अंतागढ़ टेप कांड / मंतूराम के वकील ने छोड़ा साथ, मामले की अगली सुनवाई अब 16 सितंबर को



मंतूराम पवार मंतूराम पवार
X
मंतूराम पवारमंतूराम पवार

  • प्रकरण में आरोपी अमित जोगी के अस्वस्थ होने की वजह से आगे बढ़ी तारीख 
  • 2014 के अंतागढ़ उपचुनाव में प्रत्याशी खरीद फरोख्त से जुड़ा है प्रकरण 

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 07:05 PM IST

रायपुर. अंतागढ़ टेपकांड मामले में अब तक मंतूराम का पक्ष कोर्ट में रखने वाले वकील ने उनका साथ छोड़ दिया है। मंतूराम ने बताया कि अब तक इस मामले में डॉ रमन के दामाद पुनीत और मेरा केस एक ही वकील देख रहे थे। अब नए वकील मेरा पक्ष रखेंगे। गुरूवार को मामले की सुनवाई होनी थी। लेकिन अमित जोगी की तबीयत खराब होने की वजह से इसकी तारीख आगे बढ़ा दी गई। सुनवाई की तरीख 16 सितंबर तय की गई है। 

मेरी चल अचल संपत्तियों की हो जांच-मंतू 

  1. प्रकरण से जुड़े मंतूराम ने कहा है कि मेरी स्वयं और परिवालों के नाम चल-अचल संपत्तियों की जांच कराई जाए। इसके लिए मैं सरकार और न्यायालय से जल्द ही मांग करूंगा। इसके अलावा इस प्रकरण जुड़े अन्य लोगों व उनके परिजनों के संपत्तियों की जांच करवाई जानी चाहिए। वॉयस सैंपल को लेकर मंतूराम ने कहा कि अगली सुनवाई के वक्त वो वॉयस सैंपल देंगे। 

  2. साल 2014 में  कांकेर जिले के अंतागढ़ के तत्कालीन विधायक विक्रम उसेंडी ने सांसद बनने के बाद इस्तीफा दे दिया। उपचुनावों में कांग्रेस के प्रत्याशी मंतू राम पवार थे। पर मंतूराम ने अपना नामांकन वापस ले लिया था। बाद में एक कथित फोन कॉल का ऑडियो वायरल हुआ। इसमें डॉ रमन सिंह के दामाद पुनीत, अजीत जोगी, अमित जोगी की आवाज होने के आरोप लगे। इसी सप्ताह इस मामले में मंतूराम ने कोर्ट में बयान दिया कि इस मामले में इन राजनीतिक हस्तियों के बीच करोड़ो की डीलिंग हुई थी। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना