताओं पर केस दर्ज तो हुआ, लेकिन इनके  खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। कमल विहार बनाने के नाम पर किसानों की जमीन पर जबरन कब्जा किया गया। बोरियाकला, डूंडा, के ग्रामीणों के घरों को तोड़कर उन्हें विस्थापित किया गया, लेकिन उचित पुनर्वास नहीं हुआ। जबकि अब कमल विहार के विकास के लिए फंड खत्म हो गया और आरडीए दिवालिया होने की कगार पर है। 

 

सरकार ने ही खोल ली शराब की दुकानें 

मनीष सिसोदिया ने कहा कि सरकार ने ही शराब दुकानें खोल ली हैं। सभी दुकानों में कुछ ही कंपनियों के शराब की बिक्री कर उन मालिकों को फायदा पहुचाने का काम किया गया है। भाजपा कांग्रेस की जुगल बंदी का ही बड़ा नमूना है राज्य का बहुचर्चित सीडी कांड। आम जनता की बुनियादी समस्याओं से ध्यान हटाने कांग्रेस-भाजपा ने सीडी-सीडी का खेल रचा है। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..